MP News: उप चुनाव से पहले छात्रों के लिए बड़ी घोषणा, CM Shivraj देंगे 264 करोड़ का लाभ

कई जिलों में नवीन कार्य सहित लोकार्पण करने के बाद सीएम शिवराज (CM Shivraj) छात्रों को बड़ी राहत देने जा रहे हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में उपचुनाव (MP Byelection) से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chouhan) विभिन्न जिलों सहित विभिन्न विभागों के लिए बड़ी घोषणाएं कर रहे हैं। कई जिलों में नवीन कार्य सहित लोकार्पण करने के बाद सीएम शिवराज (CM Shivraj) छात्रों को बड़ी राहत देने जा रहे हैं। दरअसल प्रदेश के कई जिलों में स्कूल शिक्षा विभाग (school education department) और जनजातीय कार्य विभाग के नवनिर्मित भवनों का लोकार्पण शिवराज करेंगे। 264 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले भवनों से छात्रों को बड़ा लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान प्रदेश की स्कूली शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए जन-कल्याण और सुराज के 20 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर 264 करोड़ के निर्माण कार्यों का ऑनलाइन लोकार्पण और भूमि-पूजन करेंगे। CM Shivraj मंगलवार 28 सितंबर 2021 को शाम 6.30 बजे मिंटो हॉल भोपाल में स्कूल शिक्षा विभाग के 45 और जनजातीय कार्य विभाग के 71 नव-निर्मित भवनों का लोकार्पण और भूमि-पूजन करेंगे।

इस अवसर पर जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री सुश्री मीना सिंह, लोक निर्माण और कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री गोपाल भार्गव और स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इंदर सिंह परमार भी उपस्थित रहेंगे। कार्यक्रम का लाइव प्रसारण सीएम वेबकास्ट, सीएम मध्यप्रदेश, जनसंपर्क और स्कूल शिक्षा विभाग के फेसबुक और ट्विटर पेज के साथ डीडी एमपी और अन्य प्रादेशिक चैनलों पर किया जायेगा।

Read More: ON THE SPOT बसपा विधायक का फैसला, आटे में नमक बराबर रिश्वत तो चलत है, मगर पीएम आवास योजना में 10 हजार रुपए लेना ठीक नहीं

कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा विभाग के लगभग 51 करोड़ 40 लाख रूपये की राशि से निर्मित नवनिर्मित हाई स्कूल भवनों, हायर सेकेंडरी स्कूल भवनों, छात्रावासों और बहुउद्देश्यी भवनों के लोकार्पण के साथ जनजातीय कार्य विभाग के 213 करोड़ 80 लाख रूपये की लागत से बनने वाले 71 शैक्षणिक भवनों का भूमि-पूजन किया जाएगा।

इन भवनों के निर्माण से शालेय विद्यार्थी लाभान्वित होंगे। जनजातीय कार्य विभाग द्वारा अलीराजपुर, उमरिया, खरगोन, झाबुआ, धार, बड़वानी, मंडला, रतलाम, शहडोल, सिवनी और होशंगाबाद जिले में स्कूलों और छात्रावासों का निर्माण किया जाएगा।