IMD Alert : 12 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट, सक्रिय होगा चक्रवात, पर्वतों पर बर्फबारी से बदला मौसम, 5 में गुलाबी ठंड-कोहरे की दस्तक, जानें पूर्वानुमान

मौसम विभाग ने राजधानी में बारिश की संभावना से इनकार किया है। हालांकि तापमान में गिरावट जारी रहेगी।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के मौसम में तेजी (weather update) से बदलाव नजर आ रहा है। दरअसल लगातार गिर रहे तापमान (temperature)  से ठंडक बढ़ गई है। IMD Alert ने 27 अक्टूबर तक 8 राज्य में गुलाबी ठंड की दस्तक का पूर्वानुमान जताया है। साथ ही कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी भी जारी की गई है। दरअसल बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव का क्षेत्र निर्मित हुआ है।

जिसके चक्रवात में बदलने की संभावना जताई जा रही है। ऐसा होने की स्थिति में आंध्र प्रदेश पश्चिम बंगाल उड़ीसा सहित बिहार और झारखंड के मौसम में भारी बदलाव देखने को मिलेगा। चक्रवात सीतरंग का असर 7 राज्य में देखने को मिलेगा इसके अलावा दक्षिणी राज्य में बारिश का सिलसिला जारी रहेगा।

राजधानी दिल्ली में आसमान में बादल छाए रहेंगे। सुबह और शाम के तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। इसके साथ ही ओस गिरने का सिलसिला भी शुरू हो गया है। पर्वतों पर हो रही बर्फबारी के कारण ठंडी हवाएं राजधानी दिल्ली सहित मध्य भारत की तरफ बढ़ रही है। जिसके कारण मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ राजस्थान और गुजरात में तापमान में गिरावट का दौर शुरू हो गया है।

राजधानी में बारिश की संभावना से इनकार

मौसम विभाग ने राजधानी में बारिश की संभावना से इनकार किया है। हालांकि तापमान में गिरावट जारी रहेगी। राजधानी के AQI में लगातार गिरावट देखी जा रही है। मौसम विभाग ने 28 अक्टूबर से इन क्षेत्रों में गुलाबी ठंड की दस्तक का पूर्वानुमान जताया है।

Read More : धार : बहुचर्चित सेंट टेरेसा ट्रस्ट जमीन मामला, चालान पेश, अब जल्द होगा फ़ैसला

उत्तर प्रदेश में मौसम साफ 

उत्तर प्रदेश में मौसम साफ रहेगा। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए तेज हवा चलने के आसार व्यक्त किए। हालांकि बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। दरअसल पश्चिमी मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है जबकि उत्तर प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में मौसम साफ रहेगा। आसमान में बादल का आवागमन जारी रहेगा। सुबह और शाम के तापमान में गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी जबकि कोहरे का सिलसिला भी शुरू हो चुका है।

बिहार के कई क्षेत्रों में भारी बारिश का पूर्वानुमान

बिहार के कई क्षेत्रों में भारी बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है। मौसम विभाग ने कई क्षेत्रों में लोगों को भारी बारिश से सचेत रहने की सलाह दी है। इसके अलावा बंगाल की खाड़ी में बन रहे चक्रवाती तूफ़ान सी तरंग का असर बिहार के कई जगहों पर देखने को मिलेगा। बिहार के पूर्वी क्षेत्र में भारी बारिश की संभावना जताई गई है। मौसम विभाग ने कोहरे में वृद्धि के संकेत दिए हैं। इसके अलावा गुलाबी ठंड की दस्तक देखने को मिल रही है। 27 अगस्त के बाद मौसम में तेजी से बदलाव नजर आएंगे।

मौसम प्रणाली

  • सोमवार तक पूरे देश से दक्षिण-पश्चिम मानसून के और पीछे हटने के लिए स्थितियां अनुकूल हैं।
  • इस बीच, पूर्व-मध्य और उससे सटे दक्षिण-पूर्वी बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक गहरा दबाव सोमवार, 24 अक्टूबर तक बंगाल की मध्य खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती तूफान में बदलने की संभावना है।
  • संभावित चक्रवात तिनकोना द्वीप और सैंडविप के बीच पूर्वी बांग्लादेश तट को पार करेगा।
  • 25 अक्टूबर की सुबह के आसपास। इसके परिणामस्वरूप रविवार से बुधवार तक पूर्वी भारत के तटों (कुल 200 मिमी) और पूर्वोत्तर भारत (कुल 300 मिमी) में भारी बारिश होगी।
  • जहां तक ​​पारा के स्तर का सवाल है, आने वाले सप्ताह में धीरे-धीरे बढ़ते हुए अधिकतम तापमान भारत में सामान्य के करीब या थोड़ा ऊपर रहेगा।
  • भारत में न्यूनतम तापमान सामान्य के करीब या सामान्य से थोड़ा अधिक रहेगा, दक्षिण प्रायद्वीप भारत को छोड़कर, रात के समय सामान्य से कम रहेगा।

