जबलपुर, संदीप कुमार। कोरोना वायरस के बढ़ते मरीजों को ईलाज के लिए भले ही मेडिकल कालेज में भर्ती किया जा रहा है पर इस समय मेडिकल कालेज के सामने ईलाज के साथ साथ एक और परेशानी सामने आ रही है और वो है अस्पताल में भर्ती मरीजों को संभालने की।

जबलपुर के नेता जी सुभाषचन्द्र बोस मेडिकल कालेज से कोरोना पीड़ितों के कूदने का सिलसिला एक सप्ताह से जारी है। मेडिकल प्रबंधन ने दो कोरोना पीड़ित मरीजों को तो जैसे तैसे बचा लिया पर आज एक बुजुर्ग को नहीं बचाया जा सका। मेडिकल कालेज की दूसरी मंजिल से आज 60 साल के बुजुर्ग ने छलांग लगा दी। बुजुर्ग के छत से कूदने के बाद मेडिकल कालेज में सनसनी फैल गई और आनन फानन में घायल बुजुर्ग को ईलाज के लिए ऑपरेशन थियेटर ले जाया गया जहां कुछ देर बाद उनकी मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि मृतक बुजुर्ग ओमती के रहने वाले थे और दो दिन पहले ही उनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटीव आई थी और उन्हें मेडिकल कालेज में भर्ती किया गया था। दोपहर को बुजुर्ग अचानक अपने बेड से उठकर खिड़की के पास पहुंचते हैं और वहां से छलांग लगा देते हैं। घटना के बाद गढ़ा थाना पुलिस भी मौके पर पहुंच गई । फिलहाल शव का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है, साथ ही मृतक के परिजनों को भी सूचना दे दी गई है।