Education Loan: केंद्र सरकार की खास स्कीम, हायर स्टडीज के लिए मिलेगा 15 लाख का लोन, ऐसे उठायें लाभ, जानें पात्रता

स्कीम का लाभ उठाकर छात्र विदेश जाकर भी पढ़ाई कर सकते हैं। योजना से पंजीकृत बैंक 15 लाख रुपए तक का लोन देते हैं।

Education loan

PM Vidya Laxmi Education Loan Scheme: बोर्ड की परीक्षाएं समाप्त हो चुकी हैं। रिजल्ट भी घोषित हो चुके हैं। इन दिनों देशभर के विभिन्न कॉलेजों और विश्वविद्यालय में एडमिशन चल रहा है। कई छात्र आर्थिक तंगी के कारण मनचाही उच्च शिक्षा का प्राप्त नहीं कर पाते। इन्हीं समस्याओं के समाधान के लिए केंद्र और राज्य सरकार एजुकेशन लोन योजनाएं चला रही हैं। इनमें से एक “पीएम विद्या लक्ष्मी एजुकेशन लोन योजना” है। इस स्कीम के तहत आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को उच्च शिक्षा के लिए 15 लाख रुपए तक का लोन मिल सकता है। योजना का लाभ उठाकर छात्र विदेश जाकर पढ़ाई करने का सपना भी पूरा कर सकते।

कितनी होती है लोन की राशि?

स्कीम के तहत बैंक भारत में पढ़ाई करने वाले छात्रों को 7.5 लाख रुपए तक का एजुकेशन लोन प्रदान करते हैं। वहीं विदेश में जाकर पढ़ने की इच्छा रखने वाले छात्रों को 15 लाख रुपए का लोन मिलता है। हालांकि इसके लिए कुछ मानदंडों का पूरा करना जरूरी होता है।

पात्रता और मानदंड

स्कीम का लाभ उठाने के लिए छात्रों का भारतीय नागरिक होना अनिवार्य है। 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षा में न्यूनतम 50% अंक प्राप्त करना भी जरूरी है। छात्रों को एजुकेशन लोन प्राप्त करने के लिए किसी मान्यता प्राप्त कॉलेज विश्वविद्यालय या संस्थान में उच्च शिक्षा के लिए दाखिला लेना भी जरूरी है। लोन चुकाने की क्षमता भी दिखानी पड़ती है। बैंक बैंक समीक्षा करने के बाद ही छात्र को लोन प्रदान करते हैं। सभी मानदंडों को पूरा करने के बाद ही लोन की राशि वितरित की जाती है।

योजना से रजिस्टर्ड हैं 18 बैंक

इस योजना से 18 बैंक पंजीकृत हैं। विद्या लक्ष्मी एजुकेशन लोन योजना पोर्टल पर 127 लोन योजनाएं उपलब्ध हैं।  प्रधानमंत्री विद्यालक्ष्मी एजुकेशन लोन योजना से जुड़े बैंकों के लिस्ट में केनरा बैंक, बैंक ऑफ़ बड़ौदा, आरबीएल बैंक, फेडरल बैंक, इंडियन बैंक, एचडीएफसी बैंक, आईडीबीआई बैंक, यूको बैंक, स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्र बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, यूनियन बैंक, एक्सिस बैंक, पंजाब एंड सिंध बैंक, बैंक ऑफ़ इंडिया, सिंडिकेट बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, इलाहाबाद बैंक, सेंट्रल बैंक और बैंक ऑफ़ इंडिया जैसे बड़े बैंक भी शामिल हैं।

ऐसे उठायें लाभ

योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदक को आवेदन पत्र, पहचान पत्र, परिवार की वित्तीय स्थिति को सत्यपूत करने के लिए आय प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ, जाति प्रमाण पत्र और शैक्षणिक प्रमाण पत्र की जरूरत पड़ती है। छात्र ऑफिशियल वेबसाइट https://www.vidyalakshmi.co.in/Students/ पर जाकर योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News