कर्मचारियों के लिए बड़ी खबर, आदेश का पालन करना होगा अनिवार्य, 10 दिन में शुरू होगी व्यवस्था

साथ ही जो कर्मचारी यूनिफॉर्म में नहीं आएंगे। उस दिन उनकी अनुपस्थिति दर्ज की जाएगी।

MP NEWS
DEMO PIC

विदिशा, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश (MP) में एक बार फिर से कर्मचारियों के लिए ड्रेस कोड (Employees Dress Code) लागू किया जा रहा है। दरअसल ड्रेस कोड (Dress code) का पालन कराने की तैयारी पूरी कर ली गई है। वहीं अब कर्मचारियों को यूनिफॉर्म (uniform) के लिए कपड़ों का वितरण भी किया जा रहा है। हालांकि सिलाई कर्मचारियों को ही कराना पड़ेगा नगरपालिका में इसके लिए जानकारी प्रेषित की जा रही है। मिली जानकारी के मुताबिक भृत्य से लेकर इंजीनियर से लेकर सभी कर्मचारी ड्रेस कोड में रहेंगे।

जानकारी की माने तो नगरपालिका कर्मचारियों में से यदि कोई बिना निर्धारित यूनिफार्म के पाए जाते हैं तो उनकी अनुपस्थिति लगाई जाएगी। वही नगर पालिका की स्वास्थ्य शाखा के कक्ष में सफाई कर्मचारी सहित सभी कर्मचारियों को यूनिफॉर्म के लिए कपड़ों का वितरण किया जा रहा है। नगरपालिका के कर्मचारियों के लिए नेवी ब्लू पेंट और स्काई ब्लू शर्ट पहनना अनिवार्य होगा जबकि महिला कर्मचारी स्काई ब्लू साड़ी ब्लाउज सहित स्काई ब्लू कुर्ता और सलवार पहन सकेंगी।

वहीं अधिकारियों से मिली जानकारी की मानें तो 10 दिन में नगरपालिका में ड्रेस कोड का पालन अनिवार्य रूप से शुरू करने की तैयारी की गई है। साथ ही जो कर्मचारी यूनिफॉर्म में नहीं आएंगे। उस दिन उनकी अनुपस्थिति दर्ज की जाएगी। इस मामले में सीएमओ सुधीर सिंह का कहना है कि ड्रेस कोड लागू करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। 10 दिन में सभी कर्मचारियों के लिए ड्रेस कोड अनिवार्य कर दिया जाएगा।

Read More : MP News : लापरवाही पर बड़ा एक्शन, 14 कर्मचारियों की सेवाएं समाप्त, कई के वेतन काटे

वहीं ऐसे कर्मचारी जो यूनिफार्म का इस्तेमाल नहीं करेंगे। उनके खिलाफ सख्त ऐक्शन लिया जाएगा और उस दिन उस कर्मचारियों की अनुपस्थिति दर्ज की जाएगी। किसी भी सूरत में नगरपालिका के सभी कर्मचारियों को ड्रेस कोड का पालन करना अनिवार्य होगा। मध्यप्रदेश में नगर पालिका में ड्रेस कोड को लागू किए 14 वर्ष का समय बीत गया है।

पूर्व में कर्मचारियों को ड्रेस कोड के लिए कपड़े दिए जाते थे लेकिन नगरपालिका द्वारा इस में कोई रुचि नहीं दिखाई जा रही है। इस मामले में दिसंबर 2020 में नगर विकास एवं आवास विभाग द्वारा आदेश जारी किया गया था। जिसमें सभी नगर निकाय में कार्य पुरुष कर्मचारी को ड्रेस को निर्धारित की गई थी।हालांकि निकाय में इसका पालन नहीं किया गया था। जिसके बाद अब एक बार फिर से कड़ाई से पालन कराने की तैयारी की जा रही है।

इस मामले में कर्मचारियों का कहना है कि ड्रेस कोड से किसी भी कर्मचारी को कोई समस्या नहीं है। ड्रेस कोड से अनुशासन बनी रहती है लेकिन कर्मचारियों द्वारा इसका पालन आदेश जारी होने के कुछ दिन तक ही किया जाता है। शाखा प्रभारी सहित अधिकारी और वरिष्ठ कर्मचारी इसका पालन नहीं करते हैं। जिसके बाद अन्य कर्मचारियों द्वारा भी लापरवाही बरतने का सिलसिला शुरू कर दिया जाता है।