UGC की बड़ी तैयारी, डुएल डिग्री-पराक्रम दिवस पर उच्च शिक्षा संस्थानों को निर्देश, छात्रों को मिलेगा लाभ, 5000 रुपए मिलेगी इनामी राशि

यूजीसी के द्वारा छात्रों के लिए बड़ी तैयारी की गई है। छात्रों के लिए प्रतियोगिता का आयोजन किया जाना है। वहीं उन्हें 5000 रूपए नकद पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ ही डुएल डिग्री के संबंध में विश्वविद्यालयों को निर्देश दिए गए हैं।

UGC Guideline on Parakram Diwas : विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा क्षेत्र के लिए बड़ी तैयारी की गई है। दरअसल उच्च शिक्षा संस्थानों को पत्र लिखकर उनके द्वारा उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करने का अनुरोध किया गया है। इसके साथ ही उन्हें नवीन दिशा निर्देश भी दिए गए हैं।

उपलब्ध संसाधनों का बेहतर उपयोग करने का अनुरोध

यूजीसी ने उच्च शिक्षण संस्थानों से अनुरोध किया है कि वे अन्य उच्च शिक्षण संस्थानों के साथ मामूली शुल्क लेकर अपनी अवसंरचना को साझा करे।  इससे ना सिर्फ आवश्यक संसाधन अन्य लोगों तक पहुंचेंगे बल्कि लोग इसे समझने में भी सक्षम होंगे। साथ ही राजस्व मेजबान संस्थानों को उनके संसाधन के रखरखाव में भी मदद मिलेगी। यूजीसी ने उच्च शिक्षण संस्थानों से अनुरोध किया है कि पुस्तकालय, प्रयोगशाला सहित उपकरण आदि का लाभ मेजबान संस्थान अन्य संस्थानों को भी पहुंचाए। इसके अलावा कई दिशा-निर्देश भी जारी किए गए हैं। जिससे कार्यान्वयन उचित तरीके से करने के अनुरोध किए गए हैं।

वही यूजीसी ने कहा है कि उच्च शिक्षा संस्थानों को अन्य संस्थानों के साथ संसाधन को साझा करने की प्रक्रिया और तरीके को साझा करना चाहिए। मेजबान और अतिथि संस्थान के बीच संसाधनों तक पहुंच कर मामले की डिग्री संसाधन अधिक की प्रक्रिया शुरू करने के संबंध में भी दिशा-निर्देश दिए गए थे। वहीं संसाधन की ग्लेयरिंग और वर्गीकरण के लिए दिशानिर्देश संसाधन के उपयोग पर नियम और शर्त सहित मॉडल के लिए दिशानिर्देश लागत विश्लेषण आदि पर भी विचार किया जाना चाहिए।

डुएल डिग्री के लिए वैधानिक निकाय की स्थापना के निर्देश 

इसके साथ ही विश्वविद्यालय को डुएल डिग्री हासिल करने की प्रक्रिया को आसान बनाने के लिए वैधानिक निकाय की स्थापना के भी निर्देश दिए गए हैं। छात्र एक साथ दो शैक्षणिक कार्यक्रम कर सकेंगे। इसके लिए आदेश पिछले साल अप्रैल में लागू किया गया था। हालांकि छात्रों को इसे लागू करने में दिक्कत का सामना करना पड़ा था। एक बार फिर से छात्रों के लिए आदेश जारी किया गया।

पराक्रम दिवस के बारे में छात्रों को करें जागरूक

वही यूजीसी ने उच्च शिक्षा संस्थानों को निर्देश देते हुए कहा है कि पराक्रम दिवस के बारे में छात्रों को जागरूक करें और इसके तहत आयोजित प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए उन्हें प्रोत्साहित किया जाए। 23 जनवरी को नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर आकर दिवस के रूप में मनाई जाती है।

सर्वश्रेष्ठ 25 प्रविष्टियों को ₹5000 का नकद पुरस्कार

स्कूल औरविश्वविद्यालय के छात्र के लिए विशेष प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है और विजेताओं को गणतंत्र दिवस 2023 परेड में भाग लेने के लिए भी आमंत्रित किया जाएगा। रक्षा मंत्रालय प्लेटफार्म पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर गतिविधियों की मेजबानी की जा रही है। 20 जनवरी तक कविता लेखन प्रतियोगिता, पोस्टर प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता में छात्र भाग ले सकेंगे। वहीं सर्वश्रेष्ठ 25 प्रविष्टियों को ₹5000 का नकद पुरस्कार भी दिया जाएगा। विजेताओं को गणतंत्र दिवस परेड देखने का अवसर मिलेगा और विजेताओं को यात्रा और आवास भत्ता भी प्रदान किया जाएगा।