IMD Alert : 13 राज्यों में 14 अप्रैल तक बारिश का ऑरेंज अलर्ट, उत्तर-मध्य के 8 राज्य में हीटवेव की चेतावनी

केरल वर्तमान में भारत के एकमात्र राज्यों में से एक है जहां कर्नाटक के कुछ हिस्सों के साथ-साथ प्री-मॉनसून वर्षा की गतिविधियां देखी जा रही हैं।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। आईएमडी (IMD Alert) ने उत्तर और मध्य भारत में लोगों को सचेत रहने की सलाह दी है। दरअसल अप्रैल और मई महीने में जैसे गर्मी (Summer) पड़ने की वजह से जनजीवन अस्तव्यस्त बना हुआ है। लोगों को दोपहर में घर से नहीं निकलने की चला दी जा रही है। वहीं अभी गर्मी (heatwave) से राहत की संभावना नहीं है। IMD Alert की मानें तो कई राज्यों में हीटवेव और गर्मी को देखते हुए अलर्ट जारी कर दिया गया है वहीं लोगों को लापरवाही न बरतने की सलाह दी गई है। इसी बीच दक्षिणी राज्यों में मौसम सुहावना बना हुआ है केरल महाराष्ट्र कर्नाटक तमिलनाडु और पूर्वी राज्यों में बारिश का दौर (rain alert) जारी है।

दरअसल राजधानी दिल्ली सहित पूर्वी राजस्थान, दक्षिण हरियाणा में भी लू की चेतावनी जारी की गई है। इसके साथ ही लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। उन्होंने कहा है कि मध्य प्रदेश, हिमाचल, विदर्भ में तापमान में दो से तीन फीसद की बढ़ोतरी होगी। UP, बिहार और झारखंड में हीटवेव का अलर्ट जारी किया गया है।

राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान 20 डिग्री जबकि अधिकतम 42 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। वहीं राजधानी भोपाल की बात करें तो न्यूनतम तापमान 20 डिग्री जबकि MP के अन्य क्षेत्र अधिकतम तापमान 45 डिग्री सेल्सियस तक जा सकते हैं। श्रीनगर में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री सेल्सियस जबकि अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है।

शिमला में न्यूनतम तापमान जहां 18 डिग्री सेल्सियस व अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस तक रहने की आशंका है। देहरादून में न्यूनतम तापमान 18 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 38 डिग्री सेल्सियस तक ले सकते हैं। वही लेह-लद्दाख की बात करें तो तापमान में वृद्धि देखी गई है। दरअसल न्यूनतम तापमान जहां 4 डिग्री सेल्सियस व अधिकतम तापमान 17 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना है।

Read More : 58 हजार से अधिक पेंशनर्स को लगेगा बड़ा झटका, रुक सकती है पेंशन की राशि, ये है बड़ा कारण

राजधानी पटना में जहां न्यूनतम तापमान 25 डिग्री व अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है जबकि झारखंड के रांची में भी न्यूनतम तापमान 22 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस तक रह सकते हैं। आईएमडी ने प्रदेश के कई अलग-अलग हिस्सों में ऐसा पानी वृद्धि की आशंका जाहिर की है। दरअसल आईएमडी ने ग्वालियर, छिंदवाड़ा, टीकमगढ़, उज्जैन, जबलपुर, रीवा, शहडोल जैसे शहरों में लू का अलर्ट जारी कर दिया।

वहीं मध्य प्रदेश के लोगों को सतर्क और सावधान रहने की सलाह दी गई है। राजस्थान के बगैर सहित अन्य जगहों पर फीडबैक का अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को दिन में घर से ना निकलने की सलाह दी गई है। हरियाणा, उत्तराखंड, गुरुग्राम में भी अधिकतम तापमान वृद्धि देखी जा रही है अधिकतम तापमान जहां 41 डिग्री सेल्सियस व न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस तक रहेगी। मौसम साफ रहेगा। कड़ी धूप खिली रहेगी।

पूर्वी राज्यों में असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम में हल्की और मध्यम बारिश की गतिविधियां देखने को मिलेगी। बूंदाबादी से जनजीवन में सामान्यता बनी हुई है। वहीं ठंडी हवा से लोगों को राहत मिलती दिख रही है। महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, तमिलनाडु में भी बारिश का हाई एलर्ट जारी किया गया। दरअसल बारिश के कारण जनजीवन अस्त-व्यस्त बना हुआ है। प्री मानसून वर्षा की गतिविधि केरल-कर्नाटक के कुछ हिस्सों में देखी जा रही है। इसके साथ ही साथ महाराष्ट्र में भी अब बारिश की चेतावनी जारी कर दी गई है।

Read More : MP : लापरवाही पर बड़ा एक्शन, 4 ग्राम पंचायत सचिव सहित 9 अधिकारी तत्काल प्रभाव से निलंबित

मार्च के महीने के दौरान, केरल 45 प्रतिशत अधिशेष था और 1 मार्च से 6 अप्रैल तक, राज्य 32 प्रतिशत अधिशेष था, जिससे यह वर्तमान में भारत में सबसे अधिक अधिशेष राज्य बन गया। केरल राज्य में पिछले काफी समय से बारिश हो रही है। दरअसल, पिछले 24 घंटों के दौरान केरल के कई हिस्सों में मध्यम से भारी बारिश हुई। इसके अलावा, केरल वर्तमान में भारत के एकमात्र राज्यों में से एक है जहां कर्नाटक के कुछ हिस्सों के साथ-साथ प्री-मॉनसून वर्षा की गतिविधियां देखी जा रही हैं।

गुरुवार सुबह 8:30 बजे से पिछले 24 घंटों में कोच्चि में 73 मिमी, कोट्टायम में 60 मिमी, पुनालुर में 39 मिमी, अलाप्पुझा में 37 मिमी बारिश दर्ज की गई। केरल के अन्य हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हुई। इन गतिविधियों के जारी रहने की उम्मीद है क्योंकि कई हिस्सों में विशेष रूप से राज्यों के दक्षिणी हिस्सों में भारी बारिश होने की संभावना है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने 10 अप्रैल तक मध्य महाराष्ट्र और कोंकण में अलग-अलग स्थानों पर हल्की बारिश, गरज और बिजली गिरने का अनुमान लगाया है, गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। पुणे में अगले सप्ताह भी अधिकतम तापमान 40-41 डिग्री सेल्सियस (सामान्य से 2-3 डिग्री अधिक) के आसपास रहने की संभावना है। आईएमडी ने 9 अप्रैल को शहर के लिए केवल आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान लगाया था।

ऑरेंज अलर्ट पर असम, मेघालय

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, बंगाल की खाड़ी और उत्तरपूर्वी राज्यों में तेज और नम दक्षिण-पश्चिमी हवाएँ चल रही हैं। अगले पांच दिनों में, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, अरुणाचल प्रदेश, असम और मेघालय में बिजली और गरज के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है। वहीं, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में छिटपुट से छिटपुट बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने की संभावना है।

कश्यपी ने कहा कि 8 अप्रैल से 14 अप्रैल तक कोंकण, गोवा और उत्तर-पश्चिम मध्य महाराष्ट्र में सामान्य से अधिक तापमान रहने की संभावना है। IMD ने कहा 15 से 21 अप्रैल तक, उत्तर-मध्य कोंकण गोवा और विदर्भ के चरम पूर्व में दिन का तापमान सामान्य से अधिक रहने की संभावना है।