Corona Update : वैक्सीनेशन को लेकर जानिये क्या कहते हैं विशेषज्ञ डॉक्टर

वैक्सीनेशन
vaccination

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। एक बार फिर कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। महाराष्ट्र समेत 5 राज्यों में स्थिति चिंताजनक है। महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लॉकडाउन का संकेत दे चुके हैं और मध्यप्रदेश में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने तीन जिलों में प्रत्येक रविवार को लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। ऐसे में अगर हम अब भी न संभले तो हालात बेकाबू होते देर नहीं लगेगी।

मध्यप्रदेश में रविवार को टोटल लॉकडाउन, 31 तक स्कूल-कॉलेज बंद                                                          शुक्रवार को मध्यप्रदेश में 1140 नए कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) केस सामने आए हैं, वहीं 7 मरीजों की मौत हो गई। इसमें इंदौर में 302 और भोपाल में 203 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। यह आंकड़ा साल 2021 का सबसे बड़ा आंकड़ा है और हमें सचेत करने के लिए काफी कि यही वक्त है संभलने का। इन आंकड़ों को देखने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने शुक्रवार को बुलाई आपात बैठक में फैसला किया है किभोपाल, इंदौर और जबलपुर में  रविवार 21 मार्च 2021 से लेकर प्रत्येक रविवार को टोटल लॉकडाउन (Lockdown) रहेगा। यह शनिवार रात 10 बजे से लेकर सोमवार सुबह 6 बजे तक जारी रहेगा। वहीं 31 मार्च 2021 तक तीनों शहरों में स्कूल कॉलेज पूरी तरह से बंद रहेंगे।

कोविड वैक्सीनेशन की स्थिति                                                                                                                                     सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अधिक संक्रमण वाले जिलों में वैक्सीनेशन कार्य को प्राथमिकता देते हुए इसकी गति बढ़ाए जाएगी। उन्होने हर जिले को ताकीद दी कि वैक्सीनेशन के साथ कोरोना गाइड लाइन का पालन करना सुनिश्चित करें। जहां तक वैक्सीनेशन की बात है, अब तक राजस्थान सबसे अधिक वैक्सीन लगाने के आंकड़े के साथ पहले नंबर पर है। प्रथम और द्वितीय चरण में यहां 25 लाख से अधिक डोज़ लगाए जा चुके हैं। वहीं महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर और पश्चिम बंगाल तीसरे नंबर पर है। मध्यप्रदेश इस लिस्ट में सातवें नंबर पर है और यहां दोनों फेज़ मिलाकर 12 लाख से अधिक लोगों को कोविड टीका लगाया जा चुका है।

वैक्सीन को लेकर भ्रांतियों से रहें दूर                                                                                                                                  इस बीच कोविड वैक्सीन (covid vaccine) को लेकर तरह तरह की बातें भी सुनाई दी। कोई इसके प्रभाव को लेकर संशय में है तो किसी को साइड इफैक्ट का डर सता रहा है। वहीं कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद भी कुछ मामलों में व्यक्ति के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद भी इसपर सवाल उठने लगे हैं। इसे लेकर विशेषज्ञों ने स्थिति साफ ही है। डॉक्टर्स का कहना है कि वैक्सीन हमारी आंतरिक संरचना को मजबूत बनाती है, वो शरीर के भीतर एंटी-बॉडी बना रही है। लेकिन इस बीच हम कोरोना वायरस के संपर्क में आते हैं तो वायरस तो असर करेगा ही। जबलपुर से डॉक्टर शैलेंद्र सिंह राजपूत ने इसे लेकर बहुत अहम जानकारी दी है। उन्होने बताया है कि ये वैक्सीन हमें उस वायरस के दुष्प्रभावों से बचाएगी तथा गंभीर स्थिति में पहुंचने से रोकेगी। लेकिन वैक्सीन लगने के बाद भी हमें कोरोना से बचाव के लिए मास्क, सैनेटाइजल, सोशल डिस्टेंसिंह का पालन करना आवश्यक है ताकि हम वायरस के संपर्क में आने से बच सकें।