कर्मचारियों के लिए सीएम की बड़ी घोषणा, 368 करोड़ रुपए जारी, 1 अक्टूबर को होगा भुगतान, 83000 रुपए तक बढ़ेगी राशि

तत्काल राशि जारी करने के आदेश भी दिए गए हैं। जिससे कर्मचारियों के खाते में 83000 तक रूपए बढ़ेंगे।

bhel employee bonus

हैदराबाद, डेस्क रिपोर्ट। राज्य सरकार ने फिर से अपने कर्मचारियों (Employees) को बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल त्योहार से पहले एससीसीएल के कर्मचारियों को एक भारी बोनस प्रदान किए गए। मुख्यमंत्री ने इसकी घोषणा की है। मुख्यमंत्री द्वारा बुधवार को 368 करोड़ रुपए का बोनस (Bonus) घोषित किया गया है। दरअसल 2021-22 के लिए कंपनी के लाभ के 30% हिस्से को कर्मचारियों के बोनस के लिए जारी किया गया। वहीं तत्काल राशि जारी करने के आदेश भी दिए गए हैं। जिससे कर्मचारियों के खाते में 83000 तक रूपए बढ़ेंगे।

एसीएलएल के 44000 से अधिक कर्मचारियों को 83 हजार से अधिक रुपए बोनस मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। वहीं बोनस का भुगतान 1 अक्टूबर को किया जाएगा। वहीं कंपनी के शेयरिंग प्रॉफिट की बात करें तो इस साल प्रॉफिट शेयरिंग बोनस पिछले साल घोषित बोनस की तुलना में 1% अधिक था यानी पिछले साल 29% बोनस की राशि का ऐलान किया गया था जबकि इस वर्ष इसे बढ़ाकर 30% यानी 368 करोड रुपए जारी किया गया है।

बता देगी कंपनी को 1722 करोड़ रुपए का सकल लाभ हुआ है 2013-14 में राज्य गठन से पहले कंपनी द्वारा 50.4 मिलियन टन कोयले का उत्पादन किया गया था जबकि 2021-22 में इसमें 29% की वृद्धि देखी गई है। वही साल के अंत में कराधान के बाद 1227 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ रिकॉर्ड किया गया। जिसके बाद कर्मचारियों को बोनस के रूप में 368 करोड रुपए जारी किए गए हैं।

वहीं कर्मचारियों को अन्य बड़े लाभ दिए जा रहे हैं मुख्यमंत्री द्वारा श्रमिकों के साथ बैठक की गई थी।जिसके परिणाम स्वरूप उच्च उत्पादकता में योगदान वृद्धि देखने को मिल रही है। साथ ही कर्मचारियों के बच्चों के लिए अनुकंपा रोजगार भी लागू किया गया है। श्रमिक और उनके माता-पिता को सुपर स्पेशलिटी चिकित्सा उपचार घर बनाने के लिए श्रमिकों को 10 लाख के ऋण पर ब्याज भुगतान और क्वार्टर के लिए वातानुकूलित सुविधा भी उपलब्ध कराई जा रही है।

Read More : CM ने कर्मचारियों को दिया बड़ा तोहफा, DA में 4 फीसद की वृद्धि, बढ़कर हुए 38 फीसद, 3 महीने के एरियर्स का होगा भुगतान, खाते में बढ़ेगी राशि

वही कंपनी द्वारा दुर्घटना में मारे जा रहे श्रमिकों के परिवार को दिए जाने वाले मिला अनुदान में भी 10 गुना की वृद्धि की गई है। साथ ही बिजली शुल्क को रद्द कर दिया गया है। उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे श्रमिकों के बच्चे के लिए शुल्क का भुगतान अग्रिम त्योहार वृद्धि और कैंटीन के आधुनिकरण सहित अन्य उपायों को भी लागू किया गया है।

मामले में एससीसीएल के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक एंन श्रीधर का कहना है कि कंपनी द्वारा 2021 -22 में केंद्र और राज्य सरकार को करो के रूप में 3596 करोड़ रुपए का भुगतान किया गया था। वही 6.5 करोड़ कोयले का उत्पादन किया गया है। इसमें 37% की वृद्धि दर्ज की गई है। वही आंकड़ों की जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि बिक्री भी 123% बढ़कर 2013-14 के 11928 करोड रुपए के मुकाबले 26607 करोड रुपए की गई है।

इससे कंपनी को मुनाफा भी काफी हुआ है और मुनाफे का हिस्सा बढ़कर 193 फीसद हो गया है 2013-14 में कंपनी द्वारा 419 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ कमाया गया था, जो अब बढ़कर 1227 करोड़ रुपए आंका गया है।