झारखंड पश्चिम बंगाल में भारी बारिश की

झारखंड पश्चिम बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है। दीपावली के दिन झारखंड के कई हिस्सों में बूंदाबांदी के आसार जताए गए हैं। इसके अलावा बंगाल में भी मौसम भयानक बना रहेगा। तीव्र हवाएं चलेंगी। चक्रवात का अधिक असर बंगाल और झारखंड के कुछ हिस्से पर देखा जा सकता है। इसके अलावा रांची लोहरदगा सहित अन्य जगहों पर अलर्ट जारी कर दिया गया है। 25 अगस्त से कोहरे में वृद्धि के संकेत मिले हैं। इसके अलावा गुलाबी ठंड की दस्तक शुरू हो गई है। समय से पहले ठंड की दस्तक से इस बार ठंड के अधिक पड़ने की संभावना जताई जा रही।

उड़ीसा आंध्र प्रदेश में भारी चक्रवाती तूफान को लेकर अलर्ट 

उड़ीसा आंध्र प्रदेश में भारी चक्रवाती तूफान को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने इन क्षेत्रों के लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी है। इसके अलावा प्रशासन को मुस्तैद कर दिया गया है। दरअसल कई क्षेत्रों में मौसम में बदलाव के संकेत मिलने लगे हैं। चक्रवात के रूप में डिप्रेशन के बदलने की संभावना तीव्र हो गई है। मौसम विभाग की मानें तो 2 दिन में इसका भयानक आंध्रप्रदेश और उड़ीसा के कुछ हिस्सों पर देखा जाएगा। इसके साथ ही झारखंड उड़ीसा बिहार आंध्र प्रदेश और बंगाल में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

लेह लद्दाख के पर्वतों पर बर्फबारी

हिमाचल प्रदेश उत्तराखंड सहित जम्मू कश्मीर लेह लद्दाख के पर्वतों पर बर्फबारी का सिलसिला जारी है। इसके अलावा बर्फबारी और बूंदाबांदी से मौसम में ठंडक घुल रही है। इन क्षेत्रों में बर्फ पड़ने के कारण देश में ठंड की दस्तक जल्दी देखने को मिलेगी।

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में मौसम में बदलाव 

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ में मौसम में बदलाव दिखेगा। दरअसल बंगाल की खाड़ी की तरफ बढ़ रहे। चक्रवात के बांग्लादेश की तरफ होने की संभावना जताई गई है। इसी बीच इधर से चल रही नम हवाओं का असर देखने को मिलेगा। मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के तापमान में भारी गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। इसके अलावा आसमान में बादल छाए रहेंगे।

दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश 

दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश का कहर जारी रहेगा। केरल कर्नाटक तमिलनाडु महाराष्ट्र सहित आंध्र प्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। लोगों को सतर्क और सजग रहने की सलाह दी गई है। इसके अलावा इन क्षेत्रों के तापमान में भारी गिरावट रिकॉर्ड की जाएगी। हालांकि चक्रवात का इन क्षेत्रों पर भयानक असर होने की संभावना से इनकार किया गया है।

पूर्व राज्य में बूंदाबादी का असर 

असम मेघालय मणिपुर नागालैंड सहित अन्य पूर्व राज्य में बूंदाबादी का असर जारी रहेगा। तापमान में गिरावट का सिलसिला जारी है। कोहरे की दस्तक शुरू हो गई है। गुलाबी ठंड के दशक के बाद मौसम में तेजी से बदलाव नजर आ रहे हैं। तापमान में 5 से 7 फीसद की भारी गिरावट रिकॉर्ड की गई है।

इन क्षेत्रों में भारी बारिश

मिजोरम, त्रिपुरा और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में भारी बारिश की संभावना है।अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा और केरल और माहे में गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है। असम और मेघालय, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल और लक्षद्वीप में गरज के साथ व्यापक बारिश हो सकती है।

गरज के साथ छिटपुट बारिश अरुणाचल प्रदेश और तटीय कर्नाटक को प्रभावित करेगी।गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और यनम, रायलसीमा और आंतरिक कर्नाटक में गरज के साथ छिटपुट बारिश होने की संभावना है। पूरे भारत में हवा की गुणवत्ता खराब होने की संभावना है