खंडवा: जीवन दाता बना मासूम की ज़िंदगी का सौदागर! नाबालिग का प्रसव कर डॉक्टरों ने ढाई लाख में बेचा नवजात

मामले में डॉक्टर रेणु सोनी, डॉ. सौरभ सोनी सहित पांच आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

खंडवा, सुशील विधानी। खंडवा जिले में एक नवजात बच्चे के जन्म लेते ही डॉक्टरों ने उसे बेच दिया। एक नाबालिग का प्रसव कर डॉक्टरों द्वारा जन्मे नवजात की खरीद-फरोख्त का भंडाफोड़ हुआ है। अस्पताल के डॉक्टरों ने ही नवजात को ढाई लाख रुपए में सौदा कर दिया। इस मामले में पुलिस ने शहर के पड़ावा क्षेत्र के कथित डॉ. सौरभ सोनी, शहर की प्रतिष्ठित डॉक्टर स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉक्टर रेणु सोनी सहित पांच आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस डॉक्टर सौरभ सोनी को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

खंडवा: जीवन दाता बना मासूम की ज़िंदगी का सौदागर! नाबालिग का प्रसव कर डॉक्टरों ने ढाई लाख में बेचा नवजात खंडवा: जीवन दाता बना मासूम की ज़िंदगी का सौदागर! नाबालिग का प्रसव कर डॉक्टरों ने ढाई लाख में बेचा नवजात

जानकारी के अनुसार 6-7 दिन पहले खरगोन निवासी 16 वर्षीय किशोरी का प्रसव किया गया था, इस दौरान उसने बालक को जन्म दिया। नाबालिग के परिजन किशोरी को घर ले गए, लेकिन बच्चे को अस्पताल में ही छोड़ दिया। अस्पताल के कर्मचारी ने बच्चा कंचन बाई को दे दिया और उसे 500 रुपए देकर दूध पिलाने और 5 दिन रखने के लिए कहा। लेकिन शुक्रवार को जब बच्चा वापस मांगा तो कंचन बाई ने देने से इनकार कर दिया और एसपी से शिकायत कर दी। पुलिस ने केस दर्ज कर मामला जांच में लिया है। फिलहाल नवजात को जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में भर्ती कराया गया है।

खंडवा: जीवन दाता बना मासूम की ज़िंदगी का सौदागर! नाबालिग का प्रसव कर डॉक्टरों ने ढाई लाख में बेचा नवजात

ये भी देखें- दोस्ती से जीता भरोसा, फिर रेप कर बनाया वीडियो, अब VIRAL करने की दे रहा धमकी

मामले में डॉ. सौरभ सोनी, स्त्री रोग विशेषज्ञ रेणु सोनी के अलावा उनके अस्पताल में काम करने वाले मोहसिन खान, जिला अस्पताल की स्वास्थ कर्मी संजना पटेल, डॉक्टर सौरभ सोनी के कर्मचारी कमलेश पटेल के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। पुलिस ने शनिवार को जुवेनाइल जस्टिस एक्ट (जेजे एक्ट) व पाक्सो एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है।

ये भा देखें- MP Weather Alert: मप्र के 3 दर्जन से ज्यादा जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, बिजली गिरने के भी आसार

पुलिस के मुताबिक मेडिकल चौराहा स्थित सोनी हॉस्पिटल की संचालिका डॉ. रेणु सोनी और पड़ावा स्थित स्वाति फार्मा के डॉ. सौरभ सोनी द्वारा नाबालिगों का अवैध रूप से प्रसव कराया जा रहा है। शक है कि अवैध गर्भपात और अवैध प्रसव का यह खेल लंबे समय से जारी है। अवैध प्रसव से पैदा हुए नवजात बच्चों को बेच दिया जाता है। इस मामले में नवजात का ढाई लाख रुपए में सौदा भी कर लिया गया था, लेकिन महिला को देखभाल के लिए नवजात दिया गया उसने पूरी कहानी पुलिस को बता दी। फिलहाल मामले में फिलहाल पुलिस ने डॉक्टर सौरभ सोनी, मोहसीन को हिरासत में लिया है। जैसे- जैसे मामले की परते खुल रही हैं उससे कई बड़े अस्पतालों के डॉक्टरों के भी शामिल होने की आशंका जताई जा रही है।

https://vimeo.com/579042319