सिखों पर कमेंट करना Bharti Singh को पड़ा भारी, FIR होगी दर्ज

भारती ने अपने एक कॉमेडी शो में टीवी एक्ट्रेस जैसमिन भसीन के साथ मज़ाक मस्ती करते हुए कहा कि, “दाढ़ी मूंछ क्यों नहीं होनी चाहिए।

Bharti singh

मनोरंजन, डेस्क रिपोर्ट। लगता है आजकल कॉमेडी और विवाद का चोली दामन का साथ हो गया है। पूर्व में भी जहां अलग-अलग कॉमेडियन के किसी मज़ाक ने विवाद का रुख कर लिया और एफ.आई.आर. भी दर्ज हुई, वहीँ अब विवाद की इस लिस्ट में भारती सिंह का भी नाम जुड़ गया है। भारती के अपने शो में दाढ़ी मूछों को लेकर जोक मारने पर सिख समुदाय के लोगों ने आपत्ति जताई है और एफ.आई.आर भी दर्ज करने की बात की है। इस पर भारती ने माफी मांगते हुए एक वीडियो भी जारी किया है।

यह भी पढ़ें- हमारी बेटी 6 दिन से लापता है”, बिलखते परिजनों ने की केंद्रीय मंत्री तोमर के काफिले के आगे लेटने की कोशिश, कार्यकर्ताओं ने भगाया

फीमेल कॉमेडीयन में टॉप पर बनी हुई भारती सिंह यूं तो हर दिल अज़ीज़ है, लेकिन हाल ही में उनके एक शो में दाढ़ी मूछों पर किए गए एक जोक का वीडियो वायरल हो गया. इस पर सिख समुदाय के लोगों ने आपत्ति जताई और अमृतसर सिख संगठनों द्वारा उनके खिलाफ प्रदर्शन भी किया गया। एसजीपीसी ने कॉमेडियन के खिलाफ एफ.आई.आर. दर्ज करवाने की बात भी की है। मोहनी पार्क में स्थित भारती सिंह के पुराने घर के सामने प्रदर्शन करते हुए एसजीपीसी के प्रवक्ता ने कहा कि भारती सिंह की टिप्पणी से सिख समुदाय के लोग आहत हैं, उनकी धार्मिक भावना को ठेस पहुंची है और इसलिए वे काफी गुस्से में है।

यह भी पढ़ें- Mandi bhav: 16 मई 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

दरअसल भारती ने अपने एक कॉमेडी शो में टीवी एक्ट्रेस जैसमिन भसीन के साथ मज़ाक मस्ती करते हुए कहा कि, “दाढ़ी मूंछ क्यों नहीं होनी चाहिए। दूध पीने के बाद दाढ़ी मुंह में डालो, तो सेवइयों का टेस्ट आता है। मेरी बहुत सारी फ्रेंड की अभी शादी हुई है। वह सारा दिन दाढ़ी मूंछ से जुएं निकालने में व्यस्त रहती है”। विवाद बढ़ने के बाद भारती ने अपने सोशल मीडिया हैंडल से हाथ जोड़कर माफी मांगते हुए एक वीडियो जारी कर कहा कि कृपया लोग उनका वीडियो देखें। उन्होंने किसी भी धर्म या जाति के बारे में बात नहीं की है। वह केवल दाढ़ी मूंछ पर एक नॉर्मल जोक बोल रही थी. वह स्वयं पंजाबी है और पंजाब का पूरा मान रखेंगी. हालाँकि उनके माफी मांगने के बाद भी यह विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है।