MP पेंशनर्स के पेंशन पर आई बड़ी अपडेट, आयुक्त ने कलेक्टर्स को दिए निर्देश, 26741 को जल्द मिलेगा लाभ

सभी पेंशनर्स के खाते के सत्यापन प्रक्रिया के बाद उनके पेंशन की राशि का भुगतान किया जाएगा।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में 26000 से अधिक हितग्राहियों (Pensioners) के मई महीने की पेंशन अटक गई है। जिसका बड़ा नुकसान पेंशन धारियों को हुआ है। दरअसल सामाजिक न्याय और निशक्तजन कल्याण विभाग द्वारा राशि भुगतान की कोशिश की गई लेकिन अबतक राशि भुगतान नहीं किया जा सका है। हालांकि जल्दी उनके खाते में राशि का हस्तांतरण किया जाएगा। वहीं गड़बड़ी की आशंका के कारण विभाग के आयुक्त रमेश कुमार ने कलेक्टर को खाते की जांच के निर्देश भी दे दिए हैं।

इधर पेंशनर्स को प्रत्येक महीने की 22 तारीख को राज्य स्तर पर पेंशन का भुगतान किया जाता है। हालांकि पेंशन की राशि उनके खाते में जमा कराने का प्रावधान है लेकिन मई महीने की राशि जून महीने में उनके खाते में जमा नहीं की गई है। जिसके बाद 26741 हितग्राहियों मैं पेंशन का भुगतान नहीं होने पर विभाग ने एक बार फिर से जांच के निर्देश दिए हैं। मध्यप्रदेश में 45 लाख से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के क्रियान्वयन में पेंशन योजना का लाभ दिया जाता है। ऐसे में 1514 हितग्राही ऐसे हैं जिनके खाते में पेंशन को जमा किया गया जबकि 1143 ऐसे हैं जिन्हें मई में ही प्रक्रिया में शामिल किया गया है।

Read More : IMD Update : दिल्ली सहित 17 राज्य में बदलेगा मौसम, बारिश की चेतावनी, मुंबई-गोवा-हिमाचल के लिए रेड अलर्ट जारी, यहां बढ़ेगा तापमान

वहीं विभागीय सूत्रों की माने तो पेंशन पोर्टल पर बैंक खाते की गलत जानकारी दर्ज होने की वजह से इस दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।  जल्दी पेंशन का भुगतान किया जाएगा। हालांकि यदि विभागीय अधिकारियों की मानें तो अगर पेंशन भुगतान से पहले गलत प्रविष्टि होती है तो इसके लिए खातेदार को बैंक में जाकर खाते का सत्यापन कराना होगा।  ज्यादा मामले में ऐसा होने की संभावना जताई जा रही है।

वहीं विभाग द्वारा लगातार पेंशनर से अपील की जाती है कि वह अपने खाते का सत्यापन समय-समय पर करवाते रहें।  ऐसा नहीं होने की स्थिति में पेंशनर्स को सबसे बड़ा झटका लगता है।  बता दे कि कई बार हितग्राही क्षेत्र से पलायन करने प,र उनके निधन होने पर बैंक को इसकी जानकारी नहीं देने पर खाते में राशि जमा नहीं हो पाती है। गड़बड़ी की आशंका को देखते हुए विभाग के आयुक्त रमेश कुमार ने सभी जिला कलेक्टर उसको खाते की जांच के निर्देश दिए हैं। सभी पेंशनर्स के खाते के सत्यापन प्रक्रिया के बाद उनके पेंशन की राशि का भुगतान किया जाएगा।