CG Weather: मानसून फिर मेहरबान, इन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

वही प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात और भारी बारिश के भी आसार है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: उत्तर छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है।

UP weather

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। सितंबर में एक बार फिर छत्तीसगढ़ पर मानसून मेहरबान हो गया है। मानसून द्रोणिका के चलते प्रदेश का मौसम फिर बदल गया है, इसके चलते आज भी प्रदेश में झमाझम बारिश के आसार है। वही शिवनाथ नदी का जलस्तर चौथी बार बढ़ गया है। छग मौसम विभाग (CG Weather Department) ने आज मंगलवार को 13 सितंबर को अनेक स्थानों पर गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। एक-दो स्थानों पर वज्रपात और भारी वर्षा होने की संभावना है। इसमें से अधिकतर भारी बरसात दक्षिण छत्तीसगढ़ यानी बस्तर संभाग के जिलों में ही संभावित है।

यह भी पढ़े..कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, जल्द मिलेगा अवकाश, प्रमोशन,PF और न्यूनतम वेतन का लाभ, CM ने दी सहमति

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Forecast) के अनुसार, वर्तमान में एक चिन्हित निम्न दाब का क्षेत्र दक्षिण-पूर्व मध्य प्रदेश और उससे लगे उत्तर विदर्भ के ऊपर स्थित है, इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। मानसून द्रोणिका माध्य समुद्र तल पर जैसलमेर, उदयपुर, भोपाल, निम्न दाब के केंद्र, भाटापारा, झाड़सुगुड़ा, बालासोर, और उसके बाद पूर्व-दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक स्थित है।इसके प्रभाव से आज प्रदेश में गरज चमक के साथ हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है।वही उत्तर छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की संभावना है।

यह भी पढ़े..MP Weather: मानसून फिर एक्टिव, 24 जिलों में भारी बारिश-बिजली गिरने की चेतावनी, मौसम विभाग ने जारी किया ऑरेंज-येलो अलर्ट

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Alert) के अनुसार, मानसून द्रोणिका के प्रभाव के चलते आज 13 सितंबर को अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। वही प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात और भारी बारिश के भी आसार है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यत: उत्तर छत्तीसगढ़ रहने की संभावना है। शिवनाथ नदी एक बार फिर उफान पर आ गई है, वही जलभराव के बाद प्रशासन ने मोंगरा, घुमरिया व सूखानाल बैराज से 22135 क्यूसेक पानी छोड़ दिया है। सितंबर अंत तक अच्छी बारिश के आसार है, इसके बाद अक्टूबर के पहले सप्ताह से मानसून की विदाई शुरू हो जाएगी।

पिछले 24 घंटे का बारिश का रिकार्ड

मोहला 13 सेमी, दुर्गकोंदल 12 सेमी, पखांजूर-बीजापुर 11 सेमी, मानपूर 10 सेमी, भानुप्रतापपुर-कटेकल्याण 9 सेमी,डौंडी-भैरमगढ़ 8 सेमी, कोरबा-करतला 7 सेमी वर्षा हुई। इसके साथ ही प्रदेश के अधिकांश क्षेत्रों में हल्की से मध्यम वर्षा हुई।

जिलेवार बारिश का रिकॉर्ड

  • राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 1085.4 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है।
  • राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 11 सितम्बर तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 2173.5 मिमी और सरगुजा में जिले में सबसे कम 493.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।
  • राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सूरजपुर में 805.7 मिमी, बलरामपुर में 782.6 मिमी, जशपुर में 802.0 मिमी, कोरिया में 728.5 मिमी, रायपुर में 796.1 मिमी, बलौदाबाजार में 1017.2 मिमी, गरियाबंद में 1120.8 मिमी, महासमुंद में 1046.0 मिमी।
  • धमतरी में 1175.1 मिमी, बिलासपुर में 1224.0 मिमी, मुंगेली में 1132.0 मिमी, रायगढ़ में 986.0 मिमी, जांजगीर-चांपा में 1172.8 मिमी, कोरबा में 957.4 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 915.5 मिमी, दुर्ग में 901.2 मिमी।
  • कबीरधाम में 970.6 मिमी, राजनांदगांव में 1039.5 मिमी, बालोद में 1158.6 मिमी, बेमेतरा में 634.5 मिमी, बस्तर में 1615.5 मिमी, कोण्डागांव में 1152.9 मिमी, कांकेर में 1375.5 मिमी, नारायणपुर में 1231.7 मिमी, दंतेवाड़ा में 1639.0 मिमी और सुकमा में 1342.1 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।