कर्मचारियों को त्योहार से पहले मिलेगा बड़ा तोहफा, सालाना वेतन वृद्धि की घोषणा, 1 सितंबर से होंगे प्रभावी, 96 प्रतिशत को मिलेगा लाभ

कर्मचारियों को उनके सितंबर वेतन में वार्षिक वेतन वृद्धि (annual increment) प्रदान की जाएगी।

cpc

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। लाखों कर्मचारियों (Employees) को त्योहार से पहले बड़ा तोहफा मिलेगा। 2022 में समाप्त होने वाले वित्तीय वर्ष के लिए कर्मचारियों को उनके सितंबर वेतन में वार्षिक वेतन वृद्धि (annual increment) प्रदान की जाएगी। 96% कर्मचारियों को इसका लाभ मिलना तय किया गया है। दरअसल पिछली तिमाही में वित्तीय दबाव के बावजूद वेतन वृद्धि (increment) सुनिश्चित की गई थी। वही आईटी कंपनी विप्रो (IT Company Wipro) द्वारा वित्तीय वर्ष में कर्मचारियों को उनके सितंबर वेतन में वृद्धि का लाभ दिया जाएगा।

इस मामले में Wipro के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सौरभ ने कंपनी के कर्मचारियों को भेजे गए आंतरिक मेल में लिखा है कि अगले कुछ दिनों में प्रबंधक से MSI पत्र कर्मचारियों को मिलेंगे। इस चक्र में वेतन वृद्धि प्रदर्शन और पात्रता मानदंडों को पूरा करने के आधार पर उपलब्ध कराई जाएगी। वहीं कंपनी के 96% कर्मचारियों को इसका लाभ मिलेगा। इसके अलावा 4% कर्मचारी में से कर्मचारी शामिल हैं जो या तो विस्तारित अवकाश या विश्राम पर हैं।

Read More : Indore : बच्चे का मर्डर करने वाले आरोपी को आज पुलिस करेगी कोर्ट में पेश, होगी मेडिकल रिपोर्ट

वही नियम के तहत C1 बैंड से ऊपर कर्मचारी प्रबंधक और उससे ऊपर को पिछले साल जून से प्रभावी वेतन वृद्धि उपलब्ध कराई गई। इस साल कर्मचारियों को केवल सितंबर से प्रभावी वेतन उपलब्ध कराया जाना है। इसके अलावा विभाग द्वारा जून में समाप्त तिमाही के लिए मध्य और वरिष्ठ स्तर के कर्मचारियों को अपरिवर्तनीय वेतन वापस रखने का फैसला किया गया या फिर फ्रेशर्स और जूनियर स्तर के कर्मचारियों को 30 फीसद की कटौती के साथ पर्वतनीय वेतन वृद्धि का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा।

इससे पहले कंपनी ने अपने एक ईमेल में कहा था कि ऑपरेटिंग मार्जिन के दबाव के कारण पर्वतनीय वेतन में कटौती की गई है। वही अपने लिखे पत्र में विप्रो ने स्पष्ट किया है कि सी बैंड और वरिष्ठ कर्मचारियों को परिवर्तनीय भुगतान उपलब्ध नहीं कराए जाएंगे। हालांकि ए और बी बेंड के कर्मचारियों को अगस्त के अंत तक लक्ष्य भुगतान के 70 फीसद उपलब्ध कराए जाएंगे।

कंपनी द्वारा अपने पत्र में यह भी स्पष्ट किया गया है कि वेतन निधि में किसी भी तरह के बदलाव नहीं होंगे और 1 सितंबर से यह प्रभावी होगी। बता दें कि इससे पहले टाटा कंसलटेंसी सर्विसेज पिछले साल 6 से 8% की वृद्धि की गई थी जबकि वर्ष 2022 के लिए वेतन पर ध्यान दिया गया। प्रबंध निदेशक राजेश गोपीनाथ ने अपने बयान में कहा था कि आमतौर पर अप्रैल से वेतन वृद्धि लागू करता है। जबकि इन्फोसिस के मुख्य कार्यकारी अधिकारी की मानें तो इंफोसिस द्वारा अपने कर्मचारियों को अप्रैल से प्रभावी वेतन वृद्धि का लाभ उपलब्ध कराया जाता है।