CG Weather: द्रोणिका का प्रभाव, 5 संभागों में गरज चमक के साथ भारी बारिश का अलर्ट, जानें जिलों की स्थिति

बुधवार को दुर्ग व रायपुर संभाग में भारी से अति भारी वर्षा हो सकती है। साथ ही बिलासपुर व बस्तर संभाग में भी भारी वर्षा की संभावना है।

cg weather update

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। छत्तीसगढ में लगातार हो रही बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। नदी नाले उफान पर आ गए है, सड़कें जलमग्न हो गई है और कई हाइवे भी बंद हो गए है,कई मार्गों का संपर्क टूट गया है। छत्तीसगढ़ मौसम विभाग (CG Weather Department) ने आज 13 जुलाई बुधवार को बिलासपुर-बस्तर समेत दो दर्जन जिलों में भारी से अति भारी बारिश के लिए अलर्ट जारी किया गया है। वही कई क्षेत्रों में आकाशीय बिजली चमकने के साथ तेज गर्जना व वज्रपात की संभावना है।

यह भी पढ़े.. पेंशनरों के लिए राहत भरी खबर, प्रस्ताव तैयार, जल्द खाते में आएगी पेंशन, लाखों को मिलेगा लाभ

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Forecast) के अनुसार, दक्षिण तटीय उड़ीसा और उसके आसपास स्थित निम्न दाब का क्षेत्र प्रबल होकर चिन्हित निम्न दाब के रूप में परिवर्तित हो गया है इसके साथ ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा 7.6 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है।मानसून द्रोणिका जैसलमेर, कोटा, रायसेन, मंडला, रायपुर, झारसुगड़ा, निम्न दाब के केंद्र से होते हुए दक्षिण पूर्व की ओर पूर्व- मध्य बंगाल की खाड़ी तक 1.5 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। पूर्व-पश्चिम विंड डियर जोन 20 डिग्री उत्तर में स्थित है। इसके प्रभाव से 15 जुलाई तक प्रदेश में गरज चमक के साथ भारी बारिश और बिजली गिरने की भी संभावना है।

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Alert) के अनुसार, सावन के महीने में पूरे प्रदेश में अच्छी बारिश होने की संभावना है। प्रदेस में आज बुधवार 13 जुलाई को अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ बौछार की संभावना है। वही प्रदेश में एक-दो स्थानों में गरज चमक के साथ भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है। प्रदेश में दुर्ग और रायपुर तथा इससे लगे बिलासपुर संभाग और बस्तर संभाग के जिले में भारी से अति भारी वर्षा होने की संभावना है।

यह भी पढ़े.. MPPSC: उम्मीदवारों के लिए नई अपडेट, इन पदों पर निकली है भर्ती, 10 अगस्त लास्ट डेट, जाने आयु-पात्रता

सीजी मौसम विभाग (CG Weather Update) के अनुसार,  प्रदेश में मानसून द्रोणिका के प्रभाव और दक्षिण ओडिशा तट पर बने निम्न दाब का क्षेत्र के कारण बुधवार को दुर्ग व रायपुर संभाग में भारी से अति भारी वर्षा हो सकती है। साथ ही बिलासपुर व बस्तर संभाग में भी भारी वर्षा की संभावना है।बीजापुर में 20 सेमी, पखांजुर में 11 सेमी, अंतागढ़-उसूर-दुर्गकोंदल में नौ सेमी, कांकेर-मानपुर-दरभा-जगदलपुर में छह सेमी, केशकाल-भानुप्रतापुर-भैरमगड़ में सात सेमी वर्षा हुई।

अब तक राज्य में 308.6 मिमी वर्षा

बता दे कि राज्य शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा बनाए गए राज्य स्तरीय नियंत्रण कक्ष द्वारा संकलित जानकारी के मुताबिक एक जून 2022 से अब तक राज्य में 308.6 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 12 जुलाई तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार बीजापुर जिले में सर्वाधिक 714.4 मिमी और बलरामपुर जिले में सबसे कम 120.0 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।

12 जुलाई तक बारिश का जिलेवार रिकॉर्ड

राज्य स्तरीय बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 140.9 मिमी, सूरजपुर में 189.3 मिमी, जशपुर में 138.2 मिमी, कोरिया में 210.5 मिमी, रायपुर में 193.3 मिमी, बलौदाबाजार में 292.2 मिमी, गरियाबंद में 331.9 मिमी, महासमुंद में 289.7 मिमी, धमतरी में 316.9 मिमी, बिलासपुर में 332.0 मिमी, मुंगेली में 374.3 मिमी, रायगढ़ में 262.2 मिमी, जांजगीर-चांपा में 395.6 मिमी, कोरबा में 237.4 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 378.9 मिमी, दुर्ग में 284.9 मिमी, कबीरधाम में 273.0 मिमी, राजनांदगांव में 330.8 मिमी, बालोद में 376.9 मिमी, बेमेतरा में 230.2 मिमी, बस्तर में 429.5 मिमी, कोण्डागांव में 373.2 मिमी, कांकेर में 418.7 मिमी, नारायणपुर में 348.6 मिमी, दंतेवाड़ा में 335.2 मिमी और सुकमा में 323.3 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।