सीएम शिवराज ने अधिकारियों को दिए निर्देश, जल जीवन मिशन-PM आवास पर मिशन मोड में पूरा करें टारगेट, बिजली आपूर्ति शिकायत पर जताई नाराजगी

सीएम शिवराज सिंह का की सभी स्कूलों में किताबें उपलब्ध करा दी गई है। जिसके जवाब में अधिकारियों ने बताया कि स्कूलों में किताबें पहुंच गई है।

cm shivraj

बालाघाट, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (MP) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj) ने आज बालाघाट जिले में समीक्षा बैठक की। इस दौरान उन्होंने एक तरफ जहां अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। वहीं संचालित विकास कार्य और हितग्राही मूलक योजनाओं की समीक्षा के साथ अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए हैं। सीएम शिवराज ने कहा कि जल जीवन मिशन (Jal jeevan mission)-PM Awas Yojana को गंभीरता से लिया और नियमित रूप से इसकी समीक्षा करें। इसके अलावा रीस्टोरेशन का काम अच्छे तरीके से किया जाना चाहिए।

सीएम राइज स्कूल

इसके अलावा सीएम राइज स्कूल पर अधिकारियों से जानकारी प्राप्त करते हुए सीएम शिवराज ने स्थिति के आकलन पर सवाल किए। जिस पर जवाब देते हुए अधिकारियों ने बताया कि सीएम राइज स्कूल का काम चालू है। फर्नीचर आ गए हैं। स्कूलों में पढ़ाई चालू हो गई है जबकि मलाजखंड में प्राइमरी और सेकेंडरी को क्लब किया गया है।

वही सीएम शिवराज ने पूछा कि सभी स्कूलों में किताबें उपलब्ध करा दी गई है? जिसके जवाब में अधिकारियों ने बताया कि स्कूलों में किताबें पहुंच गई है। एक से 12वीं तक की कक्षा की किताबों का 100% वितरण किया जा चुका है।

प्रधानमंत्री आवास योजना

पीएम आवास योजना की स्थिति पर जानकारी दी गई है कि कुछ आवास अपूर्ण हैं। हम लगातार मोटिवेट कर रहे हैं। ग्रामीण में हमने रेत का रेट कम कर दिया था तो तेजी आई है। सीएम शिवराज ने निर्देश देते हुए कहा कि पीएम आवास योजना में ग्रामीण और शहरी में सस्ती रेत उपलब्ध होना चाहिए। इसमें भ्रष्टाचार की शिकायत नहीं आना चाहिए। शहरी आवास के टारगेट मिशन मोड में पूरा करें।

Read More :  कर्मचारी-सेवानिवृत कर्मचारियों को राहत, शासन ने दी मंजूरी, पेंशन-विशेष चिकित्सा योजना का मिलेगा लाभ

सीएम ने कहा कि हम ट्रैकर से ट्रैक करते हैं कि एक महीने में कितने आवास पूर्ण होने हैं, इसके बारे में बताएं। जिसपर अधिकारियों ने कहा कि हमारा 500 का टारगेट था लेकिन अभी लक्ष्य पूरा नहीं हुआ है। सीएम शिवराज ने नाराजगी जताते हुए कहा कि मेरे पास सीएम हेल्पलाइन में जो शिकायत हैं, उनका प्रमाणिकता से निराकरण करें।

आवास प्लस में कितना टारगेट है? इसपर सीएम शिवराज ने जानकारी मांगी जिसपर आई जानकारी के मुताबिक बताया गया है कि 20,040 का टारगेट है,जिसमें 18,000 को दिया गया है। जबकि कुछ मामलों में पिता-पुत्र दोनों का आवेदन आते है, कुछ मामले की जांच कर रहे है। इसलिए अभी उसमें नहीं दिया गया हैं।

बिजली आपूर्ति

सीएम शिवराज ने बिजली आपूर्ति की स्थिति पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा कि काफी शिकायत हैं मेरे पास। जिसपर अधिकारियों ने कहा कि ऊर्जा विभाग हमेशा ‘A’ में रहा है। नक्सल क्षेत्र में लाइन क्षतिग्रस्त है। उसके अलावा कहीं ज्यादा दिक्कत नहीं है। लोगों को 23 घंटे बिजली मिल रही है।

जिसपर सीएम शिवराज ने कहा कि मेरे पास बिजली की शिकायत आती हैं। हमें सभी इश्यू रिज़ोल्व करने की जरूरत है। इसे ठीक किया जाये, मंत्री जी के साथ बैतहक कि जाए। कई चीजें ठीक की जा सकती हैं। जनता के साथ संवाद करें, शिविर लगाएं।

कई मुद्दों पर अप्रसन्नता व्यक्त करते हुए सीएम शिवराज ने कहा कि कुछ नक्सल प्रभावित गाँवों में बिजली की सतत आपूर्ति नहीं हो पा रही है, जिसपर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए हैं। वहीँ उन्होंने PWD और पेयजल के कार्यों में देरी होने पर अप्रसन्नता व्यक्त की है। साथ ही सीएम शिवराज ने पीएम आवास योजना, स्वामित्व योजना और राशन वितरण के क्रियान्वयन को लेकर प्रसन्नता व्यक्त की है।