Mandla News : रोजगार सहायक 20 हजार की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार, लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई

साथ ही रोजगार सहायक को रंगे हाथों पकड़ने के लिए प्लान तैयार किया गया।

मंडला, डेस्क रिपोर्ट। भ्रष्ट अधिकारियों (corrupt officer) पर कार्रवाई का सिलसिला जारी है। मंडला जिले में की गई कार्रवाई में जिले के ग्वारा ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक (employment assistant) को रिश्वत (bribe) लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया है। जानकारी के मुताबिक द्वारा ग्वारा पंचायत के रोजगार सहायक मानिक लाल जंघेला को लोकायुक्त की टीम द्वारा 20000 की रिश्वत के साथ गिरफ्तार किया गया है।

सामने जानकारी के मुताबिक पीड़ित अरविंद जंघेला द्वारा निर्माण कार्य में सप्लाई किया गया था।जिसके बिल के भुगतान के नाम पर उसे लगातार रोजगार कार्यालय के चक्कर लगवाए जा रहे थे। वही ग्वारा के रोजगार सहायक मानिक लाल जंघेला से जल्द भुगतान करवाने की बात की गई। जिसके लिए उन्होंने रिश्वत की मांग की थी।

Read More : MPPSC : 37 पदों पर होनी है भर्ती, आयोग ने जारी किया रिजल्ट, यहां करें डाउनलोड

जिसके लिए पीड़ित द्वारा इसकी शिकायत 9 मार्च को लोकायुक्त जबलपुर में की गई थी। वही जबलपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई शुरू की गई। जांच में तथ्य सामने आने के बाद Bribe के तमाम सबूत जुटाए गए और साथ ही रोजगार सहायक को रंगे हाथों पकड़ने के लिए प्लान तैयार किया गया।

वही पीड़ित अरविंद जंघेला जब रोजगार सहायक को रिश्वत की 20000 राशि देने पहुंचे तो तत्काल कार्रवाई की गई और रिश्वत की राशि के साथ उन्हें रंगे हाथों गिरफ्तार किया गया। इस मामले में अरविंद जांघेला के मुताबिक शोकपिट के लिए मैटेरियल सप्लाई किया गया था। जिसकी कीमत 1 लाख 62 हजार रुपए थी।

वहीं इस राशि को निकलवाने के लिए 50 हजार रूपए रिश्वत की मांग की गई थी। जिनमें से 5000 पहले लिए जा चुके थे। वहीं शेष राशि के लिए 20 हजार रुपए द्वारा रोजगार सहायक को दी जा रही थी। जिसपर लोकायुक्त द्वारा यह कार्रवाई की गई है।