राज्य सरकार की बड़ी सौगात, 1 अप्रैल से मिलेगा इस भत्ते का लाभ, ये होंगे पात्र-नियम, हर महीने खाते में आएंगे 2500, जानें डिटेल्स

state government

CG Youth Unemployment allowance : छत्तीसगढ़ के युवाओं के लिए खुशखबरी है। घोषणानुसार छ्त्तीसगढ़ सरकार 1 अप्रैल से बेरोजगारी भत्ता देने जा रही है। छत्तीसगढ़ शासन द्वारा 1 अप्रैल 2023 से लागू की जा रही बेरोजगारी भत्ता योजना के लिए तैयारी पूर्ण कर ली गई है, इस योजना अंतर्गत शिक्षित बेरोजगारों को 2500 रू. प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ते के रूप में दिया जाएगा।  इस योजना का लाभ उन्हीं बेरोजगार युवाओं को मिलेगा जिनके परिवार की आय ढाई लाख रुपए सालाना से कम हेागी।युवाओं से https://berojgaribhatta.cg.nic.in/ पोर्टल पर 1 अप्रैल से ऑनलाइन से आवेदन किए जायेगें।

सीएम ने ट्वीट कर दी जानकारी

सीएम भूपेश बघेल ने ट्वीट कर लिखा है कि हमारा हाथ, युवाओं के साथ। छत्तीसगढ़ के शिक्षित युवाओं को 1 अप्रैल से 2500 रुपए प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देने का आदेश जारी किया गया है।पंजीयन में सुगमता के लिए यह निर्णय लिया गया है कि अप्रैल माह में किसी भी दिन किए गये आवेदनों पर, घोषणा अनुसार, भत्ता 1 अप्रैल से ही देय होगा। आशा है यह भत्ता हमारे युवाओं के स्वावलंबन की दिशा में एक मील का पत्थर साबित होगा। हर माह 2500 रूपए का भुगतान सीधे उनके बैंक खाते में जाएगा। बेरोजगारों को साथ ही कौशल विकास का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा और उन्हें रोजगार प्राप्त करने में सहायता दी जाएगी।

ये होंगे पात्र

छत्तीसगढ़ बेरोजगारी भत्ता योजना आवेदन के लिए रोजगार एवं स्वरोजगार मार्गदर्शन केंद्र में 2 वर्ष पुराना पंजीयन वाले आवेदक ही पात्र होंगे। इसके लिए नया पंजीयन कराने व नवीनीकरण कराने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है। नए पंजीयन वाले बेरोजगारी भत्ते के लिए अपात्र होंगे। बेरोजगारी भत्ता आवेदन के लिए नए पंजीयन कराने तथा नवीनीकरण कराने के लिए रोजगार कार्यालय जाना समय व धन दोनों गंवाना है।

घर बैठे कर सकते हैं पंजीयन

पंजीयन के लिए रोजगार कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं हैं। पंजीयन पोर्टल पर घर बैठे किया जा सकता है जिससे रोजगार कार्यालय जाकर लाइन लगने से बचा जा सकता है। 3 वर्ष पुराने पंजीयन का नवीनीकरण अंतिम तारीख बीत जाने के बाद भी 2 माह के भीतर कभी भी कराया जा सकता है। इसलिये नवीनीकरण के लिये भी किसी प्रकार की जल्दीबाजी करने की आवश्यकता नहीं है।

1 अप्रैल से आवेदन, जरूरी दस्तावेज

  1. बेरोजगारी भत्ते के लिये आवेदन का ऑनलाइन पोर्टल 1 अप्रैल से खुलेगा।
  2. आवेदन करने के लिये रोजगार कार्यालय आने की आवश्यकता नहीं है।
  3. आवेदन किसी भी स्थान से ऑनलाइन पोर्टल पर किया जा सकता है।
  4. चॉइस सेंटरों पर भी आवेदन किया जा सकता है जिसका पोर्टल का यूआरएल http://berojgaribhatta.cg.nic.in/PrintEmplCard.aspx है।
  5. आवेदक फार्म भरने के पूर्व वे एक वर्ष के भीतर का आय प्रमाण पत्र, मूल निवासी प्रमाण पत्र, कक्षा दसवीं की मार्कशीट या प्रमाण पत्र जिसमें जन्मतिथि लिखी हो, कक्षा 12 वीं की मार्कशीट या प्रमाण पत्र, आधार कार्ड, पासपोर्ट साइज़ फोटो एवं रोजगार पंजीयन कार्ड तैयार रखें क्योंकि यह दस्तावेज आवेदन फार्म में अपलोड करने होंगे।
  6. बेरोजगारी भत्ता आवेदन के लिए कोई अंतिम तिथि निर्धारित नहीं है, इसलिये आवेदकों को जल्दबाजी करने की आवश्यकता नहीं है।
  7. बेरोजगारी भत्ते के आवेदन का पोर्टल लगातार खुला रहेगा और आवेदक किसी भी दिन किसी भी समय ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।

दस्तावेजों का होगा सत्यापन, खाते में आएगी राशि

  1. आवेदन के बाद सभी आवेदकों को दस्तावेजों के भैतिक सत्यापन के लिये पहले से समय देकर बुलाया जायेगा। ग्रामीण क्षेत्रों में 3-5 पंचायतों, तथा नगरीय क्षेत्रों में 3-4 वार्डों के समूह के क्लस्टर बनाये जायेंगे।
  2. दस्तावेजों का सत्यापन इन क्लस्टरों में किया जायेगा, जिससे किसी भी आवेदक को दस्तावेज सत्यापन के लिये अपने घर से दूर न जाना पड़े।
  3. सत्यापन स्थल पर आवेदकों के बैठने आदि की अच्छी व्यवस्था होगी। सत्यापन के लिये पर्याप्त संख्या में अधिकारियों की टीमें भी उपलब्ध रहेगी।
  4. आवेदन पत्र में आवेदक के बैंक खाते की जानकारी ली जा रही है, जिसका सत्यापन बैंक मेनेजर से कराने के बाद बेरोजगारी भत्ते की राशि आवेदक के बैंक खाते में प्रतिमाह सीधे भेजी जायेगी।
  5. आवेदक ध्यान रखकर अपने बैंक खाते की सही जानकारी भरें, जिससे उन्हें बेरोजगारी भत्ता मिलने में कोई कठिनाई न हो।
  6. आवेदक को अपने ही बैंक खाते की जानकारी भरनी है, किसी अन्य व्यक्ति के बैंक खाते की नहीं, अन्यथा बैंक मैनेजर सत्यापन के समय बैंक खाते को गलत बताएगा, और बेरोजगारी भत्ते की राशि उस खाते में अंतरित नहीं होगी।

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News