दिवाली के दिन अमिताभ बच्चन के घर “जलसा” में छाई रही खामोशी, जाने क्यों ?

अमिताभ बच्चन के घर "जलसा" (Jalsa) में काफी शांति रही। लोगों का आना-जाना तो दूर पटाखों तक की भी आवाज नहीं आई।

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bacchan) आए दिन किसी भी विषय पर अपने विचार बेबाकी से रखते हैं। अमिताभ बच्चन लगभग हर सोशल मीडिया (Social Media) पर एक्टिव रहते हैं। वह अपने और अपने परिवार के साथ के फोटोज और वीडियोज अक्सर सोशल मीडिया पर अपलोड करते हैं। कल दिवाली (Diwali) के दिन भी अमिताभ बच्चन ने अपने फैंस को सोशल मीडिया पर दिवाली की शुभकामनाएं दीं। इसके विपरीत अमिताभ बच्चन के घर “जलसा” (Jalsa) में काफी शांति रही। लोगों का आना-जाना तो दूर पटाखों तक की भी आवाज नहीं आई।

यह भी पढ़ें…भोपाल सहित इन जगहों पर “सूर्यवंशी” के साथ दोबारा खुले मल्टीप्लेक्स और सिनेमाघर

अमिताभ बच्चन ने सोशल मीडिया पर अपने एक ब्लॉग ने बताया कि क्यों उनके घर में इतनी शांति रही। उन्होंने बताया “हर साल उनके घर पर दिवाली के दिन रिश्तेदारों एवं शुभचिंतकों का आना जाना लगा रहता था। परंतु इस बार बहुत ही शांति से दिवाली का त्यौहार निकला”। अमिताभ बच्चन ने बताया इसका कारण सरकार के नियमों का पालन करना था। इसके साथ ही अमिताभ बच्चन ने ब्लॉग में यह भी लिखा कि परिवार से भरा हुआ एक कमरा और सब अपने-अपने मोबाइल में लगे हुए थे।

अपने घर में खामोशी का कारण बताने के अलावा सदी के महानायक ने यह भी लिखा के”कोरोना महामारी ने आम जीवन को काफी अस्त-व्यस्त कर दिया है। लोग और हालात पहले से काफी बदल गए हैं। लोगों के साथ बुरा भी हुआ है तो कुछ लोगों के साथ अच्छा भी हुआ है। इस महामारी के समय में कई लोग अपने अंदर बदलाव लाए हैं। लोगों ने खुद को बेहतर किया है और इसी के साथ ही काफी चीजों के बारे में लिखा और पड़ा है”। अमिताभ बच्चन ने दिवाली के दिन की फोटो सोशल मीडिया पर शेयर की है जिसमें वे सपरिवार दिवाली की पूजा कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें… जानिए MP के घबोटी गांव के मंदिर का राज.. जहां हर साल सैकड़ों लोग पौधा उखाड़ने की रहस्यमई प्रथा के बनते हैं साक्षी