IMD Alert : 3 चक्रवाती सिस्टम सक्रिय, अरब सागर से मौसम प्रणाली में बदलाव, उत्तराखंड-UP सहित 17 राज्यों में भारी बारिश का ऑरेंज-रेड अलर्ट, जानें पूर्वानुमान

इसके अलावा, एक कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश और उसके पड़ोस के मध्य भागों में स्थित है।

IMD Alert

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  मौसम विभाग (weather department) ने एक बार फिर से उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश सहित 17 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया। वहीं लोगों को सावधान रहने की सलाह दी गई है। बता दें कि IMD Alert ने इन राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट (red alert) घोषित किया गया उसमें उत्तराखंड के उत्तर प्रदेश राजस्थान मध्य प्रदेश और गुजरात शामिल है। वही अगले 24 घंटे के पूर्वी और मध्य उत्तर प्रदेश के अलावा मध्यप्रदेश के कुछ उतरी कोकन और गोवा सहित दक्षिणी गुजरात में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा पश्चिम बंगाल बिहार के कुछ हिस्से सही झारखंड से असम मेघालय उत्तराखंड राजस्थान में कहीं-कहीं मध्यम से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके लिए येलो ऑरेंज अलर्ट घोषित किए गए हैं।

वही सितंबर के आधे महीने भी जाने के बाद जल्दी मानसून की वापसी देखने को मिल सकती है। मौसम विभाग ने कई राज्य में फिर तेज बारिश की चेतावनी जारी कर दी है। 17 सितंबर तक उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में भारी बारिश का रेड अलर्ट घोषित कर दिया गया। इसके अलावा पूर्वी राज्यों में भी गरज के साथ बिजली गिरने और भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

हालांकि मौसम पटा ली के बदलते गतिविधि की वजह से दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत में कम बारिश की गतिविधि देखने को मिलेगी। वहीं मध्यप्रदेश मुंबई पालघर में बारिश का ऑरेंज अलर्ट घोषित कर दिया गया।

नई दिल्ली में मध्यम बारिश

उत्तर प्रदेश में बन रही मौसम प्रणाली की गतिविधि नई दिल्ली में देखने को मिलेगी। नई दिल्ली में आज हल्की से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की जा सकती है। गुजरात की भी कई जिलों में तेज बारिश की संभावना जताई गई है। नई दिल्ली में न्यूनतम तापमान 23 डिग्री से अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस की आशंका है। वहीं तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी।

यूपी में भारी बारिश का रेड ऑरेंज अलर्ट

मौसम प्रणाली बदलने का असर उत्तर प्रदेश में देखने को मिलेगा। दरअसल उत्तर प्रदेश के 55 शहरों में 17 सितंबर तक भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया। पिछले 24 घंटे से हो रही लगातार बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। कई जगहों पर सड़कों पर पानी के बहाव से आवागमन बाधित हुए हैं। भारी बारिश के चलते तापमान में छह से सात फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। ठंडी हवाएं चलने से मौसम में ठंडक घुली है। लगातार हो रही बारिश से दीवार ढहने के कारण लखनऊ में अब तक 10 लोगों की मौत हो चुकी है।

Read More : Vishwakarma Puja 2022: विश्वकर्मा पूजा कल, बन रहे हैं 4 खास संयोग, यहाँ जानें शुभ मुहूर्त और पूजा की विधि

जिनमें भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। उसमें लखनऊ के अलावा कानपुर सीतापुर सुल्तानपुर प्रयागराज गाजियाबाद मेरठ आगरा बरेली मुरादाबाद उन्नाव बांदा चित्रकूट कन्नौज फतेहपुर शामिल है। इसके अलावा महाराजगंज गोरखपुर कुशीनगर मऊ बलिया में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

बिहार झारखंड में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने बिहार झारखंड में भी भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। बिहार में अगले 5 दिनों तक वर्षा में तेजी आने की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग केंद्र की पूर्वानुमान माने तो राज्य में गुरुवार से अच्छी बारिश देखने को मिल रही है। शुक्रवार को बारिश में तेजी के आसार नजर आ रहे हैं। उत्तरा नक्षत्र में मौसम अनुकूल बना अगले 4 दिनों तक बिहार झारखंड में बारिश का दौर जारी रहेगा।

