अमिताभ बच्चन

मुम्बई, डेस्क रिपोर्ट। 19 मार्च, शुक्रवार को इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ फिल्म आर्काइव ( FIAF) अवॉर्ड्स का आयोजन किया गया। ये एक वर्चुअल सेरेमनी (virtual ceremony) थी। इसमें भारत (India) के लिए गर्व का विषय (proud moment) रहा। सदी के महानायक कहे जने वाले फ़िल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन (amitabh bacchan) इस अवॉर्ड (award) से सम्मानित किये जाने वाले पहले भारतीय (first indian) बन गए। ये अवॉर्ड उन्हें फ़िल्म संरक्षण (film preservation) के काम को बढ़ावा देने हेतु दिया गया है। बिग बी ने खुद अपने सोशल मीडिया पर अवॉर्ड सेरेमनी की तस्वीरें साझा की। इन फोटोज में अमिताभ अवॉर्ड लेते हुए दिखाई दे रहे हैं।

अवॉर्ड सेरेमनी में प्रख्यात फ़िल्म निर्माता क्रिस्टोफर नोलन और मार्टिन स्कॉर्सेसी भी मौजूद थे। इन्हीं ने बिग बी को FIAF अवॉर्ड देकर सम्मानित किया। क्रिस्टोफर नोलन में समारोह में अमिताभ के साथ अपनी पहली मुलाकात को याद करते हुए कहा, “कुछ साल पहले फ़िल्म हेरिटेज फाउंडेशन के एक कार्यक्रम में मुझे भारतीय फिल्म जगत के लिविंग लेजेंड से मिलने का मौका मिला।फ़िल्म हेरिटेज फाउंडेशन के एम्बेसडर के कर्तव्य का निर्वहन करते हुए अमिताभ बच्चन ने फिल्मों के संरक्षण हेतु सराहनीय काम किये हैं। इसी वजह से FIAF समिति ने सर्वसम्मति से इस साल अमिताभ बच्चन को इस अवॉर्ड से सम्मानित करने का फैसला किया था।” वहीं मार्टिन स्कॉर्सेसी ने भी अमिताभ की तारीफ करते हुए फिल्मों के संरक्षण के लिए किए गए उनके काम को असाधारण बताया।

यह भी पढ़ें…Corona: खतरा बढ़ने के बाद जागा प्रशासन, डॉक्टर्स की सलाह लेने वालों की संख्या बढ़ी

इस अवॉर्ड के लिए अमिताभ का नाम हेरिटेज फॉउंडेशन द्वारा नामांकित किया गया था।फ़िल्म हेरिटेज गैर सरकारी संस्था है जो फ़िल्म विरासत के अध्ययन और फिल्मों के रजिस्ट्रेशन पर काम करती है।बता दें कि बिग बी भारतीय फिल्मों के संरक्षण हेतु एक म्यूजियम बनवा रहे हैं। अवॉर्ड सेरेमनी में अमिताभ ने बताया कि उनकी पत्नी और अभिनेत्री जय बच्चन की सलाह पर वे 2015 से ही पुरानी फिल्मों के संरक्षण में जुट गए थे। उन्होंने लगभग 60 पुरानी फिल्में रीस्टोर कर रखी हैं।