हजारों आंगनवाड़ी सेविकाओं-सहायिकाओं को CM का बड़ा तोहफा, मानदेय में बंपर वृद्धि, खाते में आएंगे 9500 रुपए

इसके अलावा राज्य के लघु आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यरत सेविका व सहायिकाओं को भी प्रति महीने मानदेय उपलब्ध कराए जाएंगे।

employees news

रांची, डेस्क रिपोर्ट। लंबे समय से मानदेय वृद्धि (honorarium hike) की मांग कर रहे आंगनबाड़ी सेविका (anganwadi Employees) सहित सहायिकाओं (anganwadi workers) को प्रदेश सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल 38 हजार से अधिक आंगनबाड़ी सेविका सहित सहायिकाओं के मानदेय में वृद्धि की स्वीकृति दे दी गई है। राज्य शासन की स्वीकृति के साथ ही अब आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं सेविका और सहायिका को बढ़े हुए वेतन का लाभ मिलेगा।

आंगनवाड़ी सेविका सहायिका के लिए आज तक राज्य में नियमावली नहीं बनी थी लेकिन नई नियमावली के तहत अब आंगनबाड़ी सेविकाओं को 9500 रुपए प्रति माह और आंगनबाड़ी सहायिकाओं को 4750 प्रतिमाह मानदेय के रूप में उपलब्ध कराए जाएंगे। नई नियमावली के तहत केंद्र और राज्य सरकार द्वारा आंगनबाड़ी सेविकाओं को प्रतिमाह मिलने वाले मानदेय राशि वहन किया जाएगा।

इस दौरान केंद्र सरकार की ओर से 2700 रुपए जबकि राज्य सरकार की ओर से 6800 रुपए की साझेदारी का प्रावधान तय किया गया है। वही आंगनबाड़ी सेविकाओं को हर महीने 9500 रुपए मिलेंगे। जबकि आंगनवाडी सहायिकाओं के लिए भी केंद्र सरकार की तरफ से 1350 रूपए और प्रदेश सरकार की ओर से 3400 रूपए की साझेदारी कर उन्हें वेतन के रूप में 4750 रूपए प्रति माह उपलब्ध कराए जाएंगे।

Read More : MP: लापरवाही पर एक्शन, पटवारी-पंचायत सचिव समेत 8 निलंबित, 9 कर्मचारियों को नोटिस, 1 को हटाया

इसके अलावा राज्य के लघु आंगनबाड़ी केंद्र में कार्यरत सेविका व सहायिकाओं को भी प्रति महीने मानदेय उपलब्ध कराए जाएंगे। इतना ही नहीं नई नियमावली के तहत प्रदेश सरकार द्वारा सभी आंगनबाड़ी कर्मचारियों के भविष्य निधि खाता खोलने के प्रावधान भी तय किए गए हैं। जिसमें राज्य सरकार द्वारा मानदेय की 6% राशि अलग से जमा कराई जाएगी। सीएम ने बड़ी घोषणा करते हुए कहा कि आंगनबाड़ी कर्मचारियों को भी अनुकंपा नियुक्ति का लाभ दिया जाएगा। इसके लिए प्रावधान तैयार किए जा रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले आंगनबाड़ी सेविकाओं और सहायिकाओं ने बड़ी मांग करते हुए सरकार से तृतीय वर्ग के समान और सहायिकाओं को चतुर्थ वर्ग कर्मचारी के समान वेतनमान स्वीकृत करने की मांग की थी। साथ ही उन्होंने नियमावली अनुकंपा नियुक्ति सहित उच्चतर पद पर पदोन्नति की भी मांग की थी। फिलहाल अनुकंपा नियुक्ति के लिए प्रावधान किया जा रहा है। सीएम के इस आश्वासन के साथ ही आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को बड़ी राहत मिली है।