मौसम विभाग की मानें तो मध्य क्षेत्र में कम दबाव का क्षेत्र निर्मित हुआ है। बिहार की तरफ से शुक्रवार तक बढ़ने की संभावना जताई गई है। जिसके बाद प्रदेश में और अधिक बारिश देखने को मिलेगी। साथ ही मानसूनी रेखा बिहार से होते हुए गुजर रही है। जिसके कारण कई क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल रही है। राजधानी में गुरुवार को 6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा 24 घंटे में 96 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई है। पूर्णिया में सबसे अधिक बारिश देखने को मिल रही है।

बिहार के 14 जिलों में आज भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। जिसमें में पूर्णिया के अलावा सुपौल अररिया नवादा राजगीर बिहार शरीफ नालंदा इस्लामपुर सिवान पटना में अच्छी बारिश रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा उत्तरी पश्चिम क्षेत्र उत्तर मध्य बिहार, उत्तर पूर्व बिहार और दक्षिण पश्चिम बिहार में भी भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके लिए मौसम विभाग ने 16 से 18 सितंबर तक इन क्षेत्रों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

झारखंड के कई जिलों में आज यहां भारी बारिश का अलर्ट जारी किया। वहीं कुछ जिलों में लगातार हो रही बारिश से लोगों को राहत मिलेगी। धूप खिलने से मौसम सुहावना बना रहेगा। हालांकि मानसूनी क्षेत्र और निम्न दबाव का असर झारखंड में देखने को मिलेगा। मौसम विभाग ने रांची मौसम केंद्र के हवाले से कहा है कि झारखंड में अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने की संभावना के साथ मध्य में बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। साथ ही तापमान में दो से तीन फीसद की गिरावट देखी जाएगी। मौसम वैज्ञानिकों के मुताबिक रांची जमशेदपुर और मध्य सहित उत्तरी झारखंड के अन्य जगह पर आंशिक बादल छाए रहेंगे और मध्यम बारिश देखने को मिल सकती है।

हालांकि एक ऊपरी Cyclonic Circulation 18 सितंबर को एक्टिव हो सकता है। उड़ीसा और पश्चिम बंगाल स्टेट के ऊपर एक्टिव होने वाले साइक्लोनिक सरकुलेशन के कारण एक बार फिर से झारखंड में बारिश की गतिविधि बढ़ने की संभावना जताई गई है।

बंगाल ओडिशा में हल्की बौछारें

मौसम विभाग ने बंगाल उड़ीसा में हल्की बौछारें पड़ने की संभावना जताई। हालांकि 18 सितंबर से एक बार फिर से मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। बंगाल और उड़ीसा के तौर पर एक निम्न दबाव का क्षेत्र तैयार हो रहा है। जिसके कारण एक बार फिर से बारिश की गतिविधि में सुधारने की संभावना बन रही है। वहीं 20 सितंबर तक इन क्षेत्रों में बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा।

मौसम प्रणाली

  • एक पश्चिमी विक्षोभ मध्य-क्षोभमंडलीय पश्चिमी हवाओं में एक ट्रफ के रूप में अक्षांश के उत्तर में 27 डिग्री एन लगभग 75°E के साथ चलता है। जो अरब सागर से मुंबई महाराष्ट्र, गोवा, बंगाल, झारखंड बिहार, पूर्वी राज्यों से गुजरता हुआ यूपी उत्तराखंड हिमाचल मध्य क्षेत्र से होते राजस्थान गुजरात तक पहुँच रहा है।
  • इसके अलावा, एक कम दबाव का क्षेत्र उत्तर प्रदेश और उसके पड़ोस के मध्य भागों में स्थित है।
  • मध्य अक्षांश के पश्चिमी हवाओं में ट्रफ के साथ इसकी संभावित बातचीत के कारण, सिस्टम के अगले 24 घंटों के दौरान धीरे-धीरे उत्तर पूर्व की ओर पूर्वी उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ने की उम्मीद है।
  • इन प्रणालियों के प्रभाव में, अगले दो दिनों तक उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में भारी से बहुत भारी वर्षा, गरज और बिजली गिरने की संभावना है। 17 सितंबर को 18 राज्यों में अलग-अलग जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश के साथ बेहद भारी बारिश की भी संभावना है।
  • अगले 24 घंटों के लिए उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम और गुजरात क्षेत्र में अलग-अलग भारी बारिश का अनुमान है; अगले 48 घंटों के लिए महाराष्ट्र और कोंकण-गोवा में और 18 और 19 सितंबर को ओडिशा में बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।
  • इसके अलावा 18 सितंबर को एक निर्णय दबाव का क्षेत्र उड़ीसा पश्चिम बंगाल के ट्रैक पर निर्मित हो रहा है। इसके लो प्रेशर में बदलने की संभावना जताई जा रही है। यदि निम्न दबाव का क्षेत्र लो प्रेशर में परिवर्तित होता है तो एक बार फिर से इन क्षेत्रों में बारिश का अलर्ट घोषित किया जाएगा।

