पर्यटन को बढ़ाने ज्योतिरादित्य सिंधिया के 9 सूत्र, ऐसी होगी पूरी प्लानिंग

सिंधिया ने कहा कि सामूहिक प्रयासों से ग्वालियर के पर्यटन को बढ़ावा दिया जायेगा।

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। दो दिवसीय दौरे पर ग्वालियर(Gwalior News) आये केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट में ग्वालियर के विकास कार्यों की समीक्षा की और ग्वालियर के पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए एक ड्राफ्ट तैयार किया।  सिंधिया ने पर्यटन को सहेजने और बढ़ावा देने के लिए 9 सूत्र बताये हैं।  उन्होंने कहा है कि इन्हीं 9 थीम के आधार पर ग्वालियर के पर्यटन (Gwalior Tourism) को बढ़ावा दिया जायेगा और ग्वालियर विश्व पर्यटन के नक़्शे पर अपनी प्रभावी उपस्थिति दर्ज करा सकेगा।

बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने बताया कि बैठक में सभी लोगों के सुझाव सुने गए और उसके बाद तय हुआ उस हिसाब से 9 थीम पर ग्वालियर के पर्यटन (Gwalior Tourism) को बढ़ाएंगे।  पहला हमारी विरासत का सर्किट, दूसरा पुराने इतिहास और राजपरिवार के साथ जुड़ा सर्किट, तीसरा संगीत का सर्किट, चौथा वाइल्ड लाइफ का सर्किट, पांचवा शेष मध्यप्रदेश का सर्किट इसमें ओरछा, चंदेरी आदि रहेंगे , छठा धार्मिक सर्किट जिसमें पीताम्बरा, धूमेश्वर आदि रहेंगे, सातवा एडवेंचर स्पोर्ट्स सर्किट जिसमें हॉट एयर बलून, राफ्टिंग आदि रहेंगे आठवा हस्तशिल्प का सर्किट  जिसमें ग्वालियर का पत्थर, चंदेरी की साड़ी आदि रहेंगे और नौवा इवेंट्स का कैलेण्डर बनेगा जैसे तानसेन संगीत समारोह होता है , कल्चरल फेस्टिवल होना चाहिए, लेखक का फेस्टिवल होना चाहिए। सिंधिया ने बताया कि श्योपुर में जल्दी ही चीता शिवपुरी में बाघ लाने की कोशिश की जा रही है इससे पूरा एक सर्किट बन जायेगा रणथम्बौर , श्योपुर, शिवपुरी, पन्ना तक।

ये भी पढ़ें – पेंशनर्स के लिए खुशखबरी, इतनी बढ़ सकती है पेंशन, जानें क्या है नई अपडेट

सिंधिया ने बताया कि इन 9 सूत्रों के आधार पर पर्यटन को बढ़ावा दिया जायेगा।  हम इसके अलावा शहर में साफ़ सफाई, होटल्स की वृद्धि, ट्रैफिक मैनेजमेंट, सड़कों पर इंदौर की 56 दुकानों की तरह पर क्वालिटी वाला फ़ूड मिले, टैक्सी, बस सर्विसेस, टूरिज्म गाइड ऐसे हैं जिन्हें विरासत की नॉलेज हो , होम स्टे की भी वृद्धि हो ऐसे कई बिंदु इन 9 थीम को सहयोग करेंगे।  शुरुआत दो थीम संगीत और विरासत के साथ करेंगे। दिसंबर में फिर बैठकर समीक्षा करेंगे और राज्य सरकार, केंद्र सरकार से साधन जुटाने पर चर्चा करेंगे।

ये भी पढ़ें – Gold Silver Rate : नहीं बदले भाव सोना चांदी दोनों पुरानी कीमत पर, जानिए ताजा रेट

रेल कनेक्टिविटी बहुत अच्छी हो गई है, एयर कनेक्टिविटी सोच से बहुत अधिक हो चुकी है , रोड कनेक्टिविटी चम्बल एक्सप्रेस वे , वेस्टर्न बायपास बन रहा है शहर में स्वर्ण रेखा नदी पर सड़क बन रही है।  इन सबसे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा।