Indore – क्या शहर में कोरोना के नए स्ट्रेन ने दी दस्तक, प्रशासन ने 100 सैंपल जांच के लिए दिल्ली भेजे

इंदौर, आकाश धोलपुरे। इंदौर में में पिछले चार दिन से कोविड-19 (covid-19) के मरीजो में तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है। इन चार दिनों में कोरोना (corona) के करीब 100 मरीज रोज सामने आ रहे हैं। ऐसे में अब इंदौर में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग (health department) अलर्ट हो चुका है और कोरोना के इलाज के लिए निजी अस्पतालों को भी तैयार रहने के लिए कहा गया है। वहीं शहर में कोरोना का नया स्ट्रेन (new corona strain) आया है या नहीं ये बात जानने के लिए संभागायुक्त और कलेक्टर के निर्देश पर 100 सैम्पल एमजीएम मेडिकल काॅलेज से जांच के लिए एनसीडीसी  दिल्ली (NCDC Delhi) भेजे हैं और वहां से प्राप्त रिपोर्ट के बाद ही नए स्ट्रेन को लेकर कुछ कहा जा सकता है।

रविवार रात को जारी किए गए मेडिकल बुलेटिन में एक दिन में कोरोना के 104 नए केस सामने आए हैं, जिसके बाद इंदौर में अब तक कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 58860 तक जा पहुंची है। वहीं अब तक कोरोना से कुल 931 लोग जान गंवा चुके हैं। इंदौर में कोविड के नोडल अधिकारी डॉ.अमित मालाकार ने बताया कि पिछले 4 दिनों से कोरोना के केसे में वृद्धि देखी जा रही है। जिसका प्रमुख कारण कोरोना को लेकर जनता में जागरुकता की कमी और लापरवाही माना जा रहा है। शहर के अधिकतर क्षेत्र में लोग मास्क नहीं पहन रहे हैं, सैनेटाइजर का उपयोग नही कर रहे हैं और सोशल डिस्टेसिंग का पालन भी नही कर रहे हैं। इस वजह से ये बड़ा कारण है कि शहर में कोविड केसे में बढ़ोतरी हो रही है। डॉ. अमित मालाकार का कहना है कि मौसम और मौसम में बदलाव के कारण भी वायरस के ग्रोथ करने की संभावना है। उनका कहना है कि मरीजो की संख्या में कमी हुई थी तब से लोग थोड़े बेफिक्र हो चले हैं। ऐसे में आम जनता से अपील है कि वो मास्क, सेनेटाइजर का उपयोग कर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करें। फिलहाल, इंदौर में एक बार फिर कोरोना का कहर बढ़ता नजर आ रहा है, ऐसे में लोगो को सावधानी बरतना जरूरी है नहीं तो भयावह परिणाम भी सामने आने की आशंका जताई जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here