School News: शिक्षा विभाग का बड़ा फैसला, राज्य में फिर बदला स्कूलों का समय, नया टाइम-टेबल जारी, जानें अब कब लगेगी क्लास 

10 जून से बिहार के विद्यालयों का समय बदलने जा रहा है। शिक्षा विभाग ने स्कूलों के लिए नई समय-सरणी जारी की है।

school timing

School News: बिहार में एक बार फिर स्कूलों के समय-सारणी में बदलाव हुआ है। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव एस सिद्धार्थ ने आदेश भी जारी कर दिया है। राज्य के सभी विद्यालयों में क्लास सुबह 6:30 बजे से सुबह 11:30 बजे तक चलेगी। गर्मी की छुट्टी से पहले कक्षाओं का आयोजन भी सुबह 6:30 बजे से 11:30 बजे हो रहा है। वहीं मिड डे मिल का वितरण 11:30 बजे करने का आदेश दिया गया है। लेकिन नए टाइम टेबल के अनुसार शासकीय स्कूलों में सुबह 11:30 बजे से लेकर दोपहर 12:10 बजे तक मिड डे मिल दिया जाएगा।

शिक्षकों के लिए निर्देश जारी

नई समय सारणी 10 जून 2024 से 30 जून 2024 तक लागू रहेगी। शिक्षा विभाग ने प्रधानाध्यपक और शिक्षकों को विद्यालय शुरू होने लके 10 मिनट पहले उपस्थित होने का निर्देश भी दिया है।

कब लगेगी क्लास?

10 जून से विद्यालय सुबह 6:30 बजे से शुरू होंगे। सुबह 6:30 बजे से लेकर 6:45 बजे तक प्रार्थना का समय होगा। पहली घंटी सुबह 6:45 बजे से लेकर 7:20 बजे तक चलेगी। दूसरी घंटी सुबह 7:20 बजे से लेकर 7:55 बजे तक चलेगी। तीसरी घंटी का समय सुबह 7:55 बजे से लेकर 8:30 बजे तक है। चौथी घंटी सुबह 8:30 बजे से लेकर 9:05 बजे तक, पाँचवी घंटी सुबह 9:05 बजे से लेकर 9:40 बजे तक, छठी घंटी सुबह 9:40 बजे लेकर 10:15 बजे तक और 7वीं घंटी सुबह 10:15 बजे से लेकर 11:30 बजे तक चलेगी।

विशेष कक्षाओं का होगा आयोजन 

स्कूलों में सुबह 10:50 बजे और 12:10 बजे के बीच विशेष कक्षाओं का आयोजन किया जाएगा। सुबह 10:50 बजे से 11:30 बजे तक वर्ग 3 से 8 तक के छात्रों के लिए मिशन दक्ष के तहत कक्षा संचालित की जाएगी। कक्षा 9वीं से 12वीं के छात्रों के लिए नियमित कक्षा का संचालन होगा। जो विद्यार्थी मिशन दक्ष से आच्छादित नहीं हैं, उनके लिए खेलकूद, पेंटिंग और सनी क्रिएटिव गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। वहीं सुबह 11:30 बजे से लेकर दोपहर 12:10 बजे तक कक्षा 1 से 8 के छात्रों को मिड डे दिया जाएगा। कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए विशेष कक्षाओं का संचालन होगा।

 

school news


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"

Other Latest News