MP: शिक्षक-पंचायत सचिव समेत 4 निलंबित, 2 कर्मचारियों की सेवा समाप्त, 1 को नोटिस

इंदौर ग्रामीण अधीक्षण यंत्री डीएन शर्मा ने बताया कि धरमपुरी बिजली वितरण केंद्र के कार्यालय सहायक  रिंकू साहू को आर्थिक अनियमितता के कारण निलंबित किया गया है। 

MP NEWS

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP News) में सरकारी कामों में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों-कर्मचारियों पर कार्रवाई का दौर जारी है। मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध निदेशक  अमित तोमर के निर्देश पर बिजली सेवाओं और अन्य विभागीय कार्यों, राजस्व संग्रहण आदि विषयों की सघन मानिटरिंग की जा रही है। इसी दौरान आर्थिक अनियमितता उजागर होने पर दो कर्मचारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

यह भी पढ़े..MP Weather: जल्द बदलेगा मौसम, 11 जिलों में लू का येलो अलर्ट, 10 के बाद होगी मानसून की दस्तक!

मप्रपक्षेविविकं के इंदौर ग्रामीण अधीक्षण यंत्री डीएन शर्मा ने बताया कि धरमपुरी बिजली वितरण केंद्र के कार्यालय सहायक  रिंकू साहू को आर्थिक अनियमितता के कारण निलंबित किया गया है।  साहू ने जबरन बिल सुधारकर राशि कम कर कंपनी को आर्थिक क्षति पहुँचाई है। इनका निलंबन अवधि में मुख्यालय संभागीय कार्यालय महू तय किया गया है।

इसी तरह पीथमपुर के लाइन परिचारक  नलिन पीटर ने भी पीथमपुर शहर केंद्र में गंभीर आर्थिक अनियमितताएँ की है। पीटर ने नवीन सर्विस कनेक्शन (एनएससी) की राशि कंपनी खाते में जमा नहीं की है। साथ ही डोर-टू-डोर कलेक्शन सिस्टम से भी 30 हजार की राशि कंपनी में जमा नहीं कराई है। इसकी पुष्टि होने पर उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है। साथ ही पुलिस को भी सूचना दी गई है। निलंबन अवधि में इनका मुख्यालय चिकलोंडा बेटमा नियत किया गया है।

यह भी पढे.. सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, सीएम ने पीएम को लिखा पत्र, पेंशन में मिलेगा लाभ!

वही बड़वानी कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा ने पंचायत निर्वाचन में सौपी गई जिम्मेदारियों में लापरवाही बरतने पर प्राथमिक शिक्षक झण्डी खोदरी राजपाल यादव को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है।उक्त शिक्षक को नाम-निर्देशन पत्र प्राप्त करने के लिए बनाये गये क्लस्टर पर अधिकारियों के सहयोग के लिये नियुक्त किया गया था, किन्तु वह शिक्षक अपने कर्तव्य स्थल पर जहां उपस्थित नहीं हुये, वहीं चुनावी ड्यूटी भी करने से इंकार कर दिया था, जिसके लिये उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित किया गया है।

खंडवा जिले में जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत साल्याखेड़ा क्षेत्र से जनपद सदस्य के लिए उम्मीदवारी करने वाली महिला मीनू पाठक ने उसका नाम मतदाता सूची से हटवाने का आरोप पंचायत सचिव जयराम परते पर लगाया। महिला की शिकायत की जांच के बाद कलेक्टर अनूपकुमार सिंह ने पंचायत सचिव को निलंबित करने के आदेश जारी कर दिए।

उज्जैन के नागदा में सफाई के कामों में लापरवाही करने और घर बैठे वेतन लेने पर प्रशासक ने बड़ी कार्रवाई की है। कर्मचारी विजय पुत्र जगदीश व मनोहर पुत्र शांतिलाल की सेवा समाप्त करते हुए संतोष पुत्र पीरूलाल को अंतिम सूचना पत्र जारी किया।