कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, रिटायरमेंट आयु बढ़कर 65 वर्ष, मिली मंजूरी, इस तरह मिलेगा लाभ

इससे पहले कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 58 साल थी। जिसे अब बढ़ाकर 65 वर्ष तक किया जाएगा।

government employee news
demo pic

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। कर्मचारियों (Employees) के लिए अच्छी खबर है। रिटायरमेंट उम्र (Retirement Age) पर एक तरफ जहां देशभर में कई तरह की दलील और दावे (arguments and claims) प्रस्तुत किए जा रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ कर्मचारियों को 65 वर्ष की आयु तक सेवा में बने रहने की अनुमति देने का निर्णय लिया गया है। दरअसल इससे पहले कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति आयु 58 साल थी। जिसे अब बढ़ाकर 65 वर्ष तक किया जाएगा।

कंपनी के विस्तार के प्रयास में एयर इंडिया ने बड़ा फैसला लिया है। अब पायलटों को 65 साल की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति दी जाएगी। 29 जुलाई को एक दस्तावेज में कहा गया है कि नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति दी है। इससे पहले एयर इंडिया में पायलटों की सेवानिवृत्ति आयु 58 साल थी।

Read More : अब “सप्ताह का धागा” पिरोएंगे मंत्री भूपेंद्र सिंह, पीएम मोदी की “मन की बात” की तर्ज पर MP में नई पहल

डीजीसीए के एक आदेश में कहा गया है कि पायलटों को 65 वर्ष की आयु तक उड़ान भरने की अनुमति देना अभ्यास के तहत एक प्रक्रिया है और उद्योग में एयरलाइंस कंपनियां इसका पालन कर रही है। दरअसल टाटा समूह के स्वामित्व वाली एयर इंडिया जल्द ही 200 से अधिक ने विमान खरीद ली। दरअसल इस पर विचार किया जा रहा है। वहीं विमान के लिए पायलटों कोई बार फिर से कॉन्ट्रैक्ट नियुक्ति दी जा सकती है। बता दें कि इसके लिए सेवानिवृत्त हुए पायलटों से संपर्क साधा गया था।

इससे पहले कंपनी द्वारा कहा गया था कि अपनी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एयर इंडिया में वर्तमान प्रशिक्षित पायलटों को रिटायरमेंट के बाद 5 साल के लिए अनुबंध के आधार पर नियुक्त किया जाएगा और 65 साल तक उनकी आयु सीमा को बढ़ाने का प्रस्ताव तैयार किया गया है। साथ ही अगले 2 वर्ष में रिटायर होने वाले पायलटों की पात्रता की जांच के लिए मानव संसाधन विकास संचालन विभाग और उड़ान सुरक्षा विभाग के अधिकारियों की एक समिति भी गठित की जाएगी। जो पायलटों के पिछले रिकॉर्ड के साथ ही अनुशासन उड़ान, सुरक्षा और उनकी सतर्कता की जांच करेगी और दस्तावेज में इसका उल्लेख किया जाएगा।

पायलटों की समीक्षा के बाद विभाग प्रमुख को सेवानिवृत्ति के बाद अनुबंध जारी करने के लिए शॉर्टलिस्ट किए गए नामों की सिफारिश की जाएगी और 5 साल की अवधि के लिए अनुबंध पर नियुक्त हुए कर्मचारियों की आयु सीमा को 65 साल तक लिए बढ़ाया जा सकेगा। वही जो कर्मचारी 63 वर्ष की आयु तक 5 वर्ष की संतोषजनक सेवा पूर्ण करेंगे। उनकी विस्तृत जांच समिति द्वारा रिपोर्ट तैयार की जाएगी और उनकी आयु सीमा को भी 65 वर्ष की आयु तक बढ़ाने पर विचार किया जा रहा है।