AICTE का बड़ा फैसला, इन छात्रों को लगेगा झटका, नहीं मिलेगी स्कॉलरशिप की राशि

वहीँ इन AICTE छात्रवृति के जरिये छात्र उच्च शिक्षा (highere ducation) ग्रहण करते हैं

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (All India Council for Technical Education) द्वारा कई कोर्सों (courses) के लिए छात्रवृति (Scholarship) उपलब्ध करवाई जाती है। वहीँ इन छात्रवृति के जरिये छात्र उच्च शिक्षा (higher education) ग्रहण करते हैं, इसी बीच अब AICTE ने पीजी छात्रों (PG Students) के छात्रवृति पर बड़ा फैसला लिया है। जिससे कुछ छात्रों को झटका लगा है। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (AICTE) पाठ्यक्रम बीच में ही छोड़ने वाले छात्रों की स्नातकोत्तर (PG) छात्रवृत्ति रोक देगी।

तकनीकी शिक्षा नियामक ने कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से उन छात्रों का ब्योरा देने को कहा है, जिन्होंने बीच में ही कोर्स छोड़ दिया है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया है कि यह देखा गया है कि कुछ संस्थान उन छात्रों की समय पर सूचना नहीं दे रहे हैं। जिन्होंने AICTE के पीजी छात्रवृत्ति कार्यक्रम के तहत पाठ्यक्रम बीच में ही छोड़ दिया है।

Read More: MP में बढ़े कोरोना के मामले, 5 दिन में 45 पॉजिटिव, इन जिलों ने बढ़ाई चिंता

AICTE ने कहा कि समय पर सूचना उपलब्ध न होने के कारण फेलोशिप निर्बाध रूप से जारी की जा रही है, जो अधिकृत नहीं है। इसलिए, उन विद्वानों की सटीक स्थिति समय पर प्रस्तुत करने का अनुरोध किया जाता है, जिन्हें पीजी पोर्टल में “पाठ्यक्रम छोड़ दिया” के रूप में भी चिह्नित किया गया है। यदि संस्थानों को पीजी पोर्टल में इसे चिह्नित करने में कोई समस्या आती है, तो AICTE ने उन्हें संस्थान के लेटरहेड पर विवरण pgscholarship@aicte.india.org पर मेल करने के लिए कहा है।

AICTE द्वारा अनुमोदित नियमित स्नातकोत्तर कार्यक्रमों में प्रवेश पाने वाले GATE, GPAT और CEED योग्य छात्रों को AICTE PG छात्रवृत्ति के हिस्से के रूप में 24 महीने या पाठ्यक्रम की अवधि के लिए प्रति माह 2,400 रुपये मिलते हैं।