Aishwarya Rai Bachchan: आज का दिन ऐश्वर्या राय बच्चन के लिए है बेहद खास, जानें क्यों

जज कैथरिन कैली लैंग के इस अजीब से सवाल का जवाब देते हुए ऐश्वर्या राय बच्चन साल 1994 में मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम किया। पढ़ें क्या है वो सवाल...

Aishwarya Rai Bachchan : फिल्म इंडस्ट्री की खुबसुरत अभिनेत्री ऐश्वर्या राय बच्चन के लिए आज का दिन बहुत ही खास है। इस दिन की वजह से आज उनके नाम को जाना जाता है। दरअसल, आज ही के दिन साल 1994 में मिस वर्ल्ड का खिताब अपने नाम किया था। जिस समय वो केवल 21 साल की थीं। इस दौरान उन्होंने कई सारे सवालों के जवाब देकर 86 देशों की प्रतिभागियों को पीछे छोड़ दिया, तो आज के आर्टिकल में हम आपको उस सवाल के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका जवाब सुनते ही उन्हें मिस वर्ल्ड के लिए चुन लिया गया था।

Aishwarya Rai Bachchan: आज का दिन ऐश्वर्या राय बच्चन के लिए है बेहद खास, जानें क्यों

जज ने पुछा ये सवाल

प्रतियोगिता के दौरान जज कैथरिन कैली लैंग ने ऐश्वर्या से एक सवाल पुछा था कि, आज यदि आप यह प्रतियोगिता जीत जाएं तो आप क्या करेंगी और 1994 की मिस वर्ल्ड में क्या खूबियां होनी चाहिए? जिसका जवाब अभिनेत्री ने बड़े ही सरल और आसान तरीके से देते हुए कहा कि, अभी हमने जितनी भी मिस वर्ल्ड देखी हैं, उन सबमें दया का भाव था, उन सभी में बड़े लोगों के लिए ही नहीं बल्कि उनके लिए भी दया थी, जिनके पास कुछ नहीं है।

 

सरल तरीके से दिया जवाब

साथ ही उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि, हमने ऐसे लोगों को भी देखा है, जो इंसान के बानए गए दायरे जैसे- राष्ट्रीयता और रंग से आगे भी देख सकता है। हमें उनसे भी बढ़कर देखने की जरूरत है तभी हम एक असली मिस वर्ल्ड और एक सच्चा इंसान बन सकते है। ऐश्वर्या के इस जवाब ने वहां मौजूद सभी लोगों को इस बात पर सोचने को मजबुर कर दिया और इस खिताब को उनके नाम कर दिया गया।

“इरुवर” से करियर की शुरूआत

वैसे तो ऐश्वर्या राय फिल्म इंडस्ट्री की सबसे खुबसुरत अदाकारों में शुमार हैं जो कि आज भी करोड़ों युवा दिलों की धड़कन हैं। जिन्हें देखने के लिए उनके फैंस बेसब्री से उनका इंतजार करते हैं। बता दे मिस वर्ल्ड का खिताब जीतने के बाद एक्ट्रेस ने फिल्मी दुनिया में कदम रखा, जहां से उन्होंने कभी पिछे मुड़कर नहीं देखा। ऐश्वर्या ने मणिरत्नम की फिल्म “इरुवर” से ग्लैमरस की दुनिया में कदम रखा था। यह एक तेलगू भाषी फिल्म थी, जिससे उन्हें उतनी ज्यादा पहचान नहीं मिली।