IMD Alert : 10 राज्यों में 5 अक्टूबर तक भारी बारिश का अलर्ट, 1 अक्टूबर से तीन मौसम प्रणाली होगी सक्रिय, डिप्रेशन का दिखेगा असर, जानें पूर्वानुमान

मौसम विभाग की मानें तो केरल समेत कई राज्यों में आज बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। देश के कई राज्य में बारिश का दौर (Heavy rain)  जारी है। दरअसल मानसून (Monsoon) की विदाई महीने के पहले सप्ताह में देखने को मिल सकती है। इसके साथ ही से पूर्व मानसून का असर उत्तर पूर्व में देखने को मिल रहा है। IMD Alert ने मानसून सामान्य रहने की उम्मीद जताई गई थी। जिस कारण से उत्तर पूर्व के कई राज्य में बारिश की कमी देखी गई थी। अब मौसम विभाग की मानें तो केरल समेत कई राज्यों में आज बारिश का पूर्वानुमान जताया गया है।

उत्तर पूर्वी राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक केरल कर्नाटक सहित पश्चिम बंगाल उड़ीसा आंध्रप्रदेश झारखंड बिहार सहित असम मेघालय मणिपुर नागालैंड में भारी बारिश का ऑरेंज येलो अलर्ट जारी किया गया। साथ ही गरज चमक की चेतावनी भी जारी की गई है।

राजधानी दिल्ली में आज न्यूनतम तापमान 23 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 35 डिग्री सेल्सियस होने की उम्मीद जताई गई। हालांकि आसमान में बादल छाए रहेंगे। फिर भी तापमान में 3 फीसद की बढ़ोतरी रिकॉर्ड की जाएगी। ठंडी हवा चलने से शाम का मौसम सुहावना रहेगा। हल्की बूंदाबांदी की किसी भी संभावना से इनकार किया गया है।

उत्तर प्रदेश में भी आसमान में बादल छाए रहेंगे

मौसम विभाग की माने तो उत्तर प्रदेश में भी आसमान में बादल छाए रहेंगे लेकिन बारिश की संभावना से इनकार किया गया। हालांकि पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ इलाकों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। जबकि लखनऊ सहित आसपास के क्षेत्रों में लोगों को धूप से राहत मिलेगी। काले बादल छाए रहेंगे। गाजियाबाद में न्यूनतम तापमान 24 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस तक रहने की संभावना जताई गई है। वहीं राजधानी लखनऊ में तापमान में 2 फीसद की वृद्धि रिकॉर्ड की जाएगी।

Read More : Government Job 2022 : यहाँ 250 पदों पर निकली है भर्ती, जानें आयु-पात्रता, 04 नवम्बर से पहले करें आवेदन

बिहार के कई जिलों में बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने राज्य के कई जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है। प्रदेश में बारिश होने की संभावना जताई गई है। दिन भर आसमान में बादल छाए रहेंगे। तेज हवा चलने के कारण मौसम सुहावना बना रहेगा। 3 दिनों तक लगातार हो रही बारिश के बीच 28 सितंबर से 5 अक्टूबर तक भागलपुर के अलावा पूर्वी बिहार में बादल छाने और बारिश की संभावना जताई गई है। 5 से 8 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चल सकती है। न्यूनतम तापमान 24 जबकि अधिकतम तापमान 33 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया जा सकता है।

झारखंड में लगातार बारिश

झारखंड में लगातार बारिश का दौर देखने को मिलेगा दरअसल 1 सप्ताह तक राज्य में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया। उत्तर पूर्व और उसके आसपास के बंगाल की खाड़ी में 1 अक्टूबर को साइक्लोनिक सरकुलेशन तैयार होने वाला है। जिसके डिप्रेशन में बदलने के साथ ही झारखंड में बारिश की शुरुआत होगी। अभी तक के संकेत के मुताबिक दुर्गा पूजा में भी बारिश की संभावना जताई गई है। रांची मौसम विज्ञान केंद्र की माने तो झारखंड में 7 अक्टूबर तक बारिश का दौर जारी रहेगा। 24 घंटे में कई स्थानों पर भारी बारिश के साथ वज्रपात देखने को मिली है।

दोपहर के बाद लगातार बारिश से जनजीवन सामान्य बना हुआ है। बंगाल की खाड़ी से आ रही नमी और वातावरण के कारण इन क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल रही है। संथाल परगना के अलावा रांची लोहरदगा सहित कई जिले में काले बादल छाने के अलावा वज्रपात से लोगों को सावधान और सतर्क किया गया है। मौसम विभाग ने 28 सितंबर से 2 अक्टूबर के बीच प्रदेश के 30 स्थानों पर मध्यम दर्जे की बारिश की संभावना जताई गई है। इसके अलावा 2 से 3 अक्टूबर के भी संथाल परगना और आसपास के क्षेत्रों में भी मिलकर जन के साथ वज्रपात और भारी बारिश की संभावना जताई गई है।

पंजाब हरियाणा में बढ़ेगा तापमान

वहीं पंजाब और हरियाणा की बात करें तो इन क्षेत्रों में एक बार फिर से तापमान में वृद्धि देखने को मिलेगी। हालांकि इस वृद्धि का ज्यादा असर नहीं रहेगा। ठंडी हवा चलने से मौसम सामान्य रहेगा। रात में तापमान में 5 फीसद की गिरावट से ठंड का एहसास होगा। वही न्यूनतम तापमान 23 डिग्री जबकि अधिकतम तापमान 32 डिग्री सेल्सियस रहने के आसार जताए गए हैं। हालांकि आज आसमान में बादल छाए रहेंगे जबकि कल से मौसम साफ बना रहेगा।

