दमोह में एसिंप्टोमेटिक कोरोना पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन में रखे जाने की प्रक्रिया शुरू

दमोह, गणेश अग्रवाल। जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना मरीजों के कारण अब प्रशासन अन्य उपायों पर विचार कर रहा है। दमोह में इन उपायों पर विचार के साथ उनको प्रयोग में किया जाना भी शुरू हो गया है। ऐसे हालात में अब कम लक्षणों वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों को उनके घरों में ही इलाज दिए जाने की प्रक्रिया शुरू की गई है, इसको लेकर कलेक्टर ने कंट्रोल रूम का शुभारंभ किया।

 

दरअसल, दमोह जिला मुख्यालय पर कलेक्टर तरुण राठी के निर्देश पर एक कंट्रोल रूम की स्थापना आयुर्वेद अस्पताल में की गई है। यहां से कम लक्षणों वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों को गाइड किया जाएगा। डॉक्टरी भाषा में ऐसे मरीजों को एसिंप्टोमेटिक मरीज कहा जाता है, जिनको कम लक्षण कोरोना के आते हैं। ऐसे मरीजों के उनके घरों में ही बेहतर सुविधाओं के साथ आईसोलेट किया जाएगा। जहां कलेक्टर तरुण राठी ने कंट्रोल रूम का शुभारंभ किया, वहीं उन्होंने इस विषय को लेकर विस्तार से जानकारी भी दी। उन्होंने कहा कि पॉजिटिव मरीज जहां अपने घर से किसी भी तरह की जानकारी जारी किए गए नंबर पर ले सकता है. यह नंबर एसटीडी कोड के साथ 1075 रखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here