Kishore Kumar birthday : अपने घर के बाहर लिखवाया ‘किशोर से सावधान,’ जानिये मनमौजी मिज़ाज के किस्से

कमाल की गायकी और अभिनय से दुनियाभर में हुए मशहूर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज हरफनमौला कलाकार किशोर कुमार (kishore kumar) का जन्मदिन है। 4 अगस्त 1929 को जन्में किशोर दा अपनी जादुई आवाज़ और कमाल की अभिनय प्रतिभा के लिए जाने जाते हैं। प्लेबैक सिंगिंग के लिए 8 फिल्मफेयर अवॉर्ड जीतने वाले इस कमाल के शख्स ने करीब 88 फिल्मों में एक्टिंग भी की है। उन्होने संगीत की विधिवत ट्रेनिंग नहीं ली लेकिन और ये कला उन्हें वरदान में मिली थी। 110 से ज्यादा संगीतकारों के साथ उन्होने 2678 फिल्मों में गाने गाए। खंडवा में जन्मे किशोर कुमार की स्मृति में मध्यप्रदेश सरकार ने 1997 में ‘किशोर कुमार अवाॅर्ड’ की शुरुआत की है। उनके साथ कुछ और भी किस्से जुड़े हैं जो उनके स्वभाव से संबंधित है। वो अपने चुलबुलेपन और मूडी व्यवहार के कारण भी पहचाने जाते हैं। उनके मनमौजी मिज़ाज को लेकर कई किस्से मशहूर हैं। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनके जन्मदिन पर उन्हें नमन किया है।

Vastu Tips : घर में रखा गुड़ का एक टुकड़ा बदल देगा आपकी किस्मत, ऐसे करें ये चमत्कारी उपाय

  • कहा जाता है कि किशोर कुमार ने अपने घर के बाहर एक साइन बोर्ड लगाया हुआ था। इस पर उन्होने ‘बिवेयर ऑफ किशोर’ लिखवाया था। इसे लेकर एक और मजेदार किस्सा ये है कि जब निर्माता-निर्देशक एचएस रवैल उनके घर पहुंचे और निकलने लगे तो किशोर दा ने उनके हाथ पर काट लिया। इसका कारण पूछने पर उन्होने कहा कि आपको मेरे घर का साइन बोर्ड देखना चाहिए था।
  • एक बार किशोर कुमार को किसी फिल्म निर्माता ने आधे पैसे दिए। इस बात से नाराज होकर वो आधा मेकअप करके सेट पर पहुंच गए। निर्देशक ने जब उनसे इस बारे में पूछा तो उन्होने कहा कि आधा पैसा तो काम भी आधा।
  • उन्हें अलग अलग तरह की चीजें खरीने का बहुत शौक था। एक बार बाज़ार में उन्हें अचानक मसूर की दाल दिख गई और उसे देखकर उन्होने मसूरी घूमने का प्लान बना लिया। रेडियो की मशहूर हस्ती अमीन सायानी ने भी बीबीसी में किशोर कुमार को लेकर बातें साझा की कि वे बेहद मजेदार और शरारती भी थे। उन्होने अमीन सयानी को एक इंटरव्यू इसी शर्त पर दिया कि वो अपना इंटरव्यू खुद लेंगे।
  • उन्होने चार शादियां की थी। रुमा घोष, मधुबाला और योगिता बाली के बाद लीना चंद्रावरकर से उन्होने चौथी शादी की। लीना ने एक बार बताया कि वो बिल्कुल बच्चों की तरह थे। कभी बारिश को देखकर खुश हो जाते तो कभी किसी मुखौटे को पहनकर लोगों को डराने लगते। एक बार वो विदेश के कुछ मुखौटे लाए और अपने चौकीदार को ही डरा दिया।
  • किशोर कुमार को अपनी जन्मभूमि खंडवा से बेहद प्यार था। जब भी उनका मन करता वो शूटिंग बीच में छोड़कर खंडवा पहुंच जाते। इसी के साथ वो अपने पौधों से भी बहुत प्रेम करते थे और उनसे घंटो बातें भी किया करते। उनका कहना था ये सारे मेरे दोस्त है।
  • आशा भोंसले ने उनके बारे में एक मजेदार किस्सा शेयर करते हुए बताया कि फिल्म शराबी के गाने ‘इंतहा हो गई इंतजार की‘ गाने के लिए किशोर कुमार ने पहले इनकार कर दिया था। बाद में इस शर्त पर गाने को तैयार हुआ कि इस गाने को शराबी की तरह लेटकर गायेंगे। आखिरकार एक टेबिल अरेंज कराई गई और फिर उन्होने लेटकर ही ये गाना गाया।
  • फिल्म ‘हाफ टिकट’ का गाना ‘आके सीधे लगी दिल पे जैसी कटरिया’ गाने को लेकर ये किस्सा बहुत मशहूर है। ये गीत किशोर कुमार और लता मंगेशकर को गाना था, लेकिन किसी कारण लता दी रिकॉर्डिंग नहीं कर पाई। इसके बाद किशोर कुमार ने कहा कि मैं कोशिश करते देखता हूं और फिर उन्होने मेल और फीमेल दोनों आवाज में ये गाना रिकॉर्ड किया। एक टेक में फाइनल हुआ ये गाना सुपरहिट हुआ।