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के कुछ क्षेत्रों में बारिश 

मध्य प्रदेश छत्तीसगढ़ के कुछ क्षेत्रों में बारिश देखने को मिल सकती है। हालांकि भारी बारिश की संभावना से इनकार किया गया है। मौसम विभाग की माने तू लौटे मानसून के हाल के असर इन क्षेत्रों में देखने को मिलेंगे। फिलहाल कोई सिस्टम एक्टिव नहीं होने की वजह से इन क्षेत्रों में बारिश की गतिविधि पर लगाम लगेगी। कुछ इलाकों में बूंदाबांदी देखने को मिल सकती है। राज्य के ऊपर से गुजर रहे ट्रफ रेखा का असर मध्य प्रदेश के पूर्वी क्षेत्रों पर पड़ेगा।

तापमान में वृद्धि

राजस्थान गुजरात में भी एक बार फिर से तापमान में वृद्धि देखने को मिलेगी। दरअसल राजस्थान से मानसून की विदाई हो चुकी है। वहीं किसी भी तरह की मौसम प्रणाली के एक्टिव ना होने से तापमान में दो से तीन फीसद की वृद्धि का अलर्ट जारी किया गया है। हालांकि आसमान में बादल छाए रहेंगे। ठंडी हवा चलने से मौसम सुहावना बना रहेगा।

उत्तराखंड और हिमाचल मौसम 

उत्तराखंड और हिमाचल में मौसम विभाग ने 1 से 5 अक्टूबर तक पूरी तरह से मौसम साफ रहने का पूर्वानुमान जताया है। हालांकि 30 सितंबर के बाद सभी जिलों में मौसम शुष्क बना रहेगा। अक्टूबर महीने में मानसून के साथ ही बारिश की विदाई की भी संभावना जताई गई है।

महाराष्ट्र केरल कर्नाटक सहित दक्षिणी राज्य में बूंदाबादी का अलर्ट

मौसम विभाग ने महाराष्ट्र के कई क्षेत्रों सहित केरल कर्नाटक तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में बारिश का अलर्ट जारी किया है। 6 अक्टूबर तक क्षेत्रों में बूंदाबांदी की संभावना जाहिर की गई है। इसके साथ ही वज्रपात और गरज चमक का भी अलर्ट जारी किया गया है।

दरअसल प्रशांत महासागर की तरफ से हवा की गतिविधि दक्षिणी क्षेत्रों से होते हुए पूर्वी राज्य और पूर्वी उत्तर राजू को प्रभावित कर रही है। जिसके कारण केरल कर्नाटक तमिलनाडु के प्रभावित होने की संभावना जताई गई है।

पूर्वी राज्यों में भारी बारिश भूस्खलन का अलर्ट

असम मेघालय मणिपुर नागालैंड मिजोरम अरुणाचल प्रदेश से राज्य में भारी बारिश का येलो ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। लोगों को सतर्क रहने की सलाह दी गई है। भूस्खलन आदि से भी लोगों को सचेत किया गया है। दरअसल इन क्षेत्रों में दो मौसम प्रणाली एक्टिव होने की वजह से भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। वहीं तीव्र हवा के साथ और बिजली गिरने की संभावना भी मौसम विभाग ने जताई है।

मौसम प्रणाली

  • दक्षिण पश्चिम मानसून की वापसी की रेखा खाजूवाला, बीकानेर, जोधपुर और नलिया से होकर गुजर रही है,
  • अगले 2-3 दिनों के दौरान उत्तर पश्चिम भारत के कुछ और हिस्सों और मध्य भारत के कुछ हिस्सों से आगे वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल हो जाती हैं।
  • इस बीच, एक चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी पर बना हुआ है।

इसके प्रभाव के तहत, 28 से 30 सितंबर तक तटीय आंध्र प्रदेश, यनम और तेलंगाना में और 28 सितंबर को रायलसीमा, तमिलनाडु, पुडुचेरी और कराईकल में गरज और बिजली के साथ छिटपुट भारी बारिश के साथ काफी व्यापक हल्की या मध्यम वर्षा होने की संभावना है। .

ओडिशा में भारी बारिश की चेतावनी

ओडिशा में अगले 48 घंटों में तेज बारिश होने की संभावना है, विशेष रूप से बालासोर, भद्रक, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, कटक, जगतसिंहपुर, पुरी, खुर्दा, नयागढ़, गंजम, गजपति, मलकानगिरी, कोरापुट में वर्षा की गतिविधि केंद्रित होने की उम्मीद है। रायगडा, कंधमाल, कालाहांडी, सुंदरगढ़, क्योंझर और मयूरभंज जिले में भारी बारिश देखने को मिलेगी।

इन क्षेत्र में बारिश

तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, अरुणाचल प्रदेश, असम, मेघालय और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में व्यापक बारिश और गरज के साथ बौछारें पड़ने की संभावना है। पूर्वी राज्यों की बात करें तो सिक्किम, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम, त्रिपुरा, पश्चिम बंगाल, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, महाराष्ट्र और तमिलनाडु में छिटपुट बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ने का अनुमान है। साथ ही पर्वतीय और उत्तर पूर्वी राज्यों में मौसम ठंडा रहेगा, लद्दाख, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, केरल और लक्षद्वीप में छिटपुट बारिश और गरज के साथ भारी बारिश की संभावना है।