शादी में दूल्हा-दुल्हन ने किया कुछ ऐसा, चारों तरफ हो रही जमकर तारीफ 

पिछले दिनों बिलासपुर में आयोजित हुई शादी (wedding) में कुछ ऐसा हुआ जिससे लोग हैरान हो गए। अक्सर देखा जाता है की शादियों के लोग नाचते-गाते हैं, लेकिन यह शादी कुछ अलग थी।

सरगुजा, डेस्क रिपोर्ट। पिछले दिनों बिलासपुर में आयोजित हुई शादी (wedding) में कुछ ऐसा हुआ जिससे लोग हैरान हो गए। अक्सर देखा जाता है की शादियों के लोग नाचते-गाते हैं, लेकिन यह शादी कुछ अलग थी। कुछ दिनों से हसदेव अरण्य काफी सुर्खियों में रहा, यह मुद्दा वनों की कटाई और पर्यावरण की सुरक्षा से जुड़ा है। दरअसल, कुछ दिनों पहले हसदेव वन क्षेत्रों के पेड़ों की कटाई शुरू हुई, जिसके बाद सोशल मीडिया पर कुछ ऐसी तस्वीरें वायरल हुई जिसने लोगों को झकझोर दिया, वनों की कटाई से गाँव के लोगों में भी आक्रोश भरा है।

यह भी पढ़े… धोनी बन सकते हैं CSK के CEO, मिल सकती है ये जिम्मेदारी, जाने अगले सीजन के लिए कप्तान का दावेदार कौन 

हसदेव अरण्य छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिलें में स्थित के बड़ा वन क्षेत्र है, जो ना सिर्फ जानवरों और पेड़-पौधों का घर है, बल्कि यह गाँव के लोगों की जरूरत को पूरा करता है। यहाँ बहने वाली नदियाँ गाँववालों की प्यास बुझाती है और खेतों को पानी देती है। इसी को बचाने के लिए बिलासपुर के टखटपुर में भीलौनी में रहने वाले उमेश कौशिक ने अपनी शादी में हसदेव अरण्य को बचाने का संदेश लोगों दिया। उन्होंने 11 मई 2022 को हरदी कला की भगवती कौशिक से शादी की थी। वरमाला की रस्म पूरी होते ही दूल्हा-दुल्हन दोनों ही अपने हाथों में एक-एक पोस्टर उठा कर हसदेव बचाने का संदेश देने लगे, जिसके बाद स्टेज पर कई अन्य लोगों ने भी अपने हाथों में “Save Hasdev” का पोस्टर लेकर उनका साथ दिया। कुछ समय तक किसी को यह समझ नहीं की वो क्या रहे हैं, लेकिन पोस्टर में संदेश को पढ़ कर लोगों ने तालियाँ बजानी शुरू कर दी और जमकर जोड़े की तारीफ भी की।