पूर्व मंत्री बोली- ‘महाराज का फोटो नहीं दिखे तो हमारा तो खून सूख जाता है’

Imarti बोली 'महाराज का फोटो तो होना चाहिए। उनका फोटो नहीं दिखता तो हमारा तो खून सूख जाता है।

निवाड़ी, मयंक दुबे। ज्योतिरादित्य सिंधिया (jyotiraditya scindia) के सबसे वफादार लोगों में शुमार पूर्व मंत्री इमरती देवी (imarti devi) ने पृथ्वीपुर विधानसभा उपचुनाव (Prithvipur assembly by-election) में सिंधिया (scindia) का फोटो नदारद रहने पर आपत्ति जताई है। उनका कहना है कि महाराज का फोटो ना देखे तो हमारा तो खून सूख जाता है।

अपनी साफगोई और बेबाक बातचीत के लिए मीडिया में जबरदस्त टीआरपी बटोरने वाली, कमलनाथ सरकार में महिला एवं बाल विकास मंत्री रह चुकी इमरती देवी पृथ्वीपुर विधानसभा उपचुनाव के लिए भाजपा प्रत्याशी के लिए वोट मांगने पहुंची थी। लेकिन यह क्या, वहां पर उनके प्रिय महाराज यानी ज्योतिरादित्य सिंधिया की पोस्टरो से फोटो नदारद की थी।

फिर क्या था इमरती को यह नागवार गुजरा और जब मीडिया ने सवाल पूछा तो दिल की बात जुबां पर आ गई। इमरती बोली ‘महाराज का फोटो तो होना चाहिए। उनका फोटो नहीं दिखता तो हमारा तो खून सूख जाता है।’ उन्होंने कहा कि वे स्थानीय नेताओं से बातचीत करेंगी कि महाराज की फोटो जरूर लगाई जाए।

Read More: Ujjain News: महाकाल में Oh My God 2 की शूटिंग पर बवाल, संतों ने किया विरोध

यह वही इमरती है जिन्होंने अपनी राजनीतिक प्रतिबद्धता समय-समय पर सिंधिया के प्रति दिखाई दी है। कांग्रेस छोड़ बीजेपी में सिंधिया के आने के निर्णय पर सबसे पहले हां कहने वाली इमरती ही थी। मंत्री पद को ठुकराते हुए उन्होंने सिंधिया से कहा था ‘महाराज आप कहेंगे तो मैं कुएं में कूद जाऊंगी।’ सचमुच वर्तमान राजनीति में प्रतिबद्धता की ऐसी मिसाले ना के बराबर है।

राजनीति में इस मुकाम पर आकर भी इमरती यह नहीं भूली कि वे अगर एक मजदूर पृष्ठभूमि से होने के बावजूद जिला पंचायत की अध्यक्ष, तीन बार विधायक और सरकार में मंत्री बनी तो वह सिर्फ और सिर्फ ज्योतिरादित्य सिंधिया की बदौलत और आज भी उनकी सिंधिया के प्रति त्याग और समर्पण की भावना न केवल दिखती है बल्कि दिल से भी है