Paytm यूजर्स के लिए अलर्ट होने का समय, देर की तो हो सकते हैं ठगी का शिकार

इस ऐप के जरिए किसी भी दुकानदार को बेवकूफ बनाकर मुफ्त में सामान लेना बहुत आसान है।

टेक्नोलॉजी, डेस्क रिपोर्ट। पेटीएम (Paytm) इन दिनों अधिकांश लोगों की आदत सी बन गई है। कहीं भी पेमेंट (payment) करना हो तो एक क्लिक पर पेमेंट हो जाता है। अब तो छुट्टे की चकल्लस भी खत्म हो चुकी है। एटीएम से पैसे निकालने का इंतजार भी इस ऐप ने खत्म कर ही दिया है। लेकिन एक नई झंझट जरूर शुरू कर दी है। ये नई मुसीबत उन लोगों के लिए है, जो पेटीएम से पैसे रिसीव भी करते हैं।

इन लोगों को पेटीएम स्पूफ ऐप से चूना लगाना बहुत आसान हो गया है। इस ऐप के जरिए लोग बिना पैसे दिए शो कर देते हैं कि पेमेंट कर चुके हैं और लोगों को बेवकूफ बना देते हैं। ट्विटर पर एक वीडियो वायरल होने के बाद इस पेटीएण स्पूफ का खुलासा हुआ है। जिसमें बताया गया है कि ये स्पूफ ऐप कैसे काम करता है। इस ऐप के जरिए किसी भी दुकानदार को बेवकूफ बनाकर मुफ्त में सामान लेना बहुत आसान है।

Read More : Suspended: कार्य में लापरवाही पर कलेक्टर का बड़ा एक्शन, 3 पटवारी तत्काल प्रभाव से निलंबित

कैसा दिखता है ऐप?

ये ऐप हूबहू पेटीएम जैसा ही एनिमेशन तैयार करता है। जिस तरह पेटीएम पर पेमेंट होने के बाद स्क्रीन पर दिखाई देता है, सेंडर की स्क्रीन ठीक वैसी ही नजर आती है। जिसमें पेमेंट सक्सेफुल होने का मैसेज आता है। कितना अमाउंट सेंड किया गया है वो भी लिखा आता है। आईडी की डिटेल भी नजर आती है। कहा जा सकता है कि इस ऐप में पेटीएम की स्क्रीन को पूरी तरह कॉपी कर लिया गया है।

कैसे काम करता है स्पूफ ऐप?

इस ऐप को यूज करने का तरीका बहुत ही सिंपल रखा गया है। जिसे पैसे ट्रांसफर करना है। उसका नाम इस ऐप में लिखना है. जो अमाउंट अदा करना होता है वो दर्ज करना है। डेट और टाइम लिखने के लिए भी जगह दी गई है। सारी जानकारियां लिखने के बाद सब्मिट का ऑप्शन चुनना है। इतनी जानकारी फीड करते ही पूरा एनिमेश बन कर तैयार हो जाता है। जिसे लोग दुकानदार को दिखा कर उन्हें आसानी से बेवकूफ बना सकते हैं। दूसरे ग्राहकों में उलझा दुकानदार यूजर का मोबाइल देखकर ही मान लेता है कि पेमेंट हो गया। जबकि पैसे अकाउंट में पहुंचते ही नहीं है।

ऐसे फ्रॉड से कैसे बचें?

ऐसे फ्रॉड से बचने के लिए रिसिवर का या दुकानदार का अलर्ट रहना बहुत जरूरी है। या तो दुकानदार वो साउंड बॉक्स लगवाएं जिस पर पेमेंट रिसिव होने का मैसेज आता है। अगर वो बॉक्स नहीं लगवाते तो जरूरी है कि दुकानदार वक्त निकालकर पेमेंट होने के बाद ही अपना अकाउंट भी चैक करे। ताकि, ग्राहक के दुकान छोड़ने से पहले ही वो ये पक्का कर सके कि पैसे उसके पास आ चुके हैं। पेमेंट कंफर्म होने के बाद ही ग्राहक को दुकान छोड़कर जाने दें।