MP School: मध्य प्रदेश में 1 से 10वीं तक के स्कूल खोलने पर गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान

आज मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने स्कूल खोलने पर बड़ा बयान दिया है।

नरोत्तम मिश्रा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश (MP) में अभी कोरोना संक्रमण (corona pandemic) की रफ्तार में कमी देखी जा रही है लेकिन कोरोना संक्रमण की रफ़्तार जब तक थम नहीं जाती, तब तक MP School खोलने (School Reopne) पर विचार नहीं किया जा सकता। दरअसल स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार (Inder Singh parmar) ने स्पष्ट संकेत दे दिया। वही आज मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने स्कूल खोलने पर बड़ा बयान दिया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि फिलहाल 31 जनवरी तक स्कूल बंद है लेकिन इस पर आगे निर्णय लिया जाएगा।

गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में स्कूल खोलने को लेकर विचार मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की समीक्षा बैठक में होगा। सीएम शिवराज समीक्षा कर स्कूल खोलने पर निर्णय लेंगे। 31 जनवरी 2022 को सीएम शिवराज कोरोना की समीक्षा बैठक करेंगे। इस दौरान स्कूल बंद रहने या खोले जाने को लेकर बड़ा निर्णय लिया जाएगा।

बता दें कि इससे पहले 26 जनवरी को स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने कहा था कि कोरोना के केस बढ़ रहे हैं। अगर स्थिति यही रही तो 31 जनवरी के बाद भी स्कूल खोलना फिलहाल संभव नहीं होगा। वही मंत्री परमार ने कहा कि संक्रमण का प्रभाव अगर कम होता है तो स्कूल खोले जा सकते हैं। समय पर इसके लिए समीक्षा की जाएगी। जिसमें तय होगा कि स्कूल खोले जाएंगे अथवा नहीं।

Read More : MP Corona : कम हुई कोरोना की रफ्तार, 24 घंटे में 9532 नए पॉजिटिव, एक्टिव केस 71000 के पार

ऐसे साथ ही उन्होंने कहा था कि आज की परिस्थिति में ऑनलाइन पढ़ाई संभव नहीं है। सरकारी स्कूल में तो ऐसा बिल्कुल नहीं हो सकता, यह काम चलाऊ व्यवस्था है लेकिन एक दूसरे के संपर्क में रहें। जिससे की पढ़ाई की निरंतरता बनी रहे लेकिन जल्द स्कूल खोलने पर विचार किया जा सकता है।

बता दें कि मध्य प्रदेश में कोरोना की तीसरी लहर और बढ़ते मामले को देखते हुए 15 जनवरी से स्कूल बंद रखने के निर्देश दिए थे। इस मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा आदेश जारी किए गए थे। जिसमें 31 जनवरी तक ऑफलाइन कक्षा को बंद कर दिया गया था। वही ऑनलाइन कक्षाएं आयोजित करने के निर्देश दिए गए थे।