करोड़ों कर्मचारियों-लाभार्थियों के लिए अच्छी खबर, जल्द खाते में आएंगे लगभग 56 हजार तक रुपए, मिलेगा लाभ

जल्द लाभार्थियों के खाते में ब्याज का पैसा ट्रांसफर किया जाएगा। जिसका लाभ 6 करोड़ से अधिक लोगों को होगा।

cpcss

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कर्मचारियों (Employees) को जुलाई से अगस्त महीने के बीच कई बड़े लाभ उपलब्ध कराए जाएंगे। एक तरफ जहां डीए वृद्धि (DA Hike) की संभावना तेज हो गई है। वहीं दूसरी तरफ एरियर्स (Arreas) को लेकर भी कोई अच्छी खबर आ सकती है। इसी बीच ईपीएफओ (EPFO) द्वारा भी ब्याज दर की राशि को जल्द ही कर्मचारी सहित लाभार्थियों के खाते में क्रेडिट (Credit) किया जाएगा।

पीएफ खाताधारक लंबे समय से सरकार की ओर से दिए जाने वाले ब्याज के पैसे क्रेडिट किए जाने की राह देख रहे हैं। उसके दावों की माने तो पीएफ विभाग (PF Department) द्वारा जल्दी लाभार्थियों के खाते में ब्याज का पैसा ट्रांसफर किया जाएगा। जिसका लाभ 6 करोड़ से अधिक लोगों को होगा। वही इस साल 8.1 फीसद की दर से ब्याज खाते में क्रेडिट किया जाना है।

गौरतलब है कि वित्त वर्ष 2019-20 में 8.5% ब्याज की घोषणा सरकार ने पहले ही कर दी थी इसलिए इस बार कर्मचारी काफी निराश हैं। ईपीएफओ की ओर से ब्याज के पैसे जमा करने की तारीख आधिकारिक तौर पर प्रकाशित नहीं की गई है, मीडिया रिपोर्ट्स के जरिए दावा किया गया है कि बहुत जल्द कर्मचारियों को पैसा दिया जाएगा।

Read More : MP News : लापरवाही पर बड़ा एक्शन, CEO-पटवारी सहित 7 निलंबित, 12 को नोटिस जारी

आपके खाते में कितना पैसा आएगा?

सरकार पीएफ कर्मचारियों के खाते में 8.1% ब्याज राशि डालेगी, जिससे लाखों परिवारों को फायदा होगा। अगर आपके खाते में 600000 तक रुपए हैं तो 48000 रुपए का ब्याज ट्रांसफर किया जाएगा। वहीं यदि खाते में रकम 50000 रुपए है तो लाभार्थी को 4000 रुपए का फायदा होगा। अगर आपके खाते में 7 लाख रुपए हैं तो 56,000 रुपए का ब्याज ट्रांसफर किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने सेवानिवृत्ति निधि निकाय के लगभग पांच करोड़ ग्राहकों के लिए 2021-22 के लिए कर्मचारी भविष्य निधि (ईपीएफ) जमा पर 8.1 प्रतिशत की ब्याज दर को मंजूरी दी है। हालांकि ब्याज दर 1977-78 के बाद से सबसे कम है, 1977-78 में यह 8 प्रतिशत थी। इससे पहले मार्च में, ईपीएफओ ने पीएफ जमा पर ब्याज को 2020-21 में 8.5 प्रतिशत से घटाकर 2021-22 के लिए 8.1 प्रतिशत करने का फैसला किया था।

श्रम मंत्रालय ने सहमति के लिए वित्त मंत्रालय को प्रस्ताव भेजा था। ब्याज दर के लिए सरकार की सहमति के बाद, ईपीएफओ अब ईपीएफ खातों में वित्तीय वर्ष के लिए निश्चित ब्याज दर जमा करना शुरू कर देगा। 2020-21 के लिए ईपीएफ जमा पर 8.5 प्रतिशत ब्याज दर मार्च 2021 में केंद्रीय न्यासी बोर्ड (सीबीटी) द्वारा तय की गई थी और अक्टूबर 2021 में वित्त मंत्रालय द्वारा अनुमोदित की गई थी। मार्च 2020 में, EPFO ​​ने भविष्य निधि जमा पर ब्याज दर को 2019-20 के लिए सात साल के निचले स्तर 8.5 प्रतिशत कर दिया था। 2018-19 में ब्याज दर 8.65 प्रतिशत था।

Read More : बिजली कंपनियों को EC के निर्देश, वोटिंग और काउंटिंग के दौरान बिना रुकावट हो बिजली सप्लाई

ईपीएफओ ने 2016-17 में अपने ग्राहकों को 8.65 फीसदी और 2017-18 में 8.55 फीसदी ब्याज दर मुहैया कराई थी। 2015-16 में ब्याज दर 8.8 प्रतिशत से थोड़ी अधिक थी। इसने 2013-14 के साथ-साथ 2014-15 में 8.75 प्रतिशत ब्याज दिया था, जो 2012-13 के 8.5 प्रतिशत से अधिक था। 2011-12 में ब्याज दर 8.25 फीसदी थी।

उमंग ऐप के जरिये राशि की जाँच

  • अपने स्मार्टफोन में प्ले स्टोर से उमंग ऐप डाउनलोड करें।
  • अपना फोन नंबर रजिस्टर करके ऐप में लॉग इन करें।
  • ऊपरी बाएँ कोने के मेनू में सेवाएँ निर्देशिका पर जाएँ।
  • यहां ईपीएफओ विकल्प पर क्लिक करें।
  • व्यू पासबुक में जाने के बाद अपना यूएन नंबर और ओटीपी के जरिए बैलेंस चेक करें।
  • इससे आप आसानी से अपना पीएफ अकाउंट चेक कर सकते हैं।

SMS के जरिए जाँच

पीएफ खाते में कितना पैसा है आप घर बैठे अपने मोबाइल से चेक कर सकते हैं। आपको बस इतना करना है कि – EPFO ​​UAN LAN लिखकर EPFO ​​रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से 7738299899 पर भेज दें। यदि आपको अंग्रेजी में जानकारी चाहिए, तो आपको LAN के बजाय ENG टाइप करना चाहिए।