सरकार ने मनरेगा कर्मचारियों को दिया तोहफा, मानदेय में 3500 रुपए से अधिक की वृद्धि, अगस्त से होगा भुगतान, खाते में बढ़ेगी राशि

वहीं कंप्यूटर सहायक को 14800 रूपए अगस्त महीने से उपलब्ध कराए जाएंगे।

employees news

रांची, डेस्क रिपोर्ट। सरकार ने मनरेगा कर्मचारियों (MNREGA Employees) को बड़ा तोहफा दिया है। दरअसल उनके वेतन (Increment) में वृद्धि की है। दरअसल उनके मानदेय (honorarium hike) को 35 से अधिक से बढ़ाया गया है। साथ ही उन्हें बढ़े हुए मानदेय का भुगतान अगस्त महीने से किया जाएगा। एक तरफ जहां 5 वर्ष से कम अनुभव रखने वाले ब्लॉक प्रोग्राम अफसर (Block program officer) के मानदेय में 3640 रूपए की वृद्धि की गई है।

वही उनके मानदेय को 19500 रूपए से बढ़ाकर 23140 रूपए किया गया है। राज्य के मनरेगा के तहत संविदा पर कार्यरत पदाधिकारी और कर्मचारियों के मासिक मानदेय में भी संशोधन का फैसला लिया गया। मनरेगा कर्मचारियों के सभी विंग में केवल दो स्लैब निर्मित किए गए हैं। एक 5 वर्ष से अधिक कार्य अनुभव रखने वाले कर्मचारी और एक 5 वर्ष से कम कार्य अनुभव रखने वाले कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि की गई है।

Read More : शासकीय कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, सेवानिवृत्ति आयु में 2 वर्ष की वृद्धि, कैबिनेट में लगी मुहर, 65 से बढ़कर हुई 67 वर्ष, मिलेगा लाभ

राज्य सरकार ने अन्य वृद्धि के तहत 5 वर्ष से कम कार्य अनुभव रखने वाले ग्राम रोजगार सेवक के मानदेय 7500 से बढ़ाकर 11000 रूपए की है। इसके साथ ही उनके मानदेय में 3500 रूपए की भारी वृद्धि की गई है। साथ ही अन्य श्रेणियों के कर्मचारियों के मानदेय में वृद्धि की घोषणा की गई है। इसके अलावा रोजगार सहायकों को मानदेय बढ़ाकर 11000 रूपए किया गया जबकि लेखा सहायक के मानदेय को बढ़ाकर 14300 रूपए किया गया है। वहीं कंप्यूटर सहायक को 14800 रूपए अगस्त महीने से उपलब्ध कराए जाएंगे।

साथ ही अब कनीय अभियंता को 19000 रूपए, सहायक अभियंता को 22500 रूपए और प्रखंड कार्य पदाधिकारी को 23700 रूपए मानदेय में बढ़ोतरी की गई है। हलाकि मनरेगा कर्मचारी संघ इस वृद्धि से संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि 2 से ढाई हजार की बढ़ोतरी करने का काम किया है। सरकार कर्मचारियों के साथ वादाखिलाफी कर रही है। इससे राज्य भर के मनरेगा कर्मचारी आक्रोशित है और 1 अगस्त को विधानसभा का घेराव करने की तैयारी कर रहे हैं। इधर मनरेगा कर्मचारियों को 1 अगस्त से बढ़े हुए मानदेय का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा। साथ ही उनके खाते में बढ़ी हुई राशि ट्रांसफर की जाएगी।