फिर मिलेगा कर्मचारियों को तोहफा, DA वृद्धि के बाद कुल वेतन की गणना, एरियर्स पर बड़ी अपडेट

7th pay commission: सरकार ने corona महामारी के कारण DA और DR की 3 अतिरिक्त किस्तों को डेढ़ साल के लिए रोक दिया था।

7th pay commission

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार ने 7th pay commission  केंद्रीय कर्मचारियों (employees)और पेंशनभोगियों (pensioners) के लिए महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने का फैसला किया है। महंगाई भत्ते की दर 17 फीसदी से बढ़ाकर 31 फीसदी कर दी गई है। यह बढ़ोतरी डेढ़ साल बाद की गई है और इससे करीब 1.14 करोड़ केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को फायदा होगा। डीए और डीआर में बढ़ोतरी से सरकारी खजाने पर 58,401 करोड़ रुपये का अतिरिक्त बोझ पड़ेगा।

क्या उन्हें भी बकाया मिलेगा?

सरकार ने corona महामारी के कारण DA और DR की 3 अतिरिक्त किस्तों को डेढ़ साल के लिए रोक दिया था। अब सवाल यह है कि क्या सरकार इन किस्तों का बकाया भुगतान करेगी? सरकार ने स्पष्ट किया कि बकाया नहीं दिया जाएगा। सरकार ने कहा है कि 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2021 की अवधि के दौरान रोके गए डीए का बकाया नहीं दिया जाएगा. इस अवधि के दौरान जो डीए प्रतिशत बनाया गया था उसे 1 जुलाई से जोड़ा और बहाल किया गया है।

दरअसल भारत सरकार के मुख्य प्रवक्ता जयदीप भटनागर ने कहा, कैबिनेट ने 1 जुलाई, 2021 से डीए और डीआर की तीन किस्तें बहाल कर दी हैं। डीए 14% बढ़ जाएगा, यानी पहले मूल वेतन पर 17% और बढ़ा हुआ 14% की दर से। कुल मिलाकर मूल वेतन का 31 फीसदी डीए दिया जाएगा।

Read More: स्थानीय युवाओं के लिए CM Shivraj की बड़ी घोषणा, ऐसे मिलेगा लाभ

डीए और वेतन गणना

1. सातवें वेतन आयोग के मुताबिक साल में दो बार डीए बढ़ाया जाता है। कोविड -19 महामारी के कारण, सरकार ने डीए और डीआर की तीन किस्तें रोक दी थीं। ये किस्तें थीं- 1 जनवरी 2020 को 4 फीसदी, 1 जुलाई 2020 को 3 फीसदी और 1 जनवरी 2021 को 4 फीसदी। कुल मिलाकर 11 फीसदी डीए हो गया जो फ्रीज हो गया। अब इसे 1 जुलाई से बहाल कर दिया गया है।

2. डीए यानी महंगाई भत्ता केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के वेतन का एक घटक है। महंगाई को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार साल में दो बार जनवरी और जुलाई में महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी का ऐलान करती है। प्रत्येक कर्मचारी के डीए में भिन्नता है। उदाहरण के लिए, शहरी, अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में महंगाई भत्ते की राशि अलग-अलग है।

3. 30 जून 2021 तक केंद्रीय कर्मचारियों को 17% महंगाई भत्ता मिलता था। अब 1 जुलाई से टोटल DA 28% हो गया था जबकि अक्टूबर से डा 31% हो चूका है। मौजूदा समय में केंद्रीय कर्मचारियों को अगर 18000 रुपये मिलते हैं तो अब उनके वेतन में 14 फीसदी की बढ़ोतरी होगी।

4. सरकार 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2021 के बीच की अवधि का DA एरियर नहीं देगी। बढ़ा हुआ DA 1 जुलाई 2021 से ही दिया जाएगा हालांकि, केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2021 तक 18 महीने से डीए और डीआर (arrears) नहीं मिला है। कर्मचारियों की मांग के बाद प्रस्ताव पीएम मोदी के बाद पहुँच चूका है। जिस पर प्रधानमंत्री इस महीने के अंत (नवंबर) तक कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं।

5. पिछली तीन किस्तों में ठप पड़े डीए और डीए की राशि में 11 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। वही 11% DA और DR 1 जुलाई से लागू हुआ है। यानि 1 जनवरी 2020 से 30 जून 2021 तक DA और DR 17% पर पहले की तरह ही रहेगा।

मासिक वेतन में वृद्धि

जून तक केंद्रीय कर्मचारियों को 17 फीसदी महंगाई भत्ता मिल रहा था। अब यह भत्ता बढ़कर 31% हो गया है। उदाहरण के लिए, यदि किसी कर्मचारी का मूल वेतन 20 हजार रुपये है, तो 17% की दर से डीए 3400 रुपये प्रति माह है।

अब यह डीए बढ़कर 6200 रुपये हो जाएगा। यानी महीने के वेतन में 2800 रुपये की बढ़ोतरी होगी। इसी तरह अगर मूल वेतन 50,000 रुपये प्रति माह है तो डीए 8500 रुपये से बढ़कर 15,500 रुपये हो जाएगा। यानी मासिक वेतन में 7000 रुपये की बढ़ोतरी। यह बढ़ोतरी 1 अक्टूबर से मान्य हो चुकी है।वहीँ एक बार फीर केंद्रीय कर्मचारियों के वेतन वृद्धि की बात की जा रही है। माना जा रहा है कि कर्मचारियों का HRA बढ़ाया जल्द जायेगा।