Bollywood News: नहीं रहे ‘सिलसिला’ ‘चांदनी’ जैसी फिल्मों के लेखक सागर सरहदी, शोक में डूबा बॉलीवुड

सागर सरहदी बॉलीवुड के नायाब कहानीकारों में से एक थे। उन्होंने बॉलीवुड को 'सिलसिला', 'दीवाना', 'नूरी', 'चांदनी', 'रंग', 'जिंदगी', 'कहो न प्यार है', 'चौसर' , 'कारोबार' जैसी अत्यंत लोकप्रयि फिल्में दी हैं।

मुम्बई, डेस्क रिपोर्ट। बॉलीवुड (bollywood) के लिए बीता साल काफी निराशाजनक (disappointing) रहा। पिछले वर्ष बॉलीवुड ने कई बड़ी हस्तियां खो दी। अब खबर है कि बॉलीवुड के दिग्गज निर्माता-निर्देशक (director- film maker), संवाद और पटकथा लेखक सागर सरहदी (sagar sarhadi) ने दुनिया को अलविदा कह दिया है। मुंबई (mumbai) में अपने आवास में 88 की उम्र में सरहदी ने अपना आखिरी दम लिया। सरहदी की मौत अकस्मात थी जिसके चलते पूरा बॉलीवुड बेहद हैरान- परेशान है। शोक (mourn) की लहर में डूबा हुआ है। कई बड़ी हस्तियों ने सागर सरहदी को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है।

बता दें कि सागर सरहदी को दिल की समस्या के चलते हाल ही में अस्पताल में भर्ती किया गया था। वे काफी दिन से आईसीयू में ही थे। बीमारी के चलते बीते कुछ दिनों से उन्होंने खाने-पानी को हाथ तक नहीं लगाया था। उनकी मौत के बाद पूरा बॉलीवुड उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए अपना शोक व्यक्त कर रहा है।

मशहूर लेखक और गीतकार जावेद अख्तर ने सरहदी के निधन पर अपने सोशल मीडिया से शोक व्यक्त किया है। अभिनेता जैकी श्रॉफ ने भी अपने सोशल मीडिया पर सागर को श्रद्धांजलि दी है। निर्माता – निर्देशक अनुभव सिन्हा, निर्देशक हंसल मेहता, फिल्मकार अशोक पंडित के साथ अन्य हस्तियों ने भी सागर के निधन पर शोक जताया है।

यह भी पढ़ें… नरोत्तम मिश्रा ने की लक्ष्मण सिंह की तारीफ, राहुल गांधी के लिए कही ये बात

सागर सरहदी की पहचान बॉलीवुड में तब बढ़ी जब उन्होंने फिल्म ‘कभी-कभी’ में मशहूर निर्माता-निर्देशक यश चोपड़ा के साथ काम किया। फ़िल्म कभी-कभी में मुख्य किरदारों में अमिताभ और रेखा जैसे कलाकारों ने अभिनय किया था। ये सागर द्वारा लिखी गयी फ़िल्म की कहानी ही थी जिसके चलते ये फ़िल्म दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय हुई थी। सागर सरहदी बॉलीवुड के नायाब कहानीकारों में से एक थे। उन्होंने बॉलीवुड को ‘सिलसिला’, ‘दीवाना’, ‘नूरी’, ‘चांदनी’, ‘रंग’, ‘जिंदगी’, ‘कहो न प्यार है’, ‘चौसर’ , ‘कारोबार’ जैसी अत्यंत लोकप्रयि फिल्में दी हैं।