सिंधिया के रोड शो के खिलाफ कांग्रेस की सड़क पर उतरने की तैयारी, बनाई रणनीति

यदि सिंधिया जी की स्वागत रैली हुई तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी,  इसका सड़कों पर विरोध करेगी

ग्वालियर, अतुल सक्सेना। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) 22 सितम्बर को तीन दिन के लिए ग्वालियर (Gwalior) आ रहे हैं। केंद्रीय मंत्री बनने के बाद पहली बार ग्वालियर आगमन को लेकर सिंधिया समर्थकों और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं में खासा उत्साह है। 22 को सिंधिया समर्थक उनके स्वागत के लिए एक जोरदार रोड शो (Road Show) की तैयारी कर रहे हैं उधर कांग्रेस (Congress) ने इस पर एतराज जताया है, कांग्रेस का कहना है कि जनहित के मुद्दे पर कांग्रेस धरना दे तो उसके खिलाफ FIR की जाती है लेकिन सिंधिया जी की भीड़ के लिए अनुमति दी जा रही है।  कांग्रेस ने चेतावनी दी कि यदि रोड शो होता है तो कांग्रेस विरोध करेगी।

केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया 22 सितम्बर को ग्वालियर आ रहे हैं।   अभी तक तय कार्यक्रम के मुताबिक सिंधिया वे नई दिल्ली  से सड़क मार्ग से ग्वालियर आएंगे। सिंधिया समर्थक केंद्रीय मंत्री के जोरदार स्वागत की तैयारी कर रहे हैं पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल , पूर्व विधायक मुन्नालाल गोयल बैठक कर तैयारियों को अंतिम रूप दे रहे हैं।  सिंधिया समर्थक मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर तैयारियां पर नजर रखे हुए हैं।  भारतीय जनता पार्टी ने नेता भी केंद्रीय मंत्री के स्वागत की तैयारी कर रहे हैं।

ये भी पढ़ें – MP News: युवाओं को लेकर CM Shivraj की बड़ी घोषणा, बोले- स्थानीय को मिलेगा मौका

बताया जा रहा है कि केंद्रीय ज्योतिरादित्य सिंधिया बहोड़ापुर से शिंदे की छावनी होते हुए गोरखी पहुंचेंगे इस दौरान  उनके स्वागत के लिए जगह जगह मंच बनाये जायेंगे। मंचों की संख्या करीब आधा सैकड़ा बताई जा रही है।  सिंधिया 22 सितम्बर को आएंगे रोड शो करेंगे और कार्यक्रमों में शामिल होंगे एवं 23 और 24 को जयविलास पैलेस में कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे।

ये भी पढ़ें – Gwalior News : बंदूक की दम पर बनाया बंधक, आदिवासी महिला की पेड़ से बांधकर मारपीट

उधर कांग्रेस के रोड शो पर कांग्रेस ने एतराज जताया है कांग्रेस नेताओं ने बैठक कर इसक अविरोध करने की रणनीति बनाई है।  कांग्रेस प्रवक्ता धर्मेंद्र शर्मा ने एमी ब्रेकिंग न्यूज़ से कहा कि यदि कांग्रेस जनहित के मुद्दे पर धरना देती है तो उसके विधायकों  और वरिष्ठ नेताओं के खिलाफ धारा 188 की कार्रवाई कर FIR की जाती है।  ऐसे में कोरोना काल में एक नेता को खुश करने के लिए जिला प्रशासन भीड़ जुटाने की अनुमति कैसे दे सकता है। उन्होंने कहा कि यदि सिंधिया जी की स्वागत रैली हुई तो कांग्रेस चुप नहीं बैठेगी,  इसका सड़कों पर विरोध करेगी और जरुरत पड़ी तो न्यायालय भी जाएगी।

ये भी पढ़ें – अब एक और सीएम बदलने की सुगबुगाहट ! दिल्ली बुलाए गए