हनुमान चालीसा विवाद : राणा दंपति को बड़ा झटका, भेजे गए 14 दिन की न्यायिक हिरासत में, राजद्रोह का आरोप

नवनीत राणा ने दावा किया कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में बंगाल जैसी स्थिति पैदा कर रहे हैं।

मुंबई, डेस्क रिपोर्ट। Hanuman chalisa controversy मामले में राणा दंपति की मुश्किल बढ़ गई है। दरअसल अदालत ने उन्हें 14 दिन की हिरासत (judicial custody) में भेज दिया। इसके साथ ही साथ उन पर राजद्रोह के भी आरोप लगाए गए हैं। यह मामला हनुमान चालीसा की जाप को लेकर उठा है। जिसमें सीएम उद्धव ठाकरे (CM Uddhav thackeray) के मातोश्री में हनुमान चालीसा का पाठ करने को लेकर बयान दिया था। जिस पर विवाद खड़ा हो गया था।

अमरावती के सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को रविवार को मुंबई में 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। नवनीत राणा – रवि राणा दंपति को शनिवार को मुख्यमंत्री को चेतावनी देने के बाद जनता को उकसाने के आरोप में गिरफ्तार (arrest) किया गया था कि वे बांद्रा, मातोश्री में उनके घर के बाहर ‘हनुमान चालीसा’ का जाप करेंगे।

वही नवनीत राणा और उनके पति की जमानत अर्जी पर 29 अप्रैल को सुनवाई होगी। बांद्रा कोर्ट ने मुंबई पुलिस को 27 अप्रैल को जमानत याचिका पर अपना पक्ष रखने को कहा है। वही मामला हाईकोर्ट तक जा सकता है। माना जा रहा है कि नवनीत राणा को भायखला जेल भेजा जा सकता है जबकि रवि राणा को Shift किया जा सकता है।

शनिवार को दंपति ने आरोप लगाया कि शिवसेना कार्यकर्ताओं के उनके भवन के नीचे विरोध प्रदर्शन और मुंबई पुलिस की भारी तैनाती के कारण उन्हें अपना आवास नहीं छोड़ने दिया गया। बाद में दंपति ने रविवार को पीएम मोदी के मुंबई दौरे का जिक्र करते हुए पीछे हटने का फैसला किया। अपनी गिरफ्तारी से ठीक पहले मीडिया से बात करते हुए, सांसद नवनीत राणा ने कहा कि उनका उद्देश्य पूरा हो गया था, भले ही दंपति मातोश्री (ठाकरे के मुंबई बंगले) में ‘हनुमान चालीसा’ का पाठ करने के लिए नहीं जा सके, लेकिन भक्तों द्वारा इसका जाप किया गया।

नवनीत राणा ने कहा कि शिवसेना गुंडों की पार्टी बन गई है। उद्धव ठाकरे सिर्फ यह जानते हैं कि लोगों पर अपराध का आरोप कैसे लगाया जाता है और उन्हें जेल में डाल दिया जाता है। नवनीत राणा ने दावा किया कि उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र में बंगाल जैसी स्थिति पैदा कर रहे हैं।

Read More : MP : राज्य शासन का बड़ा फैसला, इस योजना में हुए बड़े बदलाव, हितग्राहियों को मिलेगा लाभ

उनकी टिप्पणी का जवाब देते हुए शिवसेना नेता और सांसद संजय राउत ने कहा कि कुछ फर्जी हिंदुत्ववादी (सांसद नवनीत राणा और विधायक रवि राणा) ‘हनुमान चालीसा’ का पाठ करके मुंबई के ‘मातोश्री’ (सीएम हाउस) में माहौल को अस्थिर करने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अमरावती के बंटी और बबली ने हलचल मचाने की कोशिश की।

संजय राउत ने कहा कि अब भाजपा राणा के जोड़े के कंधों पर बंदूक रख रही है। नवनीत राणा और रवि राणा महाराष्ट्र के दुश्मन हैं और इसके पीछे पूर्व सीएम देवेंद्र फडणवीस का हाथ है। जोड़े का जिक्र किए बिना संजय राउत ने चेतावनी दी कि शिवसेना और मातोश्री के साथ खिलवाड़ न करें वरना उन्हें 20 फीट गहरा दफना दिया जाएगा। उन्होंने खुले तौर पर चुनौती देते हुए कहा “मैं कैमरों के सामने यह कह रहा हूं, शिवसेना का परीक्षण न करें।”

राणा दंपति पर भारतीय दंड संहिता 153 ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, निवास, भाषा, आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना और सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिकूल कार्य करना), भारतीय दंड संहिता 34 (सामान्य इरादा) और महाराष्ट्र पुलिस अधिनियम की धारा 135 (पुलिस के निषेधाज्ञा का उल्लंघन) के तहत मामला दर्ज किया गया है।