कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, DA में वृद्धि की घोषणा, सितम्बर में मिलेगा 34% महंगाई भत्ता, छात्रों को छात्रवृत्ति, विशेष अनुदान और प्रोत्साहन का लाभ

साथ ही वर्ष 2022-23 के लिए मत्स्य उत्पादन लक्ष्य को बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए।

cpcss

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। महीने के आखिरी दिन कर्मचारियों (Employees) को राहत दी गई है। दरअसल सातवां वेतनमान पा रहे कर्मचारियों के महंगाई भत्ते (7th pay commission Employees DA) में फिर से वृद्धि की घोषणा कर दी गई है। उनके महंगाई भत्ते को 3 फीसद की दर से बढ़ाया गया है। महंगाई भत्ता 1 अगस्त 2022 से स्वीकृत होगा जिसके बाद कर्मचारियों को अब कुल 34% डीए का लाभ मिलेगा।

दरअसल कर्मचारियों को मूल वेतन पर महंगाई भत्ते उपलब्ध कराए जाने हैं। मछुआ कल्याण विभाग मंत्री तुलसीराम सिलावट की अध्यक्षता में हुई बैठक में मत्स्य महासंघ के कर्मचारियों को 34% महंगाई भत्ता स्वीकृत किया गया है। इसके साथ ही समाज के बच्चों को उच्च शिक्षा का लाभ देने के लिए छात्रवृत्ति की राशि बढ़ाकर 25 लाख रुपए की गई है।

Read More : डबरा की जनता ने हमपर विश्वास जताया है, हम उस विश्वास को कायम रखेंगे : सतेंद्र दुबे

इतना ही नहीं इस समाज से जुड़े लोगों को मुख्यधारा से जोड़ने के लिए विशेष अनुदान और प्रोत्साहन राशि देने विशेष कैंप लगाया जाएगा। छात्र छात्रों को कोचिंग की सुविधा उपलब्ध कराने का प्रस्ताव समिति की आगामी बैठक में रखने का निर्णय लिया गया है। वही रोजगार के नवीन साधन उपलब्ध कराए जाएंगे। मत्स्य महासंघ और विभाग द्वारा वित्तीय वर्ष की राशि का पूरा उपयोग नहीं होने पर मंत्री ने नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने निर्देश दिया है कि आवंटित बजट राशि का पूरा उपयोग किया जाए। इसके साथ ही वर्ष 2022-23 के लिए मत्स्य उत्पादन लक्ष्य को बढ़ाने के भी निर्देश दिए गए।

राज्य शासन द्वारा कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 3 फीसद की वृद्धि की घोषणा की गई थी। महंगाई भत्ते में 3 फीसद की वृद्धि की घोषणा के साथ ही विभागों और अन्य कर्मचारियों के लिए भी महंगाई भत्ता बढ़ने का सिलसिला जारी रहा। राज्य शासन के कर्मचारियों के डीए में वृद्धि के बाद मध्य विद्युत वितरण कंपनी द्वारा भी कार्यरत कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 3 फीसद की वृद्धि की घोषणा कर दी गई थी। जिसके लिए आदेश भी जारी कर दिया गया था। अब मत्स्य महासंघ के कर्मचारियों के डीए में वृद्धि की घोषणा की गई है।