पूर्वी राज्यों में भारी बारिश का रेड अलर्ट

अरब सागर से बंगाल की खाड़ी होते हुए पूर्वी राज्य से गुजर कर एक रेखा मध्य क्षेत्र की तरह पहुंच रही है। जिसके कारण राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। इसके साथ ही महाराष्ट्र मुंबई सहित बिहार झारखंड उत्तर प्रदेश उत्तराखंड हिमाचल प्रदेश सहित मध्य प्रदेश गुजरात राजस्थान आदि में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है। इसके साथ ही पूर्वी क्षेत्रों में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया। असम मेघालय मणिपुर नागालैंड अरुणाचल प्रदेश में गरज चमक के साथ भारी बारिश की संभावना जताई गई है। 3 दिनों तक होने वाले इस बारिश से लोगों को सचेत रहने की सलाह दी गई है। वहीं भूस्खलन आदि से लोगों को सावधान किया गया है।

MP-CG में भारी बारिश

मध्य प्रदेश के पूर्वी क्षेत्र में जोरदार बारिश देखने को मिलेगी। ग्वालियर में आज तेज बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। मौसम विभाग ने भारी बारिश को देखते हुए ग्वालियर चंबल अंचल में अलर्ट जारी कर दिया है। इसके साथ ही लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है।

इसके अलावा छत्तीसगढ़ के भी कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट घोषित किया गया है। लोगों को सावधान रहने की चेतावनी दी गई है। छत्तीसगढ़ में तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। वहीं 12 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट घोषित किया गया है।

उत्तराखंड हिमाचल में भारी बारिश

मौसम प्रणाली के बदलाव की वजह से उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट घोषित किया गया है। उत्तराखंड के पवित्र धाम गंगोत्री और यमुनोत्री में एक बार फिर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंच रहे हैं। 9 से 10000 साल पूजा करने पहुंच रहे। इसी बीच भारी बारिश से लोगों को चेतावनी जारी की गई है। साथ ही लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। उत्तराखंड में आज से लेकर 5 दिन तक लगातार भारी बारिश का रेड ऑरेंज अलर्ट घोषित कर दिया गया है। प्रशासन को मुस्तैद रहने के अलर्ट दिए गए हैं।

राजस्थान में भारी बारिश

राजस्थान के कई इलाकों में भारी बारिश देखने को मिल सकती है। शाहाबाद में भारी बारिश से जनजीवन अस्त व्यस्त हुआ है। मौसम विभाग ने पिछले 24 घंटे के दौरान उदयपुर कोटा संभाग में भारी बारिश रिकॉर्ड की है। वहीं राजस्थान के 8 जिलों में बारिश का येलो अलर्ट घोषित कर दिया गया है।

महाराष्ट्र गोवा में भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट

महाराष्ट्र मुंबई गोवा पुणे में आज भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। इसके लिए येलो अलर्ट घोषित किया गया है। मुंबई सहित महाराष्ट्र के कई अन्य जिले और पालघर में भारी बारिश को लेकर चेतावनी जारी की गई है। मौसम प्रणाली के बदलते स्वरूप की वजह से इन क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल रही है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए इन क्षेत्रों में अगले 48 घंटे तक लोगों को सावधान रहने की सलाह दी है।

केरल कर्नाटक में बारिश से राहत

दक्षिणी क्षेत्र में लोगों को बारिश से राहत मिलेगी। दरअसल केरल कर्नाटक सहित तमिलनाडु में बारिश की गतिविधियों पर विराम लगेगा। 22 सितंबर के बाद एक बार फिर से इन क्षेत्रों में भारी बारिश देखने को मिल सकती है। इससे पहले मौसम विभाग में तापमान में एक से दो फीसद की वृद्धि की संभावना जताई है।