कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, रिटायरमेंट उम्र में 2 साल की वृद्धि, 65 से बढ़कर 67 होगी सेवानिवृत आयु, CM के पास पहुंची फाइल, मिलेगा लाभ

कैबिनेट की मंजूरी मिलने के साथ ही रिटायरमेंट उम्र को 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष कर दिया जाएगा।

employees news
DEMO PIC

रांची, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश के शासकीय कर्मचारियों (Government Employees-Doctors) के लिए अच्छी खबर है। दरअसल एक बार फिर से उनके सेवानिवृत्ति आयु (Retirement age) को 2 वर्ष के लिए बढ़ाया जाएगा। इसके लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। वहीं विभाग (Department) के प्रस्ताव पर वित्त और कार्मिक विभाग ने अपनी स्वीकृति प्रदान कर दी है। जल्द ही कर्मचारियों की सीमा को 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष किया जाएगा।

दरअसल प्रदेश में शासकीय डॉक्टरों की भारी कमी को देखते हुए उनके रिटायरमेंट उम्र को बढ़ाकर 67 वर्ष किया जा रहा है। इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव पर वित्त और कार्मिक विभाग ने स्वीकृति दे दी है। अब इस प्रस्ताव को मुख्यमंत्री के पास भेजा जाएगा। वही कैबिनेट की मंजूरी मिलने के साथ ही गैर शैक्षणिक संवर्ग के डॉक्टर की रिटायरमेंट उम्र को 65 वर्ष से बढ़ाकर 67 वर्ष कर दिया जाएगा।

Read More : IMD Alert: 11 राज्यों में 4 अगस्त तक बारिश का अलर्ट, गंगा के मैदानी क्षेत्र में सक्रिय होगा मानसून, दिल्ली-UP-बिहार के लिए जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

इसके लिए चर्चा 3 साल पहले से की जा रही है। राज्य के गैर शैक्षणिक डॉक्टरों की आयु सीमा बढ़ाने को लेकर 2019 में प्रस्ताव तैयार किया गया था। जिसके बाद विभागीय मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी की सहमति मिल गई थी। इसके बाद फाइल को वित्त विभाग के पास भेजा गया था। हालांकि इसके लिए 3 साल तक कई वजहों से मामला अधर में अटक गया था।

इससे पहले डॉ की रिटायरमेंट उम्र 60 से बढ़ाकर 62 वर्ष किया गया था। हालांकि फिर इसमें 3 साल की वृद्धि के साथ इसे 65 कर दिया गया था। एक बार फिर से इसे 2 साल आगे बढ़ाने की तैयारी कर ली गई है। इस संबंध में डॉक्टरों को प्रमाण पत्र देना होगा, जिससे इस बात के स्पष्ट हो जाएगी कि वह सेवा देने के लिए मेडिकली फिट है।

यदि अगले 2 साल में डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति आयु की उम्र को नहीं बनाया जाता है तो प्रदेश के लगभग 150 डॉक्टर रिटायर हो जाएंगे। वहीं राज्य में डॉक्टरों की नियुक्ति जल्द की जाएगी। स्पेशलिस्ट डॉक्टर के 934 सहित मेडिकल ऑफिसर के 234 पदों पर नियुक्ति के लिए जेपीएससी को अधियाचना भेजा जाएगा।