सरकार का फैसला, नए साल में कर्मचारियों को मिलेगी सौगात, बढ़ेगा 1,620 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च

उन्होंने कहा कि आमतौर पर, राज्य सरकार केंद्र की घोषणा के तुरंत बाद डीए वृद्धि की घोषणा करती है। यह पहली बार है जब हम ऐसा परिदृश्य देख रहे हैं।

चेन्नई, डेस्क रिपोर्ट। मोदी सरकार (Modi Government) द्वारा त्योहारी सीजन में 7th pay commission कर्मचारियों के लिए बड़े ऐलान किए गए हैं। डीए वृद्धि (DA Hike) सहित कर्मचारियों के लिए कई बड़ी घोषणा की गई है। इसी बीच राज्य सरकार ने अपने कर्मचारियों के डीए वृद्धि को लेकर बड़ा फैसला लिया है। सीएम ने कहा कि सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता (Dearness allowance) तीन महीने के लिए बढ़ाया जाएगा और इसे 1 जनवरी, 2022 से लागू किया जाएगा।

मुख्यमंत्री एम के स्टालिन ने विधानसभा में घोषणा की थी कि सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के लिए बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता तीन महीने आगे बढ़ाया जाएगा और इसे 1 जनवरी, 2022 से लागू किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि संशोधित बजट (2021-22) में कर्मचारियों और पेंशनभोगियों के डीए में 1 अप्रैल, 2022 से वृद्धि की घोषणा की गई थी। हालांकि, सरकारी कर्मचारियों के संघों से प्राप्त अभ्यावेदन पर विचार करते हुए, गंभीर वित्तीय बाधाओं के बावजूद 1 जनवरी, 2022 से उनके और पेंशनभोगियों के लिए डीए वृद्धि लागू की जाएगी।

Read More: छात्रों को मिलेगा 36,200 रुपये तक की 4 छात्रवृत्ति योजना का लाभ, यहाँ देखें पात्रता सहित अन्य जानकारी

इस कदम से 16 लाख सरकारी कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को फायदा होगा और महंगाई भत्ते में बढ़ोतरी से तीन महीने के लिए 1,620 करोड़ रुपये का अतिरिक्त खर्च होगा और एक साल के लिए यह खर्च 6,480 करोड़ रुपये होगा। एक सरकारी कर्मचारी संघ के एक पदाधिकारी ने कहा कि डीए को अब तक की प्रथा के अनुरूप केंद्र की 11 प्रतिशत की घोषणा के बराबर बढ़ाने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि आमतौर पर, राज्य सरकार केंद्र की घोषणा के तुरंत बाद डीए वृद्धि की घोषणा करती है। यह पहली बार है जब हम ऐसा परिदृश्य देख रहे हैं। सरकारी कर्मचारियों के संघ 11 फीसदी डीए बढ़ाने की मांग कर रहे हैं। 1 जुलाई, 2021 से प्रभावी, केंद्र ने केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को क्रमशः डीए और महंगाई राहत में 11 प्रतिशत की वृद्धि (17 प्रतिशत से 28 प्रतिशत) की घोषणा की थी।