Rewa : लोकायुक्त की बड़ी कार्रवाई, 10 हजार रुपए रिश्वत के साथ धराए जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी

वही शिकायत को सही पाए जाने के बाद लोकायुक्त द्वारा जिला पूर्ति अधिकारी को पकड़ने के लिए प्लान तैयार किए गए।

रीवा, डेस्क रिपोर्ट। रीवा लोकायुक्त (Rewa Lokayukt) ने एक बार फिर से बड़ी कार्रवाई की है। दरअसल पेट्रोल पंप लगाने के लिए एनओसी जारी करने के कारण ₹10 हज़ार रूपए रिश्वत (Bribe) की मांग की गई थी। जिसके लिए जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी को लोकायुक्त ने रंगे हाथों लिया है। कार्रवाई पूरी हो जाने के बाद जिला खाद आपूर्ति अधिकारी (District Fertilizer Supply Officer) को जमानत पर रिहा कर दिया गया है।

जानकारी की माने तो पीड़ित द्वारा सुरेश कुमार पटेल रीवा कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई थी। जिसमें कहा गया था कि जिला खाद आपूर्ति अधिकारी द्वारा नए पेट्रोल पंप लगाने के लिए जारी करने के एवज में रिश्वत की मांग की जा रही है। खाद आपूर्ति अधिकारी चेतराम कौशल पेट्रोल पंप के लिए जारी करने के एवज में ₹10 हज़ार रूपए रिश्वत की मांग की है। वही लोकायुक्त द्वारा शिकायत की प्रमाणिकता की जांच की गई। वही शिकायत को सही पाए जाने के बाद लोकायुक्त द्वारा जिला पूर्ति अधिकारी को पकड़ने के लिए प्लान तैयार किए गए।

Read More : CBSE : 10वीं-12वीं के एडमिट कार्ड पर आई बड़ी अपडेट, परीक्षा को लेकर गाइडलाइन जारी, छात्रों के लिए जानना जरूरी

जिसके बाद पीड़ित को ₹10 हज़ार रूपए रिश्वत के साथ जिला खाद आपूर्ति अधिकारी के पास भेजा गया। जैसे ही जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी ने रिश्वत की राशि ली लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। आरोपी द्वारा लोकायुक्त को देखते ही दरवाजा बंद करने का प्रयास किया गया लेकिन पीड़ित द्वारा जिला खाद आपूर्ति अधिकारी को ऐसा करने से रोका गया। जिसके बाद लोकायुक्त टीम ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक रीवा गोपाल धाकड़ का कहना है कि जिला खाद आपूर्ति अधिकारी को ₹10 हज़ार रूपए के साथ पकड़ा गया था। हालांकि उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है। साथ ही उनके विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला पंजीकृत कर लिया गया है।