MP : शिक्षकों के लिए अच्छी खबर, भरे जाएंगे 1729 रिक्त पद, 13 जुलाई तक करे आवेदन, इस तरह मिलेगी नियुक्ति

शिक्षक की पदस्थापना पात्रता परीक्षा की मेरिट लिस्ट के क्रम के आधार पर होगी।

सांकेतिक तस्वीर

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में शिक्षकों (MP Teachers) के लिए बड़ी खबर है। दरअसल सीएम राइज स्कूल (CM Rise School) में शिक्षक भर्ती (Teacher Recruitment) के लिए 8 महीने से प्रक्रिया पूरी की जा रही है। दरअसल शिक्षक और प्राचार्य पद पर पद स्थापना की प्रक्रिया जारी है। इसी बीच नवनियुक्त उच्च माध्यमिक शिक्षा माध्यमिक शिक्षकों से आवेदन आमंत्रित किए जा रहे हैं। इसके लिए 13 जुलाई को आवेदन की अंतिम तिथि की घोषणा की गई है।

बता दें कि पूर्व में चयनित 275 सीएम राइज स्कूलों में शिक्षक पद स्थापना के लिए 8 से 13 जुलाई तक विमर्श पोर्टल पर आवेदन की प्रक्रिया शुरू की गई थी। 1 दिन के बाद आवेदन की प्रक्रिया को रोक दिया जाएगा। वही सीएम राइज स्कूल शिवराज सरकार की महत्वपूर्ण योजनाओं में से एक है। इसके लिए शिक्षकों की पदस्थापना पात्रता परीक्षा की मेरिट लिस्ट के आधार पर होगी। शिक्षक चयनित 275 सीएम राइज विद्यालय में पदस्थ होने के लिए 13 जुलाई तक विमर्श पोर्टल पर आवेदन कर सकेंगे।

बता दें कि इससे पहले पात्रता परीक्षा से स्कूल शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षक वर्ग के लोक सेवकों को सीएम राइज स्कूलों में नवीन पदस्थापना सौंपी गई थी। हालांकि 1729 शेष बचे रिक्त पदों के लिए अब नवनियुक्त उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षा के लिए आवेदन मांगे गए हैं। चयन के आधार पर पदस्थापना का दावा नहीं किया जा सकेगा। वहीं शिक्षक की पदस्थापना पात्रता परीक्षा की मेरिट लिस्ट के क्रम के आधार पर होगी।

Read More : MP College : UG-PG प्रवेश प्रक्रिया पर छात्रों के लिए आई नवीन अपडेट, जानना आवश्यक इस तरह मिलेगा लाभ

विभागीय रिपोर्ट की माने तो 275 स्कूलों में अंग्रेजी के 194, हिंदी के 210, भूगोल के 129, संस्कृत के 63, फिजिक्स के 148, गणित के 130, इतिहास के 100, कॉमर्स के 85, इकोनॉमिक्स के 205, बायलॉजी के 121, केमिस्ट्री की 178 सहित राजनीतिक विज्ञान के 182 पद रिक्त है।

सीएम राइज स्कूलों में सत्र का आरंभ कर दिया गया लेकिन अभी तक शिक्षक नहीं होने की वजह से छात्रों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। 30000 शिक्षकों की परीक्षा ली गई थी। जिसमें से 16000 का चयन किया गया है। वहीं करीब 4000 शिक्षक ही इन स्कूलों में नियुक्त हो पाए हैं। वहीं स्कूलों में प्राचार्य-उप प्राचार्य की पदस्थापना इंटरव्यू के आधार पर की गई थी जबकि वरिष्ठ शिक्षकों की पदस्थापना की तैयारी चल रही है।