IMD Alert : मानसून सहित कई सिस्टम एक्टिव, 17 राज्यों में 28 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी, जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

इधर राजधानी दिल्ली में भी लगातार मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। दरअसल शनिवार तक राजधानी में बूंदाबांदी का दौर जारी रहेगा।

IMD Alert

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। मानसून (Monsoon) के साथ देश में कई चक्रवाती सिस्टम एक्टिव (Cyclonic System Active) होने का असर देश के सभी राज्यों पर दिख रहा है। IMD के मुताबिक जून में वर्षा(Rain alert)  में 8% की कमी के बाद, जुलाई में अब तक 10% अधिक बारिश दर्ज की गई है। बंगाल झारखंड और बिहार में भी बारिश का दौर शुरू हो गया है। इसके अलावा 26 जुलाई तक उड़ीसा में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के ओडिशा क्षेत्रीय कार्यालय द्वारा 26 जुलाई तक राज्य के विभिन्न जिलों में भारी से बहुत भारी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है। मौसम विभाग ने आज यानी 23 जुलाई को कालाहांडी, कंधमाल, बौध और सोनपू जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है।

IMD ने शुक्रवार को कहा कि झारखंड और उसके आस-पास बना हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र अब उत्तरी ओडिशा के ऊपर है। ओडिशा के विशेष आयुक्त ने ऑरेंज और येलो अलर्ट पर जिलों को पहाड़ी इलाकों में जलजमाव या भूस्खलन की किसी भी घटना के लिए तैयार रहने को कहा है। जिला प्रशासन को सलाह दी गई है कि वह निचले इलाकों की निगरानी करते रहें।

इधर राजधानी दिल्ली में भी लगातार मौसम में बदलाव देखने को मिल रहा है। दरअसल शनिवार तक राजधानी में बूंदाबांदी का दौर जारी रहेगा। गरज चमक के साथ हल्की बौछार पड़ने से मौसम सुहावना बना हुआ है। वहीं तापमान में तीन से चार फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान 28 डिग्री व अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है।

Read More :  कर्मचारियों के वेतन वृद्धि पर आई नई अपडेट, जानें कब मिलेगा नए वेतनमान का लाभ, सुप्रीम कोर्ट का हाई कोर्ट को निर्देश

इसके अलावा हरियाणा में भी हल्की बूंदाबांदी देखने को मिलेगी। न्यूनतम तापमान 27 डिग्री व अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। पंजाब की बात करें तो पंजाब में भी बौछार पड़ने का सिलसिला जारी रहेगा। 3 सिस्टम एक्टिव होने के कारण पंजाब के कई जिलों में बारिश देखने को मिल सकती है। न्यूनतम तापमान 26 डिग्री व अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है।

आईएमडी के अनुसार, अधिकांश जुलाई के लिए ट्रफ अपने विशिष्ट स्थान के दक्षिण में बनी रही। जिससे पूरे मध्य भारत में महत्वपूर्ण बारिश और बाढ़ आई। पश्चिम बंगाल, उत्तर प्रदेश, बिहार झारखंड सहित आईजीपी के साथ राज्यों में 40% से अधिक कम वर्षा हुई। इधर तेलंगाना में 111%, मराठवाड़ा में 73.0%, सौराष्ट्र और कच्छ में 79.0% और विदर्भ में 48.0% अधिक बारिश हुई है। पूरे देश में सामान्य से 10% अधिक बारिश हो रही है। वहीँ शुक्रवार तक, गंगीय पश्चिम बंगाल के क्षेत्रों, झारखंड के 51 प्रतिशत, बिहार के 45 प्रतिशत, पूर्वी उत्तर प्रदेश के 61 प्रतिशत और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के 52 प्रतिशत क्षेत्रों में 50% वर्षा की कमी है।

राजस्थान में भारी बारिश का दौर जारी रहेगा न्यूनतम तापमान 26 डिग्री अधिकतम तापमान 28 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई गई है। 30 जुलाई तक राजस्थान में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। जबकि गुजरात में भी मौसम सुहावना बना रहेगा गुजरात में बारिश का अलर्ट जारी किया गया। इसके साथ ही आईएमडी ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि शुक्रवार तक गुजरात में मौसम सुहावना बना रहेगा। 28 जुलाई के बाद मौसम में हल्के बदलाव देखने को मिलेंगे।

छत्तीसगढ़ में 5 मौसमी सिस्टम एक्टिव होने से कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। राज्य के कुछ जिलों में मौसम सुहावना बना रहेगा हल्की बौछारें देखने को मिल सकती है। इसके अलावा मध्यप्रदेश के भी 12 से अधिक जिलों में बूंदाबादी का अलर्ट जारी किया गया है।

पहाड़ी राज्यों की बात करें तो जम्मू कश्मीर -लेह लद्दाख में मौसम सुहावना बना रहेगा तापमान में 2 फीसद की गिरावट रिकॉर्ड की गई है। इसके अलावा हिमाचल और उत्तराखंड में भी हल्की बौछार देखने को मिल सकती है। हालांकि भारी बारिश से मौसम विभाग ने इनकार किया है।

वहीं उत्तर प्रदेश के कुछ जिलों में आज बौछार पड़ने से मौसम में नमी घुलेगी। इसके अलावा उत्तर प्रदेश के 10 जिलों में आज बौछार पड़ने का अलर्ट जारी किया गया। वही असम मेघालय मणिपुर नागालैंड त्रिपुरा में भी आज भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।

मौसम विभाग की माने तो केरल कर्नाटक तमिलनाडु सहित गोवा और महाराष्ट्र में भी मौसम सुहावना बना रहेगा। इन राज्यों के कई जिलों में आज बारिश का ऑरेंज और येलो अलर्ट जारी किया गया। वहीं मौसम विभाग ने लोगों को सावधान रहने की चेतावनी दी है। तेज हवाएं चलने के साथ घर चमक और बिजली गिरने की संभावना भी जताई गई है।