IMD Alert : 19 राज्यों में जारी रहेगा मानसून का असर, 20 अगस्त तक भारी बारिश का रेड-ऑरेंज अलर्ट जारी, 6 चक्रवाती सिस्टम एक्टिव

राजधानी दिल्ली सहित हरियाणा, पंजाब, हिमाचल-उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में भी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

uP WEATHER

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट।  भारत के कई राज्यों में भारी बारिश (Rain alert) का दौर जारी रहेगा। एक तरफ जहां मानसून (monsoon) अपने एक्टिव मोड में नजर आ रहा। वहीं दूसरी तरफ बंगाल की खाड़ी (bay of bengal) के ऊपरी हिस्से पर एक कम दबाव का क्षेत्र निर्मित हो गया है। जिसके कारण IMD Alert ने पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, उड़ीसा में तेज हवा चलने और बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मध्य महाराष्ट्र और विदर्भ में 14 अगस्त, पूर्वी मध्य प्रदेश में 15 अगस्त और कोंकण और गोवा में 14 और 15 अगस्त को भारी बारिश (Heavy Rain)की संभावना है।

मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार अगले 36 घंटे के दौरान एक कम दबाव के रूप में उप महाद्वीपीय के पश्चिम उत्तर पश्चिम की ओर इसके बढ़ने की संभावना जताई गई है। जिसके अगले 3 दिनों में मध्य भाग में भारी बारिश का रेड अलर्ट जारी किया गया है। 17 अगस्त तक उत्तर पश्चिम भारत सहित भारत के मध्य भाग में भारी बारिश की उम्मीद जताई गई है। इसके अलावा पश्चिम दक्षिण पश्चिम और उत्तर पूर्व में 17 का क्षेत्र निर्मित हुआ है।

साथ ही एक डिप्रेशन लाइन जम्मू कश्मीर की तरफ से आगे बढ़ रही है। शाम तक उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है। ऐसी स्थिति में 12 घंटे के दौरान पर्वतीय राज्य सहित उत्तर राज्यों में भी बारिश का दौर देखने को मिलेगा। 14 और 16 अगस्त को पश्चिमी मध्य प्रदेश में भी इसी तरह के मौसम की संभावना है। इस बीच, पूर्वी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में 14 अगस्त को और मध्य महाराष्ट्र और पश्चिमी मध्य प्रदेश में 15 अगस्त को भारी बारिश की संभावना है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने देश के मध्य और पश्चिमी हिस्सों में बारिश की भविष्यवाणी की है।

Read More : MP : केंद्र सरकार की मंजूरी के बाद विभाग की बड़ी तैयारी, इन जिलों को राशि आवंटित, मिलेगा आर्थिक लाभ

राजधानी दिल्ली सहित हरियाणा, पंजाब, हिमाचल-उत्तराखंड और जम्मू-कश्मीर में भी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। वही उत्तर प्रदेश के कई जिलों में आज भारी बारिश की संभावना जताई गई है। इसके लिए येलो अलर्ट जारी किया गया है। 15 से 17 के दौरान पूर्वी मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में अलग-अलग भारी गिरावट और गरज के साथ बिजली के साथ भारी वर्षा, 14-16 के दौरान कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र और पश्चिम मध्य प्रदेश, 15 के दौरान गुजरात क्षेत्र, 17 को विदर्भ, 15 तारीख को सौराष्ट्र और कच्छ में बाहरी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने पूरे मध्यप्रदेश के अलावा छत्तीसगढ़, झारखंड, यूपी, हिमालयी पश्चिम बंगाल सहित नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा और दक्षिणी राज्यों में कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र में भी बारिश का अलर्ट जारी किया है। एक निम्न दबाव का क्षेत्र जो 13 अगस्त को बंगाल की उत्तरी खाड़ी के ऊपर बना था, अगले कुछ घंटों में एक डिप्रेशन में तेज होने और भारतीय उपमहाद्वीप में पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की उम्मीद है। अगले तीन दिनों में मध्य भारत में और उत्तर पश्चिम भारत में 16 अगस्त तक सक्रिय मानसून की स्थिति की उम्मीद है।

मौसम विभाग की जानकारी के मुताबिक बंगाल की खाड़ी से 2 सिस्टम एक्टिव है। जिसके एक पश्चिम की तरफ बढ़ने की जबकि दूसरे के उत्तर के तरफ बढ़ने की संभावना बढ़ी हुई है। वहीं दूसरी तरफ गुजरात के ऊपर एक अवसाद का क्षेत्र निर्मित हुआ है जबकि जम्मू कश्मीर से एक डिप्रेशन लाइन दक्षिण तरफ की तरफ आगे बढ़ रही है। मानसून के दक्षिण में स्थित होने की वजह से लगातार दक्षिण और पश्चिम राज्य सहित मध्य भारत में बारिश का व्यापक असर देखने को मिल रहा है। इसके अलावा अरब से एक डिप्रेशन लाइन तैयार हो रही है। जिसके जल्द उत्तर भारत की तरफ बढ़ने की संभावना जताई गई है।