कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, जल्द खाते में आएंगे 81000 तक रुपए, पेंशन-PF में इस तरह मिलेगा लाभ

सरकार द्वारा ब्याज के रूप में 72000 करोड़ रुपए नौकरी पेशा धारक सहित कर्मचारियों को भुगतान किया जाएगा।

cpcc

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों (Employees) को महंगाई भत्ते में वृद्धि (DA Hike)) कर बड़ी राहत दी गई है। दिवाली से पहले कर्मचारियों के वेतन (salary) में बंपर वृद्धि देखने को मिलेगी। इसके साथ ही जल्द ही ईपीएफओ के ब्याज (EPF Interest) का भुगतान किया जा सकता है। माना जा रहा है कि अक्टूबर महीने के अंत तक कर्मचारियों के खाते में ब्याज की राशि भेज दी जाएगी।

दरअसल सरकार द्वारा 7 करोड़ से अधिक इपीएफ अकाउंट होल्डर्स के खाते में वित्तीय वर्ष 2022 के ब्याज का भुगतान करना है कि इस वर्ष के लिए ब्याज की राशि 8.1 फीसद की दर से भुगतान की जाएगी। साथ ही कर्मचारियों के खाते में ₹81000 तक रुपए भेजे जाएंगे। दरअसल सब्सक्राइबर के खाते में जितनी रकम होगी उसके 8.1 फीसद की दर से उसे ब्याज का भुगतान किया जाता है।

Read More : कर्मचारियों को जल्द मिलेगी खुशखबरी, लागू हो सकती है ये खास योजना, प्रमोशन पर भी बड़ी अपडेट

सूत्रों से मिल रही खबर के मुताबिक कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा वित्त वर्ष 2022 में पीएफ खाते में मिलने वाली ब्याज की गणना कर ली गई है। खाताधारकों के खाते में इसे अगले महीने ट्रांसफर किए जाने की संभावना भी तेज है। जानकारी के मुताबिक सरकार द्वारा ब्याज के रूप में 72000 करोड़ रुपए नौकरी पेशा धारक सहित कर्मचारियों को भुगतान किया जाएगा। वही ब्याज दर कम होने की वजह से मारा जा रहा है कि इस वर्ष सरकार ब्याज राशि पहले जारी कर सकती है।

दरअसल इस साल ब्याज 40 साल की सबसे निम्न स्तर पर है। ब्याज दर 8.1 फीसद चेक किया गया है आपके पीएफ खाते में 10 लाख तक रुपए है तो ब्याज के रूप में आपको 81000 रुपए मिलेंगे।

वहीं यदि सब्सक्राइबर के पीएफ खाते में ₹7 लाख हैं तो उन्हें ब्याज के रूप में ₹56700 प्राप्त होंगे। पीएफ खाते में 5 लाख रुपए रहने पर ब्याज के रूप में ₹40500 का भुगतान किया जाएगा।

ई-नॉमिनेशन के लाभ

इससे पहले सरकार द्वारा परिवार के लोगों को कुशल संरक्षण की गारंटी देने के लिए ई-नॉमिनेशन की प्रक्रिया को विकसित किया गया है। दरअसल ईपीएफ खाताधारक अपनी मृत्यु के मामले में लाभ प्राप्त करने के लिए किसी भी पारिवारिक सदस्य को अपने नॉमिनी के रूप में नामित कर सकते हैं। इसके साथ ही नामित नॉमिनी को कई अन्य लाभ भी उपलब्ध कराए जाएंगे।

  • ईपीएफ में नामांकन होने पर बिना किसी भौतिक कागजी कार्रवाई के साथ लाखों रुपए तक के पात्र नामांकित व्यक्तियों को पीएफ, पेंशन और बीमा के ऑनलाइन दावे निपटान सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी।
  • वही नॉमिनेशन का उपयोग कर खाताधारक अपने कर्मचारी को फिजिकल फॉर्म जमा किए बिना UAN साइट के माध्यम से नामांकन को ऑनलाइन में बदल सकते हैं।

ईपीएफ ई-नॉमिनेशन कैसे फाइल करें?

  • इन आसान चरणों का पालन करके ईपीएफओ वेबसाइट पर ईपीएफ खातों में ई-नामांकन को पूरा करने के लिए यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (यूएएन) का उपयोग किया जा सकता है:
  • ईपीएफओ की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करें या epfindia.gov.in पर क्लिक करें।
  • “सेवा” पर क्लिक करें और फिर “कर्मचारियों के लिए”
  • सदस्य यूएएन/ऑनलाइन सेवा (ओसीएस/ओटीपी) पर क्लिक करें।
  • अपने यूएएन और पासवर्ड का उपयोग करके अपने खाते में लॉग इन करें
  • ‘मैनेज टैब’ के तहत ‘ई-नॉमिनेशन’ पर क्लिक करें
  • अब आपकी स्क्रीन पर एक टैब ‘विवरण प्रदान करें’ दिखाई देगा, ‘सहेजें’ पर क्लिक करें
  • पारिवारिक घोषणा को अपडेट करने के लिए ‘हां’ विकल्प पर टैप करें
  • ‘पारिवारिक विवरण जोड़ें’ पर क्लिक करें और आवश्यक जानकारी भरें। आप एक से अधिक नॉमिनी जोड़ सकते हैं।
  • अब, शेयर की कुल राशि घोषित करने के लिए ‘नामांकन विवरण’ पर क्लिक करें। इसके बाद, ‘सेव ईपीएफ नॉमिनेशन’ पर क्लिक करें।
  • आधार से जुड़े अपने मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त करने के लिए ‘ई-साइन’ चुनें
  • एक बार आपका ई-नामांकन ईपीएफ सिस्टम पर पंजीकृत हो जाने के बाद आपको नियोक्ता या पूर्व-नियोक्ता को कोई दस्तावेज भेजने की आवश्यकता नहीं है।